अब दिल्ली में कब बरसेंगे 'बदरा', मई में ही हो चुका है 'शिमला' सा अहसास, बिहार, यूपी का है ये हाल-PICS

देश
रवि वैश्य
Updated May 30, 2021 | 10:46 IST

Delhi-NCR Ki Barish Updated News:दिल्ली-एनसीआर और पड़ोसी राज्यों में उमस और गर्मी से बुरा हाल है, वहीं यूपी और बिहार के कुछ शहरों में जमकर बारिश हो रही है।

rain hindi news, dilli ki barish, barish ke samachar sunao, mausam ka haal, dilli ka mausam
Rain in Delhi/UP/ Bihar (Photos-istock) 

मुख्य बातें

  • चक्रवाती तूफान यास की वजह से बारिश का क्रम बिहार और यूपी में पहले ही शुरू हो गया है
  • मौसम विभाग की मानें तो दिल्‍ली में पूरे हफ्ते बारिश के आसार बने हुए हैं
  • बिहार में मूसलाधार बारिश से जनजीवन पर भारी असर पड़ा है

Rain News in Delhi, UP, Bihar: मई का महीना खत्म होने की ओर है और लोगों का वास्ता तेज गर्मी और उमस से पड़ रहा है, लोग गर्मी की मार से बेहाल हैं और एसी, कूलर पंखों की सहायता से गर्मी से निजात पाने की कोशिश कर रहे हैं, माना जाता है कि जून के पहले हफ्ते में ही मानसून की दस्तक होती है और साथ ही बारिश का आगाज भी, लेकिन इस बार चक्रवाती तूफान 'यास' की वजह से बारिश का क्रम बिहार और यूपी में पहले ही शुरू हो गया है वहां के कई शहरों में बहुत तेज बारिश और वो भी लगातार हो रही है वहीं राजधानी दिल्ली और एनसीआर के लोग अभी भी गर्मी की मार झेल रहे हैं और आंखें आसमान पर टिकीं हैं कि कब बदरा बरसेंगे और उन्हें राहत मिलेगी।

मौसम विभाग का अनुमान है कि दिल्‍ली में संडे को हल्‍की-फुल्‍की बारिश हो सकती है इसके बाद पूरे हफ्ते बारिश के आसार बने हुए हैं हालांकि इससे तापमान में कमी की संभावना नहीं जताई गई है यानी बारिश तो होगी लेकिन उमस आदि बने रहेंगे।

संडे के बाद 31 मई और 1 जून को भी हल्की बारिश की संभावना है हल्की बारिश से बढ़ने वाली से मौसम में उमस बढ़ सकती है 3 जून के बाद तापमान फिर बढ़ सकता है। मौसम विभाग ने हरियाणा और राजस्थान के कुछ जिलों व उनके आस पास के इलाकों में बारिश की चेतावनी जारी की। 

बिहार में बारिश से हुआ बुरा हाल 

बिहार में मूसलाधार बारिश से जनजीवन पर भारी असर पड़ा है रिकॉर्ड तोड़ बारिश से राजधानी पटना,पूर्णिया और गया आदि शहरों में सहित जगह-जगह जलभराव की स्थिति हो गई है वहीं हवा की रफ्तार बहुत तेज रहने से जगह-जगह पेड़ उखड़ गए वहीं ग्रामीण इलाकों में मिट्टी से बने कई मकानों के ढहने की खबर सामने आई, यास तूफान के कारण हुई भारी बारिश से नेपाल से आने वाली नदियों के जल स्तर में भी वृद्धि हुई है जिसके चलते प्रखंड के पूर्वी भाग में बाढ़ जैसी स्थिति बन गई है। 

उत्तर प्रदेश में बारिश के ऐसे हैं हालात

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ समेत सूबे के 37 जिलों में यास तूफान का असर दिखने लगा है। कई जिलों में मौसम का मिजाज बदला रहा। लखनऊ में बादल छाए रहे और कई जगह हल्की बारिश हुई। मौसम विभाग का कहना है कि साइक्लोन बनने की वजह से मौसम में परिवर्तन लगातार हो रहा है, साइक्लोन का असर तो खत्म हो गया है, लेकिन पूर्वी उत्तर प्रदेश में भारी बरसात होने की संभावना है जिससे नुकसान हो सकता है।

दिल्ली में 1951 के बाद से मई महीने का सबसे कम तापमान

वैसै राजधानी दिल्ली और एनसीआर और अन्य राज्यों की बात करें तो यहां मई के महीने में तेज हवाओं के साथ काफी तेज बारिश और वो भी लगातार हुई जो अमूमन नहीं होती है, बारिश ने कई रिकॉर्ड भी तोड़े थे, दिल्ली में मई महीने में एक दिन अधिकतम तापमान 23.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था जो कि सामान्य तापमान से 16 डिग्री सेल्सियस कम था और 1951 के बाद से मई महीने का यह सबसे कम तापमान था।

1976 को एक दिन में 60 मिमी बारिश दर्ज की गई थी

लगातार पश्चिमी विक्षोभ के कारण और फिर च्रकवाती तूफान 'ताउते' के कारण उत्तर भारत में बारिश हुई थी इस बीच, दिल्ली में पश्चिमी विक्षोभ और च्रकवाती तूफान 'ताउते' के कारण मई महीने में एक दिन 24 घंटे में 119.3 मिमी बारिश दर्ज की गई थी इसके साथ मई में बारिश के सभी रिकॉर्ड टूट गए थे इससे पहले 24 मई 1976 को एक दिन में 60 मिमी बारिश दर्ज की गई थी।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर