कोरोना का विस्फोट, पहली बार एक दिन में मिले 1 लाख से ज्यादा केस, यूएस के बाद दूसरा देश बना भारत

देश
आलोक राव
Updated Apr 05, 2021 | 07:26 IST

Corona Cases in India : कोरोना संक्रमण के तेजी से फैलने को लेकर कई वजहें बताई जा रही हैं। इसकी सबसे बड़ी वजह लापरवाही को माना जा रहा है। देश में कोरोना का वैक्सीन आ जाने के बाद लोग लापरवाह हो गए हैं।

India breaches 1-lakh daily mark only second country after US
कोरोना का विस्फोट, पहली बार एक दिन में मिले 1 लाख से ज्यादा केस।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • देश में पहली बार कोरोना वायरस के केस एक लाख के आंकड़े को पार किए
  • सबसे ज्यादा नए मामले महाराष्ट्र में मिले, उद्धव सरकार ने नाइट कर्फ्यू लगाया
  • रविवार को पीएम मोदी ने की उच्च स्तरीय बैठक, अधिकारियों को दिए निर्देश

नई दिल्ली : देश में कोरोना की स्थिति गंभीर हो गई है। रविवार को सामने आए कोरोना संक्रमण के आंकड़े ने अब तक का रिकॉर्ड तोड़ दिया। ताजा रिपोर्टों के मुताबिक देश में पहली बार कोरोना संक्रमण के मामले एक लाख को पार कर गए हैं। रविवार को देश भर में कोरोना के 1.01 लाख केस मिले। इससे पहले कोरोना महामारी जब अपने पीक पर थी उस समय 16 सितंबर को देश भर में एकदिन में 97,894 केस मिले थे। इसके साथ ही एक दिन के संक्रमण के मामले में अमेरिका के बाद भारत विश्व का दूसरा देश बन गया है। 

महाराष्ट्र से सबसे ज्यादा मामले
कोरोना संक्रमण के नए मामले सबसे ज्यादा महाराष्ट्र से आ रहे हैं। रविवार को इस राज्य से ही केवाल 57,000 पॉजिटिव केस मिले। महाराष्ट्र में कोरोना की गंभीर होती स्थिति को देखते हुए उद्धव सरकार ने 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया है जबकि वीकेंड पर पूरी तरह से लॉकडाउन रहेगा। सितंबर महीने के बाद देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी आने लगी थी लेकिन एक बार फिर नए केस तेजी से बढ़े हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञ इसे कोरोना की 'दूसरी लहर' बता रहे हैं। 

मामलों में वृद्धि की कई वजहें
संक्रमण के तेजी से फैलने को लेकर कई वजहें बताई जा रही हैं। इसकी सबसे बड़ी वजह लापरवाही को माना जा रहा है। देश में कोरोना का वैक्सीन आ जाने के बाद लोग लापरवाह हो गए हैं। मास्क पहनने और दो गज की दूरी जैसी कोविड-19 प्रोटोकॉल्स का पालन नहीं किया जा रहा है। इसके अलावा संक्रमण बढ़ने में कोरोना के नए वैरिएंट्स को भी जिम्मेदार माना जा रहा है। देश में यूके, ब्राजील, दक्षिण अफ्रीका और अमेरिका में पाए गए कोरोना के प्रकार मिले हैं। हाल में कई राज्यों में कोरोना का 'डबल म्यूटैंट' पाया गया है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना के इन नए प्रकारों के चलते भी संक्रमण के नए मामले बढ़ रहे हैं। 

पीएम मोदी ने की रविवार को बैठक
देश में कोविड-19 की गंभीर होती स्थिति को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को एक उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की। इस बैठक में उन्होंने स्वास्थ्य विशेषज्ञों एवं कर्मियों की टीम महाराष्ट्र, पंजाब और छत्तीसगढ़ भेजने का निर्देश दिया। इन राज्यों में हाल के दिनों में कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा मौतें हुई हैं। छत्तीसगढ़ में कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं। इस राज्य में लगातार दूसरे दिन कोरोना के 5000 से ज्यादा केस मिले। जबकि पंजाब में यह आंकड़ा 3000 पर आ गया। रविवार को देश में कोरोना से 490 मौतें भी हुईं। इनमें महाराष्ट्र में अकेले 235 लोगों की जान गई। 

यूपी में भी नए मामले बढ़े
उत्तर प्रदेश में भी कोरोना के नए मामलों और मौतों में तेजी आई है। रविवार को यूपी में कोरोना महामारी से 31 लोगों की जान गई। यह संख्या पिछले चार महीनों में सबसे ज्यादा है। पंजाब और छत्तीसगढ़ में रविवार को इस महामारी से क्रमश: 51 और 36 लोगों की जान गई। बैठक के दौरान पीएम ने इस महामारी पर रोक लगाने के लिए उपाय सुझाए। उन्होंने कहा कि कि टेस्टिंग, ट्रेसिंग, ट्रीटमेंट, कोविड उपयुक्त व्यवहार तथा टीकाकरण की पंच-कोणीय रणनीति का अगर पूरी गंभीरता और प्रतिबद्धता के साथ कार्यान्वयन किया जाए तो इससे महामारी के प्रकोप को रोकने में मदद मिलेगी। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर