Digvijay singh : बाबा रामदेव पर उखड़े 'दिग्गी राजा', याद दिलाया कांग्रेस का 'अहसान' 

Digvijay Singh : कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने बुधवार को कहा कि लोगों को बाबा रामदेव को पहचानने में देर लगी। कांग्रेस नेता ने कहा कि फूड पार्क के लिए अनुदान योग गुरु को कांग्रेस ने दिया था।

Congress leader Digvijay singh takes a jibe on Baba Ramdev
बाबा रामदेव पर उखड़े दिग्विजय सिंह।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने योग गुरु बाबा रामदेव पर निशाना साधा
  • सिंह ने कहा कि कांग्रेस की सरकारों ने फूड पार्क के लिए दिया अनुदान
  • दिग्विजय सिंह ने कहा कि केंद्र से भाजपा की सरकार जाने पर वह बदल जाएंगे

नई दिल्ली : योग गुरु बाबा रामदेव और कांग्रेस नेताओं के बीच छत्तीस का आंकड़ा पुराना है। खासकर रामदेव के व्यापार एवं भाजपा से उनके करीबी रिश्ते को लेकर कांग्रेस नेता उन पर हमला बोलते आए हैं। अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने योग गुरु पर निशाना साधा है। दिग्विजय सिंह ने बुधवार को योग गुरु को याद दिलाते हुए कहा कि फूड पार्क के लिए कांग्रेस पार्टी ने उन्हें करोड़ों रुपए का अनुदान दिया था। 

रामदेव के पुराना वीडियो री-ट्वीट किया
कांग्रेस नेता ने कहा कि 'ढोंगी' रामदेव को पहचानने में लोगों को बहुत देर लगी। दिग्विजय सिंह ने अपने ट्वीट के साथ बाबा रामदेव का एक पुराना वीडियो भी री-ट्वीट किया है। अपने एक ट्वीट में सिंह ने कहा, 'डोंगी रामदेव को पहचानने में लोगों को बहुत देर लगी। यह शुरू से ही भाजपा का एजेंट बना हुआ था।'

फूड पार्क के लिए कांग्रेस ने दिया अनुदान  
कांग्रेस नेता ने अपने एक अन्य ट्वीट में कहा, 'यह भी जानना आवश्यक है कि जिस कांग्रेस को यह कोस रहा है उसी ने इसे दो फूड पार्क के लिए ₹150-150 करोड़ का अनुदान दिया था। एक हरिद्वार में एक रांची में। उत्तराखंड में जमीन भी कांग्रेस के सीएम नारायण दत्त तिवारी ने दी थी। जिस दिन भाजपा, मोदी, शाह गए यह फिर पल्टी मारेगा।'

एलोपैथ पर बयान देकर विवादों में हैं रामदेव
योग गुरु कुछ दिनों से विवादों में हैं। दरअसल, एलोपैथ इलाज पर दिए गए अपने बयान के बाद रामदेव चौतरफा डॉक्टरों के निशाने पर आ गए। बयान पर विवाद होने पर उन्होंने माफी मांग ली लेकिन यह मामला शांत होता नहीं दिख रहा है। भारतीय चिकित्सा संघ (आईएमए) ने योग गुरु के बयान के खिलाफ पटना में शिकायत दर्ज कराया है। 

कोरोनिल पर नेपाल ने रोक लगाई
नेपाल ने पतंजलि की ओर से उपलब्ध कराए गए कोरोनिल किट का वितरण रोक दिया है। नेपाल का कहना है कि कोरोनिल की 1,500 किट खरीदे जाते समय उचित प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया। पंतजलि योगपीठ का दावा है कि कोरोनिल कोरोना वायरस के खिलाफ शरीर में प्रतिरोधक क्षमता का निर्माण करती है।      

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर