PM मोदी को 'आकर्षित करती है' हिंदी, अमित शाह भी भाषा के मुरीद; ये वैश्विक नेता भी कर चुके हैं स्पीच में इस्तेमाल

देश
अभिषेक गुप्ता
अभिषेक गुप्ता | Principal Correspondent
Updated Sep 14, 2022 | 10:13 IST

हिंदी दिवस 2022/Hindi Diwas 2022 हर साल 14 सितंबर को मनाया जाता है। यह भाषा हमारी मातृभाषा भी मानी जाती है।

हिंदी, हिंदी दिवस 2022, hindi diwas, narendra modi, amit shah
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। 
मुख्य बातें
  • हिंदी है संविधान की आधिकारिक राजभाषा
  • वैसे, राष्ट्रभाषा के तौर पर नहीं मिली मान्यता
  • पहला हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 को मना

हिंदी दिवस 2022, Hindi Diwas 2022: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिंदी दिवस पर बताया है कि उन्हें यह भाषा आकर्षित करती है। उन्होंने बुधवार सुबह ट्वीट किया, "हिंदी ने विश्वभर में भारत को एक विशिष्ट सम्मान दिलाया है। इसकी सरलता, सहजता और संवेदनशीलता हमेशा आकर्षित करती है। हिन्दी दिवस पर मैं उन सभी लोगों का हृदय से अभिनंदन करता हूं, जिन्होंने इसे समृद्ध और सशक्त बनाने में अपना अथक योगदान दिया है।"

इस बीच, भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में उनके पुराने और उनके सबसे करीबी माने जाने वाले मौजूदा गृह मंत्री अमित शाह भी इस भाषा के बहुत हद तक मुरीद है। उन्होंने बुधवार को इस अवसर पर खास वीडियो संदेश जारी किया। देखिए, उन्होंने हिंदी और हिंदी दिवस को लेकर क्या कुछ कहा:

वैसे, हिंदी के झंडाबरदार सिर्फ पीएम मोदी और एचएम शाह भर नहीं हैं। दुनिया के कई बड़े नेता हैं, जो अपने भाषणों के दौरान हिंदी का इस्तेमाल कर चुके हैं। ऐसे नेताओं में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा और डोनाल्ड ट्रंप, ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री डेविड कैमरन, ऑस्ट्रेलिया के पूर्व पीएम स्कॉट मॉरिसन, इसराइल के पूर्व पीएम बेंजामिन नेतन्याहू और मालदीव के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद शामिल हैं।

Hindi Diwas 2022: जानिए क्यों मनाते हैं हिंदी दिवस, क्या है इतिहास और कब मिला था संवैधानिक दर्जा

दरअसल, हिंदी उन भाषाओं में गिनी जाती है, जो दुनिया में सबसे ज्यादा बोली और समझी जाती हैं। राष्ट्रपिता मोहनदास करमचंद गांधी (बाद में चलकर महात्मा कहलाए) ने कहा था कि हिंदी जनमानस की भाषा है। उन्होंने इसे देश की राष्ट्रभाषा बनाने की सिफारिश भी की थी। 

Hindi Diwas 2022: बराक ओबामा से लेकर डोनाल्ड ट्रंप समेत कई ग्लोबल लीडर्स को बोलनी पड़ी है हिंदी

हिंदी को 14 सितंबर 1949 को राजभाषा का दर्जा दिया गया, लिहाज़ा इस दिन को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है। संविधान सभा ने देवनागरी लिपि वाली हिंदी के साथ ही अंग्रेजी को भी आधिकारिक भाषा के रूप में स्वीकार किया, लेकिन 1949 में आज ही के दिन संविधान सभा ने हिंदी को ही भारत की राजभाषा घोषित किया। हालांकि, पहला हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 को मनाया गया। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर