कश्मीर में हथियारों से महरूम हुए आतंकी, पाकिस्तान से नहीं मिल पा रही मदद,बौखलाकर कर रहे ये काम 

देश
रवि वैश्य
Updated Oct 11, 2019 | 22:13 IST

Kashmir Terrerist without Arms: कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से आतंकियों की कमर टूट गई है और उन्हें हथियार नहीं मिल रहे हैं क्योंकि राज्य में सुरक्षाबल बेहद मुस्तैद हैं। 

Lt Gen Ranbir Singh
आतंकियों के इस नए पैंतरे की जानकारी सेना की उत्तरी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने दी (फाइल फोटो) 

मुख्य बातें

  • कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाने के बाद से राज्य के हालात बदले हैं और आतंकियों की कमर टूटी है
  • आतंकियों के पास अब हथियारों की कमी हो रही है जिससे आतंकी बौखला रहे हैं
  • आतंकी अब पुलिस थानों से और कभी कभी सुरक्षा बलों से हथियार छीनने का काम कर रहे हैं

नई दिल्ली: भारत की जन्नत कहे जाने वाले कश्मीर के माहौल में जहर घोलने में भारत का पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान शुरुआत से ही लगा रहा है और वहां के हालात बिगाड़ने में और राज्य में आतंक को पोसने में वो लंबे समय से लगा हुआ है और राज्य के युवाओं को बरगलाकर भारत के खिलाफ खड़ा करता रहा है। मगर राज्य से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद से राज्य के हालात बदले हैं और आतंकियों की कमर टूटी है। 

बताया जा रहा है कि आतंकियों के पास अब हथियारों की कमी हो रही है जिससे आतंकी बौखला रहे हैं और वो अब पुलिस थानों से और कभी कभी सुरक्षा बलों से हथियार छीनने का काम कर रहे हैं आतंकियों के इस नए पैंतरे की जानकारी सेना की उत्तरी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने दी।

आतंकियों का मददगार पाकिस्तान भी इस स्थिति के चलते खासी बौखलाहट में है और घाटी में हथियार भेजने के नए-नए तरीके आजमा रहा है। वहीं लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने ये भी बताया कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (PoK) में नियंत्रण रेखा के समीप विभिन्न प्रशिक्षण शिविरों में 500 से अधिक आतंकवादी जम्मू कश्मीर में घुस जाने के अवसर की फिराक में बैठे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि 200 से 300 आतंकवादी पाकिस्तान के सहयोग से इस क्षेत्र को अशांत बनाये रखने के लिए जम्मू कश्मीर के अंदर सक्रिय हैं।

रणबीर सिंह ने कहा, 'जहां तक जम्मू कश्मीर में सक्रिय आतंकवादियों की बात है तो बाहर से आये 200-300 आतंकवादी अपने काम में लगे हुए हैं।' सिंह ने जम्मू कश्मीर में सक्रिय आतंकवादियों और देश में घुसपैठ करने के लिए पीओके में तैयार बैठे आतंकवादियों की संख्या के बारे में पूछे गये सवालों के जवाब में यह बात कही।

उन्होंने कहा, 'इसी तरह, करीब 500 पीओके में आतंकवादी प्रशिक्षण शिविरों में डेरा डाले हुए हैं और जम्मू कश्मीर में घुसपैठ करने के लिए तैयार बैठे हैं।' उन्होंने कहा कि आतंकवादियों के प्रशिक्षण कार्यक्रम के हिसाब से यह संख्या घटती बढ़ती रहती है। सिंह ने कहा, 'उनकी संख्या भले जो भी हो, हम उन्हें रोकने और उनका सफाया करने में सक्षम हैं ताकि इस क्षेत्र में शांति एवं सामान्य स्थिति बनी रहे।'

रणवीर सिंह से पाकिस्तान द्वारा पंजाब में ड्रोन के माध्यम से हथियार गिराने के मुद्दे पर सवाल किया गया तब उन्होंने कहा कि आतंकवादियों को हथियार से लैस रखने के लिए ड्रोनों की तैनाती पाकिस्तान का नया तरीका है। उन्होंने कहा, 'लेकिन मैं आपको सुनिश्चित करना चाहता हूं कि भारतीय सेना पाकिस्तान के किसी भी नापाक मंसूबे को विफल करने में सक्षम और कृतसंकल्प है। उनके मंसूबों को सफल नहीं होने दिया जाएगा।'  

 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर