Salman Khurshid Book Controversy: हिंदुत्व पर कांग्रेस ने भाजपा को फिर दिया मौका, खुर्शीद बिगाड़ेंगे प्रियंका का खेल !

देश
प्रशांत श्रीवास्तव
Updated Nov 11, 2021 | 19:12 IST

Salman Khurshid Book Controversy: कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद की नई किताब से हिंदुत्व को लेकर छिड़े विवाद ने भाजपा को मौका दे दिया है। ऐसे में यूपी चुनाव में यह एक बड़ा चुनावी मुद्दा बन सकता है।

Salman Khurshid Book Controversy
कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद की किताब पर छिड़ा विवाद  |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • सलमान खुर्शीद ने हिंदुत्व की तुलना ISIS और बोको हरम से कर दी है।
  • सलमान खुर्शीद के पहले दिग्विजय सिंह, पी.चिदंबरम, सुशील कुमार शिंदे, सी.पी.जोशी के बयानों पर हो चुका है विवाद
  • कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी के लिए यूपी में नए विवाद से कई चुनौतियां खड़ी हो सकती हैं।

Salman Khurshid Book Controversy: वैसे तो मौका कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद की किताब 'Sunrise Over Ayodhya: Nationhood in Our Times' के विमोचन का था। लेकिन उनकी किताब के एक हिस्से पर बवाल मच गया है। असल में खुर्शीद ने  किताब के इस हिस्से में हिंदुत्व की तुलना आतंकी संगठन ISIS और बोको हरम से की है। किताब पर विवाद छिड़ते ही, भाजपा ने इस मौके को भुनाने की कोशिशें भी शुरू कर दी है। पार्टी का कहना है कि ये सिर्फ सलमान खुर्शीद (Salman Khurshid ) या कांग्रेस के कुछ नेताओं की लाइन नहीं बल्कि आज कांग्रेस पार्टी की विचारधारा है। और इसके लिए  सोनिया और राहुल गांधी को जिम्मेदार हैं। जाहिर है यूपी चुनावों के पहले भाजपा को बैठे-बैठे एक मौका मिल गया है, जिस पर वह कांग्रेस को आने वाले दिनों में घेरती हुई नजर आएगी।

खुर्शीद ने किताब में क्या लिखा

सलमान खुर्शीद ने अपनी किताब के हिस्से में लिखा है कि  मौजूदा दौर में हिंदुत्व का राजनीतिक रूप, साधु-संतों के सनातन और प्राचीन हिंदू धर्म को किनारे कर रहा है। ये ISIS और बोको हरम जैसे जिहादी इस्लामी संगठनों जैसा है। किताब में 113 नंवबर पेज पर सलमान खुर्शीद ने कहा है कि 'हिंदुत्व का इस्तेमाल राजनीतिक फायदे के लिए होता है, चुनाव प्रचार के दौरान इसका ज्यादा जिक्र किया जाता है। किताब में उन्होंने कहा कि 'सनातन धर्म या Classical Hinduism को किनारे करके हिंदुत्व को आगे बढ़ाया जा रहा है।' 

विवादों में घिरने पर सलमान खुर्शीद का कहना है कि सवाल उठाने वाले कुछ लाइनें नहीं पूरी किताब पढ़ें। मैंने किताब कि जरिए अयोध्‍या में बाबरी मस्जिद गिराए जाने से लेकर जमीन विवाद का फैसला आने तक की घटना पर पर अपना नजरिया रखा है।

भाजपा ने सोनिया और राहुल गांधी पर साधा निशाना

बृहस्पतिवार को सलमान खुर्शीद की किताब के हिस्से पर भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा ये विचारधारा स्पष्ट करती है कि देश के बहुसंख्यक, जिनका योगदान देश को अखंड करने में रहा है उनकी भावनाओं को कुचल डालना चाहिए। ये सोनिया गांधी जी और राहुल गांधी के इशारे पर ही बार-बार होता है। उन्होंने यह भी कहा कि सोनिया गांधी जी अगर आप हिंदुओं का सम्मान करती हैं तो आपको  चुप्पी तोड़नी होगी। अगर आप चुप रहती हो तो ये आपका अधिकार हो सकता है, लेकिन इसमें कोई शक नहीं रह जाएगा कि कांग्रेस की विचारधारा, हिंदुओं से नफरत करना है।

हिंदुत्व पर पहले भी घिरी है कांग्रेस

ऐसा नहीं है कि हिंदुत्व और भगवा जैसे मुद्दे पर पहली बार कांग्रेस घिर रही है। इसके पहले भी कांग्रेस के नेताओं ने कई ऐसे बयान दिए हैं, जिससे पार्टी सवालों के घेरे में आ चुकी है। कई बार तो उसे अपने नेताओं के बयानों से पल्ला झाड़ना पड़ा है।

भगवा आतंकवाद- अगस्त 2010 में  तत्कालीन गृहमंत्री पी चिदंबरम ने एक कार्यक्रम में 'भगवा आतंकवाद' की बात कही थी। उन्होंने कहा था कि नौजवान लड़के-लड़कियों को उग्र बनाने की कोशिशों की इजाजत नहीं दी जा सकती। देश में भगवा आतंकवाद का नया चलन उजागर हुआ है, जिसकी हाल ही में हुए कई बम धमाकों में भूमिका सामने आई है। हालांकि, कांग्रेस ने चिदंबरम की टिप्पणी से तत्काल खुद को अलग कर लिया था और कहा था कि आतंकवाद का काले के अलावा अन्य कोई रंग नहीं होता।

उस समय महाराष्ट्र के मालेगांव में, समझौता एक्सप्रेस विस्फोट, हैदराबाद में मक्का मस्जिद विस्फोट और अजमेर शरीफ दरगाह बम विस्फोट हुए थे। जिसके आधार पर पी.चिदंबरम ने भगवा आतंकवाद की बात कही थी।

भाजपा-आरएसस भगवा आतंकवाद में शामिल- चिदंबरम के बाद एक बार फिर 2013 में तत्कालीन गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने जयपुर में कांग्रेस पार्टी के सम्मेलन में भगवा आतंकवाद का जिक्र किया और भाजपा-आरएसएस पर आतंकी प्रशिक्षण शिविर चलाने का आरोप लगाया। 

हिंदू आतकंवादी सब आरएसएस वाले- साल 2018 में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा 'जितने भी हिंदू धर्म वाले आतंकवादी पकड़े गए हैं सब संघ के कार्यकर्ता रहे हैं। महात्मा गांधी की हत्या करने वाला नाथूराम गोडसे भी आरएसएस में था ।' 

केवल ब्राह्मण जानते हैं हिंदू धर्म- साल 2018 में ही राजस्थान से कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सी.पी.जोशी ने एक कार्यक्रम में कहा कि इस देश में धर्म के बारे में अगर कोई जानता है तो विद्वान पंडित ब्राह्मण जानते हैं। ये अजीब देश हो गया है, यहां उमा भारती लोधी समाज की हैं वो हिंदू धर्म की बात कर रही हैं।  नरेंद्र मोदी जी किसी जाति के हैं वो हिंदू धर्म की बात कर रहे हैं। हालांकि इस बयान पर राहुल गांधी के आपत्ति जताए जाने के बाद जोशी ने माफी मांग ली थी।

पार्टी ने माना हिंदू हुए नाराज

2014 के लोकसभा चुनाव में जब कांग्रेस पार्टी की करारी हार हुई और उसे केवल 44 सीटें मिलीं थी। तो पार्टी के वरिष्ठ नेता ए.के.एंटनी ने हार की समीक्षा करते हुए एक रिपोर्ट पेश की थी। एंटनी ने उसके बाद केरल में एक कार्यक्रम में कहा था कि मतदाताओं को ऐसा लगता है कि पार्टी में धर्मनिरपेक्षता की संस्कृति घटी है और वह अल्पसंख्यकों को ज्यादा तरजीह देती है।

प्रियंका के अभियान को लगेगा झटका ! 

उत्तर प्रदेश में विधान सभा चुनाव नजदीक हैं। और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी इस समय जोर-शोर से प्रदेश में प्रचार की कमान संभाले हुए हैं। इस बीच वह काशी विश्वनाथ मंदिर से लेकर अयोध्या आदि हिंदू मंदिरों में जा रही हैं। संगम में स्नान भी कर रही हैं। साफ है कि वह मतदाताओं को लुभाने के लिए ऐसा कर रही हैं। लेकिन खुर्शीद के विवाद पर भाजपा को उन पर हमला करने का मौका मिल गया है। बृहस्पतिवार को भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया ने  निशाना साधते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में चुनाव आते हैं तो इच्छाधारी हिंदू राहुल गांधी और प्रियंका गांधी, क्या उत्तर प्रदेश के हर शहर में जाकर, हर गली में जाकर ये कहने की हिम्मत करेंगे कि हिंदू धर्म और हिंदुत्व का मतलब ISIS और बोको हरम की विचारधारा है। 

साफ है कि भाजपा इसे चुनावी मुद्दा जरूर बनाएगी। अब देखना यह है कि कांग्रेस इसको कैसे मैनेज करती है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर