बिहार की राजनीति में मचेगी खलबली? क्या टूटेगी कांग्रेस या JDU में होगी सेंधमारी? दावों में कितनी गहराई

क्या बिहार की राजनीति में भूचाल आने वाला है? दरअसल, कई नेताओं द्वारा कई अलग-अलग दावे किए जा रहे हैं। बिहार में हाल ही में चुनाव हुए हैं और एनडीए की एक बार फिर सरकार बनी है।

bihar
बिहार की राजनीति 

नई दिल्ली: बिहार में हाल में हुए विधानसभा चुनाव में एनडीए को भले ही बहुमत मिला हो, लेकिन सियासी भूचाल की खबरें वहां से लगातार आ रही हैं। महागठबंधन की ओर से लगातार दावे किए जा रहे हैं कि जल्द ही उनकी सरकार बनेगी। बाद में कांग्रेस से ही खबर आई कि उसके 11 विधायक पार्टी छोड़ सकते हैं। और अब कांग्रेस नेता कीर्ति आजाद का दावा है कि JDU के 15 से अधिक विधायक यूपीए के संपर्क में हैं।

बिहार कांग्रेस के नेता और पूर्व विधायक भरत सिंह ने दावा किया है कि 11 विधायक पार्टी छोड़ सकते हैं। सिंह के अनुसार, 19 विधायकों में से 11 मूल रूप से कांग्रेस पार्टी के नहीं हैं। उन्होंने कहा कि इन लोगों ने सिर्फ पैसे दिए और टिकट खरीदे और अब विधायक बन गए हैं। पूर्व विधायक ने आगे दावा किया कि राज्यसभा सदस्य अखिलेश प्रसाद सिंह भी पार्टी छोड़ सकते हैं।

कई सीनियर नेता छोड़ेंगे कांग्रेस: सिंह

सिंह ने कहा, 'कांग्रेस की राज्य इकाई के अध्यक्ष मदन मोहन झा, राज्यसभा सदस्य अखिलेश प्रसाद सिंह और वरिष्ठ कांग्रेस नेता सदानंद सिंह भी बाहर निकल सकते हैं। मैं हमेशा आरजेडी के साथ कांग्रेस गठबंधन के खिलाफ रहा हूं। गठबंधन पार्टी के लिए आत्म-विनाशकारी साबित हो सकता है। कांग्रेस पार्टी हाईकमान को हमेशा बिहार में पार्टी की स्थिति की गलत तस्वीर दी गई है।' उन्होंने आगे कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा, कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य अखिलेश प्रसाद सिंह और पार्टी के वरिष्ठ नेता सदानंद सिंह पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप लगाया।

आजाद ने किया JDU में टूट का दावा

वहीं बिहार के दरभंगा से पूर्व सांसद और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कीर्ति आजाद ने इन दावों को खारिज किया और कहा कि जदयू के 15 से अधिक विधायक यूपीए नेताओं के संपर्क में हैं। उन्होंने कहा कि जेडीयू जल्द ही टूट जाएगी और बिहार में यूपीए की सरकार बनेगी। यूपीए में कांग्रेस, राजद और वाम दल शामिल हैं।

दरभंगा में अपने आवास पर एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कीर्ति आजाद ने कहा कि जेडीयू विधायक जो यूपीए के संपर्क में हैं, उन्होंने प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से यूपीए नेताओं से बात की है और वे जल्द ही जेडी (यू) छोड़ देंगे। आजाद ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भी कटाक्ष किया और कहा कि वह भाजपा के उत्पीड़न से तंग आ चुके हैं और यही कारण है कि उन्होंने पिछले कुछ हफ्तों में कई बार सीएम पद छोड़ने की बात कही है।

'BJP से डरे हुए हैं नीतीश कुमार'

आजाद ने कहा कि सीएम नीतीश कुमार बीजेपी से डरे हुए हैं और इसीलिए वह भगवा पार्टी से नाता तोड़ने को तैयार नहीं हैं, लेकिन जेडीयू के विधायकों को पता है कि बिहार में जल्द ही एनडीए की सरकार गिर जाएगी और वे एनडीए से नाता तोड़कर यूपीए में शामिल होना चाहते हैं। पूर्व सांसद ने कहा कि भाजपा बिहार में जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रही है कि फर्जी कहानियां रचकर कांग्रेस बिहार में सेंध लगाने जा रही है।

Bihar Vidhan Sabha Chunav के सभी अपडेट Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर