Encounter in Anantnag: अनंतनाग मुठभेड़ में 3 आतंकी ढेर, ट्रक ड्राइवर के परिजनों ने मांगा शहादत का दर्जा

देश
Updated Oct 16, 2019 | 08:43 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Encounter in Anantnag J&K: जम्‍मू एवं कश्‍मीर के शोपियां में आत‍ंकियों की गोली का शिकार हुए ट्रक ड्राइवर के परिजनों ने उसे शहीद का दर्जा देने और 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता की मांग की है।

Jammu and Kashmir encounter in Anantnag
अनंतनाग में आतंकियों के साथ सुरक्षा बलों की मुठभेड़ हुई है (फाइल फोटो)  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • जम्‍मू-कश्‍मीर के अनंतनाग में सुरक्षा बलों और आतंकियों की मुठभेड़ हुई है
  • आतंकियों ने एक दिन पहले शोपियां में एक ट्रक ड्राइवर की हत्‍या कर दी थी
  • ट्रक ड्राइवर सेब की लोडिंग के लिए कश्‍मीर में थे, जब उन पर हमला किया गया

श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर के शोपियां में एक ट्रक ड्राइवर की आतंक‍ियों द्वारा हत्‍या और सेब बगान के मालिक के साथ मारपीट के बाद अनंतनाग में आज (बुधवार, 16 अक्‍टूबर) सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई, जिसमें सुरक्षा बलों ने 3 आतंक‍ियों को मार गिराया। शोपियां में ट्रक ड्राइवर की हत्‍या का आरोप दो आतंक‍ियों पर लगा है, जिनमें से एक पाकिस्‍तानी बताया जा रहा है। आतंकियों ने जहां ट्रक ड्राइवर की गोली मारकर हत्या कर दी, वहीं बगान मालिक से भी मारपीट की।

शोपियां में पाकिस्‍तानी आतंकी की मौजूदगी की रिपोर्ट के बीच अब अनंतनाग में मुठभेड़ हुई है, जिसमें 3 आतंकी मारे गए हैं। सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया है। इस दौरान एक जवान के भी घायल होने की सूचना है। इस बीच ट्रक ड्राइवर के परिजनों ने उसका शव लेने से इनकार कर दिया है, जिसकी आतंक‍ियों ने मंगलवार को गोली मारकर हत्‍या कर दी थी। वे उसे शहीद का दर्जा देने और परिवार के किसी सदस्‍य को नौकरी देने की मांग कर रहे हैं। साथ ही उन्‍होंने 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता भी मांगी है।

ट्रक ड्राइवर की पहचान राजस्‍थान निवासी शरीफ खान के तौर पर की गई है। वह सेब की लोडिंग के लिए शोपियां के शीरमाल गांव में थे, जब आतंकियों ने उन पर हमला कर दिया। पुलिस का कहना है कि फलों से भरे ट्रकों की आवाजाही शुरू होने से हताश होकर आतंकियों ने यह कदम उठाया। उन्‍होंने बगान मालिक और बीच-बचाव करने पहुंचे ग्रामीणों से भी मारपीट की।

यह घटनान ऐसे समय में हुई है, जबकि सोमवार को ही सरकार ने जम्‍मू-कश्‍मीर में पोस्‍टपेड मोबाइल सेवा बहाल की, जो पिछले 72 दिनों से बंद थी। सरकार ने 5 अगस्‍त को जम्‍मू कश्‍मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्‍छेद 370 के अहम प्रावधानों को निरस्‍त करने से पहले और उसके बाद यहां एहतियात के तौर कई प्रतिबंध लगाए, जिनमें मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को भी प्रतिबंधित किया गया। इन प्रतिबंधों में चरणबद्ध तरीके से छूट दी जा रही है।

अगली खबर
Encounter in Anantnag: अनंतनाग मुठभेड़ में 3 आतंकी ढेर, ट्रक ड्राइवर के परिजनों ने मांगा शहादत का दर्जा Description: Encounter in Anantnag J&K: जम्‍मू एवं कश्‍मीर के शोपियां में आत‍ंकियों की गोली का शिकार हुए ट्रक ड्राइवर के परिजनों ने उसे शहीद का दर्जा देने और 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता की मांग की है।
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...