'ना आंख झुका कर बात करेंगे, ना आंख उठाकर, हम आंख मिला कर बात करेंगे', जानिए सिंधिया के ट्वीट के मायने

देश
किशोर जोशी
Updated Jul 25, 2021 | 13:17 IST

केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया का एक ट्वीट इन दिनों खूब सुर्खियों में है। इस ट्वीट में सिंधिया ने आंख मिलाकर बात करने की बात कही है।

jyotiraditya Scindia's tweet, will talk with eye to eye contact
सिंधिया बोले- ना आंख उठाकर बात करेंगे, ना आंख उठाकर, हम.... 

मुख्य बातें

  • ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किया ट्वीट, सियासी गलियारों में कयासबाजी
  • सिंधिया ने वर्चुअल माध्यम से बीजेपी कार्यकर्ताओं को किया संबोधित

भोपाल: केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शनिवार को दिल्ली से वर्चुअल माध्यम से भोपाल में ई- चिंतन शिविर में उपस्थित बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कार्यकर्ताओं को सरकार की उपलब्धियों के बारे में विस्तार से बताया और कहा कि वो इन्हें आम जनता तक पहुंचाएं। इसके बाद कार्यक्रम की तस्वीरों को ट्वीट करते हुए सिंधिया ने बताया कि उन्होंने जिला ई- चिंतन सत्र में विदेश नीति तथा सरकार की उपलब्धियों के बारे में बताया। सिंधिया इस दौरान जो ट्वीट किया उसमें आंख मिलाकर बात करने की बात कही।

क्या कहा ट्वीट में
ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट करते हुए कहा, 'ना आंख झुका कर बात करेंगे, ना आंख उठाकर बात करेंगे, हम आंख मिला कर बात करेंगे। मध्य प्रदेश भाजपा केंद्रीय प्रशिक्षण विभाग जिला ई- चिंतन सत्र में आज हमारी विदेश नीति और उसकी उपलब्धियों पर उद्बोधन दिया।' सिंधिया के इस ट्वीट की सियासी गलियारों में खूब चर्चा हो रही है और लोग अपने-अपने तरीके से इस ट्वीट की व्याख्या कर रहे हैं।

क्या है मतलब
दरअसल सिंधिया बीजेपी के उन कार्यकर्ताओं को विदेश नीति के बारे में बता रहे थे जो वर्चुअल माध्यम से उनके साथ जुड़े थे। इस दौरान उन्होंने बताया कि सरकार ने किस तरह विदेशों में अपनी छवि बनाई हुई है। उन्होंने कहा कि सरकार पर पहले की तरह नहीं बल्कि यह आंख में आंख डालकर जवाब देती है। भाजपा विधायक ने सिंधिया के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए कहा, 'आदरणीय श्री सिंधिया जी बहुत ही शानदार मार्गदर्शन आपने कांग्रेस पार्टी की 70 वर्षों पुरानी विदेश नीति को तार तार कर सही और सटीक विश्लेषण किया बधाई आभार आपका।'

बीजेपी आयोजित कर रही है ई-चिंतन शिविर

 आपको बता दें कि केंद्र सरकार मंहगाई और किसानों के मुद्दे को लेकर लगातार विपक्ष के निशाने पर है जिसका असर संसद के मॉनसून सत्र पर भी देखने को मिल रहा है। सरकार इन दिनों अपने कार्यकर्ताओं के जरिए लोगों तक विदेश नीति पहुंचा रही है और इसके लिए पार्टी सभी राज्यों में ई चिंतन शिविर का आयोजन कर रही है जिसे बीजेपी के बड़े या दिग्गज नेता संबोधित कर रहे हैं।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर