Covishield की दोनों खुराकों के बीच बढ़ा अंतर, दूसरी डोज के लिए पहले से बुक अपॉइंटमेंट का क्या होगा? जानें

देश
Updated May 16, 2021 | 21:03 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

कोविशील्ड टीके के खुराकों में 12-16 सप्ताह के अंतराल संबंधी परिवर्तन को दर्शाने के लिए कोविन पोर्टल को फिर से आकार दिया गया है। कोविशील्ड की दूसरी खुराक के लिए पहले से बुक किए गए ऑनलाइन अपॉइंटमेंट मान्य रहेंगे।

Covishield
कोविशील्ड वैक्सीन 

मुख्य बातें

  • कोविशील्ड टीके की पहली और दूसरी खुराक लेने के समय में अंतर बढ़ाकर 12-16 सप्ताह कर दिया गया है
  • को-विन पोर्टल में भी आवश्यक बदलाव किए गए हैं

नई दिल्ली: डॉ. एन. के. अरोड़ा की अध्यक्षता वाले कोविड कार्यसमूह ने कोविशील्ड टीके की पहली और दूसरी खुराक के बीच के अंतराल को 12-16 सप्ताह तक बढ़ाने की सिफारिश की थी। भारत सरकार ने 13 मई, 2021 को इस सिफारिश को स्वीकार कर लिया है। भारत सरकार ने राज्यों और केन्द्र-शासित प्रदेशों को इस बदलाव के बारे में बता दिया है। कोविशील्ड की दो खुराकों के बीच 12-16 सप्ताह के अंतराल संबंधी इस परिवर्तन को दर्शाने के लिए कोविन डिजिटल पोर्टल को भी फिर से आकार दिया गया है।

हालांकि इस बीच ऐसी खबरें आई हैं कि जिन लोगों ने कोविन पर 84 दिनों से कम समय में दूसरी खुराक के लिए अपने अपॉइंटमेंट की प्री-बुकिंग की थी, उन्हें कोविशील्ड की दूसरी खुराक दिए बिना ही टीकाकरण केंद्रों से वापस भेज दिया जा रहा है। सरकार ने स्पष्ट किया है कि कोविन डिजिटल पोर्टल में अब इस आशय के अपेक्षित परिवर्तन कर दिए गए हैं। इसकी वजह से पहली खुराक की तारीख से 84 दिनों से कम का अंतराल होने की स्थिति में लाभार्थी की दूसरी खुराक के लिए आगे ऑनलाइन या ऑन-साइट अपॉइंटमेंट संभव नहीं होगा।

इसके अलावा, कोविशील्ड की दूसरी खुराक के लिए पहले से बुक की गई ऑनलाइन अपॉइंटमेंट वैध रहेगी और कोविन द्वारा उन्हें रद्द नहीं किया जा रहा है। यही नहीं, लाभार्थियों को इस बात की सलाह दी जाती है कि वे पहली खुराक के टीकाकरण की तारीख से 84वें दिन के बाद की तारीख के लिए अपने अपॉइंटमेंट को पुनर्निर्धारित करें। 

फील्ड स्टाफ को दिए गए ये निर्देश

केंद्र सरकार ने राज्यों और केंद्र-शासित प्रदेशों के सामने इस बात को दोहराया है कि कोविशील्ड की दो खुराक के बीच अंतराल से संबंधित इस बदलाव से पहले कोविशेल्ड की दूसरी खुराक के लिए बुक की गई ऑनलाइन अपॉइंटमेंट पर अवश्य अमल किया जाना चाहिए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों/केंद्र-शासित प्रदेशों को सलाह दी है कि फील्ड स्टाफ को यह निर्देश दिया जाए कि यदि ऐसे लाभार्थी टीकाकरण के लिए आते हैं, तो उन्हें कोविशील्ड की दूसरी खुराक अवश्य दी जानी चाहिए और उन्हें वापस नहीं भेजा जाना चाहिए। उन्हें इस बदलाव के बारे में लाभार्थियों को सूचित करने के लिए जागरूकता गतिविधियां चलाने की भी सलाह दी गई है।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर