TMC का कुनबा और हुआ मजबूत, तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए कीर्ति आजाद, अशोक तंवर और पवन वर्मा

देश
रवि वैश्य
Updated Nov 23, 2021 | 18:23 IST

देश की सबसे बड़ी और पुरानी पार्टी कांग्रेस को एक बड़ा झटका लगा है, राहुल गांधी के करीबी और पूर्व सांसद अशोक तंवर और क्रिकेटर से राजनेता बने संयुक्त बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री भागवत झा आजाद के बेटे कीर्ति आजाद भी टीएमसी में शामिल हो गए हैं।

TMC_kirti azad_ashok tanwar
कीर्ति आजाद, अशोक तंवर और पवन वर्मा TMC में हुए शामिल 

नयी दिल्ली: कांग्रेस नेता कीर्ति आजाद , पार्टी की हरियाणा इकाई के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर तथा जनता दल (यूनाइटेड) के पूर्व महासचिव पवन वर्मा मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात के बाद इन तीनों नेताओं ने पार्टी का दामन थाम लिया गौर हो कि ममता बनर्जी अभी दिल्ली आई हुई हैं।

वह दिल्ली आने पर हमेशा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करती हैं। हालांकि तृणमूल कांग्रेस के सूत्रों ने संकेत दिया कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री इस बार शायद सोनिया गांधी से ना मिलें।

कीर्ति आजाद 1983 की क्रिकेट विश्व कप विजेता टीम के सदस्य थे

दिसंबर 2015 में दिल्ली और जिला क्रिकेट संघ में कथित अनियमितताओं तथा भ्रष्टाचार को लेकर तत्कालीन केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को खुले तौर पर निशाना बनाने के लिए उन्हें भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से निलंबित कर दिया गया था। वह 2018 में कांग्रेस में शामिल हो गए थे।आजाद , बिहार की दरभंगा संसदीय सीट से तीन बार लोकसभा के लिए चुने गए। 2014 में उन्होंने भाजपा के टिकट पर आम चुनाव लड़ा था।

हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रहे हैं अशोक तंवर 

हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर ने 2019 के हरियाणा विधानसभा चुनाव से पहले टिकट वितरण में पैसे के लेनदेन का आरोप लगाया था जिसके बाद उन्हें कांग्रेस से अलग होना पड़ा था। कांग्रेस छोड़ने के बाद इस साल फरवरी में उन्होंने अपनी पार्टी 'अपना भारत मोर्चा' बनाई।

वह हरियाणा की सिरसा लोकसभा सीट से सांसद भी रह चुके हैं और किसी समय राहुल गांधी के करीबी माने जाते थे। सूत्रों का कहना है कि तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने के बाद तंवर को हरियाणा में पार्टी के नेतृत्व की जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है। 

पवन के वर्मा पूर्व भारतीय विदेश सेवा अधिकारी हैं

जद (यू) के पूर्व महासचिव पवन वर्मा भी तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए हैं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पूर्व सलाहकार तथा राज्यसभा के पूर्व सदस्य वर्मा को 2020 में राज्य में सत्तारूढ़ जद (यू) से निष्कासित कर दिया गया था। पवन के वर्मा पूर्व भारतीय विदेश सेवा अधिकारी हैं और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कैबिनेट रैंक के साथ सलाहकार थे। वह जून 2014 से जुलाई 2016 तक संसद सदस्य (राज्य सभा) थे। वह जेडीयू के राष्ट्रीय महासचिव और राष्ट्रीय प्रवक्ता थे।

उन्होंने कहा कि विपक्ष को मजबूत करने के लिए काम करना समय की मांग है। राजनीतिक परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए विपक्ष को मजबूत करना जरूरी है। वर्तमान राजनीतिक परिस्थितियों और ममता बनर्जी में क्षमता को देखते हुए मैं आज तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुआ हूं। ट्विटर पर घोषणा करते हुए तृणमूल कांग्रेस ने कहा कि हम श्री पवन वर्मा का हमारे तृणमूल कांग्रेस परिवार में स्वागत करने के लिए उत्साहित हैं। उनका समृद्ध राजनीतिक अनुभव हमें भारत के लोगों की सेवा करने और इस देश को और भी बेहतर दिनों तक ले जाने में मदद करेगा! 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर