क्रूज ड्रग्स मामला : महाराष्ट्र के मंत्री ने NCB जांच पर उठाए सवाल, बीजेपी कनेक्शन की वजह से 3 लोगों को छोड़ा गया?

देश
रामानुज सिंह
Updated Oct 09, 2021 | 13:36 IST

क्रूज ड्रग्स मामले में महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने कहा कि एनसीबी से सवाल पूछा रेड के बाद 11 लोगों को हिरासत में लिया था, तो किसके निर्देश पर तीन लोगों को छोड़ा गया।

Cruise drugs case: Maharashtra minister Nawab Malik raises questions on NCB probe, 3 people released due to BJP connection
महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक  |  तस्वीर साभार: ANI

नई दिल्ली: महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने दावा किया है कि एनसीपी को लगता है कि नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के अधिकारी समीर वानखेड़े और बीजेपी नेताओं के बीच कुछ बात हुई होगी। मलिक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि मुंबई तट से दूर एक क्रूज जहाज पर छापेमारी के बाद वानखेड़े ने कहा था कि 8 से 10 लोगों को हिरासत में लिया गया था, हालांकि सच्चाई यह है कि 11 लोगों को हिरासत में लिया गया था। उन्होंने कहा कि बाद में, 3 लोग - ऋषभ सचदेवा, प्रतीक गाबा और आमिर फर्नीचरवाला को छोड़ दिया गया।

उन्होंने आगे कहा कि एनसीपी एनसीबी से पूछना चाहती है कि जब उन्होंने क्रूज शिप रेड के बाद 11 लोगों को हिरासत में लिया था, तो किसके निर्देश पर उन्होंने 3 लोगों को छोड़ा गया था। उन्होंने कहा कि हम मांग करते हैं कि एनसीबी तथ्यों का खुलासा करे। मुंबई पुलिस एंटी नारकोटिक्स सेल से स्वतंत्र जांच की मांग करते हुए मलिक ने कहा कि वह मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को भी पत्र लिखेंगे। उन्होंने कहा कि अगर जरुरत पड़ी तो छापेमारी की जांच के लिए एक जांच आयोग का गठन किया जाना चाहिए। 

मलिक के ये बयान उसके बाद आए हैं जब उन्होंने आरोप लगाया था कि मुंबई के एक क्रूज पर एनसीबी की छापेमारी फर्जी थी। बीजेपी ने आर्यन खान को फंसाने के लिए केंद्रीय एजेंसी का दुरुपयोग किया है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर