BJP किसान मोर्चा की बैठक में खट्टर ने कही 'जैसे के लिए तैसा' वाली बात, कांग्रेस ने साधा निशाना

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में वह प्रदर्शनकारी किसानों के खिलाफ लाठी उठाने के लिये कह रहे हैं।

Haryana CM Manohar Khattar 's Talk Of Tit for Tat Treatment Draws Congress Barb
खट्टर ने कही 'जैसे के लिए तैसा' की बात, कांग्रेस बरसी 

मुख्य बातें

  • हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल
  • किसान मोर्चा की बैठक में खट्टर ने जैसे के लिए तैसा वाली बात कही
  • विपक्ष बोला- किसानों पर हमले के लिए उकसा रहे हैं खट्टर

चंडीगढ़: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने रविवार को यहां भाजपा किसान मोर्चा की एक बैठक के दौरान “जैसे के लिए तैसा” की बात कही, जब उन्होंने वहां मौजूद लोगों से 500 से 1000 लोगों का समूह बनाने और जेल जाने के लिये भी तैयार रहने को कहा। वहीं विपक्षी दलों का आरोप है कि वह भाजपा के समर्थकों से केंद्र के तीन कृषि कानूनों को विरोध कर रहे किसानों पर हमले के लिये कह रहे थे।

वायरल हुआ बयान

सोशल मीडिया पर खट्टर की टिप्पणी वाली एक वीडियो क्लिप तेजी से प्रसारित हो रही है और विपक्ष का आरोप है कि वह कथित तौर पर भारतीय जनता पार्टी के समर्थकों से प्रदर्शनकारी किसानों के खिलाफ लाठी उठाने के लिये कह रहे हैं। कार्यक्रम में संभवत: किसानों के जारी आंदोलन से पड़ने वाले प्रभाव के संदर्भ में खट्टर ने कहा कि दक्षिण हरियाणा में ज्यादा समस्या नहीं है और यह राज्य के उत्तरी और पश्चिमी जिलों तक सीमित है। उन्होंने कहा, '500,700,1000 लोगों का समूह बनाओ, उन्हें स्वयंसेवक बनाओ। और उसके बाद हर जगह ‘शठे शाठ्यं समाचरेत’। इसका क्या अर्थ है…इसका मतलब है जैसे को तैसा।' खट्टर ने कहा, 'चिंता मत करो…जब आप वहां (जेल में) एक महीने, तीन महीना या छह महीना रहोगे तो बड़े नेता बन जाओगे। इतिहास में नाम दर्ज होगा।'

कांग्रेस का निशाना

इस टिप्पणी को लेकर कांग्रेस ने हरियाणा के मुख्यमंत्री पर निशाना साधा है। कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने हिंदी में ट्वीट किया, 'भाजपा समर्थक लोगों को आंदोलनकारी किसानों पर लट्ठों से हमला करने, जेल जाने और वहां से नेता बनकर निकलने का आपका (खट्टर का) ये गुरूमंत्र कभी कामयाब नहीं होगा। संविधान की शपथ लेकर खुले कार्यक्रम में अराजकता फैलाने का ये आह्वान देशद्रोह है। मोदी -नड्डा जी की भी सहमति लगती है। अगर प्रदेश का मुख्यमंत्री ही हिंसा फैलाने, समाज को तोड़ने और क़ानून व्यवस्था को ख़त्म करने की बात करेंगे, तो प्रदेश में क़ानून और सविंधान का शासन चल ही नहीं सकता।' 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर