खुद कोरोना से कराह रहा छत्तीसगढ़, लेकिन दूसरे प्रदेशों को पहुंचा रहा मेडिकल ऑक्सीजन

Chhattisgarh Corona Crisis : छत्तीसगढ़ में कम से कम कोविड समर्पित और ऑक्सीजन जेनरेटर प्लांट लगे 24 सरकारी अस्पताल हैं। इन अस्पतालों में अस्थाई आईसीयू बनने लगे हैं।

Chhattisgarh supplying mediacal oxygen to several states
दूसरों राज्यों को ऑक्सीजन पहुंचा रहा छत्तीसगढ़।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • कोरोना से ज्यादा प्रभावित होने वाले राज्यों में शामिल है छत्तीसगढ़
  • दूसरे राज्यों में मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति करने में पीछे नहीं हटा
  • सरकार का कहना है कि राज्य में मेडिकल ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है

नई दिल्ली : कोरोना का कहर कई राज्यों पर टूटा है। संक्रमण से ज्यादा प्रभावित होने वाले राज्यों में से छत्तीसगढ़ भी एक है। छत्तीसगढ़ कोरोना की चुनौती से तो जूझ ही रहा है। संकट के बीच अन्य राज्यों को मदद पहुंचाने की अपनी जिम्मेदारी से वह पीछे नहीं हटा है। कोरोना प्रभावित ऐसे राज्य जहां ऑक्सीजन की किल्लत बनी हुई है, यह राज्य उन प्रदेशों में मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति कर रहा है। छत्तीसगढ़ सरकार के दावे की मानें तो अभी तक यह राज्य 11 अप्रैल से 24 अप्रैल के बीच कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात, तेलंगाना और महाराष्ट्र को 2709.95 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति कर चुका है।

दूसरों राज्यों के लिए 'लाइफ लाइन' बना छत्तीसगढ़
छत्तीसगढ़ में कम से कम कोविड समर्पित और ऑक्सीजन जेनरेटर प्लांट लगे 24 सरकारी अस्पताल हैं। इन अस्पतालों में अस्थाई आईसीयू बनने लगे हैं। इन आईसीयू को शीघ्र ही केंद्रीय पाइपलाइन व्यवस्था से जोड़ दिया जाएगा। टीओआई की रिपोर्ट के मुताबिक सरकार के एक अधिकारी ने कहा, 'संकट के इस समय छत्तीसढ़ में पैदा होने वाला मेडिकल ऑक्सीजन कोरोना पीड़ित राज्यों के लिए लाइफ लाइन बना हुआ है।'

महाराष्ट्र, गुजरात सहित कई राज्यों को भेजा ऑक्सीजन
अधिकारी ने कहा, 'अन्य राज्यों के अनुरोध पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ के लिए ही नहीं बल्कि अन्य प्रदेशों को भी मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति की व्यवस्था करने का निर्देश दिया है।' अधिकारी का कहना है कि 11 अप्रैल से 24 अप्रैल के बीच राज्य ने कर्नाटक को 16.82 मीट्रिक टन, आंध्र प्रदेश को 176.69 मीट्रिक टन, मध्य प्रदेश को 801.22 मीट्रिक टन, गुजरात को 120.42 मीट्रिक टन, तेलंगाना को 578 मीट्रिक टन और महाराष्ट्र को 1013 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति किया है। 

'राज्य में मेडिकल ऑक्सीजन की कमी नहीं'
टीएस सिंह देव ने का कहना है कि राज्य में मेडिकल ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है। छत्तीसगढ़ में प्रतिदिन 388.87 मीट्रिक टन ऑक्सीजन का उत्पादन हो रहा है। इसमें लिक्विड ऑक्सीजन की मात्रा 250 मीट्रिक टन है। सिंह ने बताया कि साल 2018 में जब कांग्रेस सत्ता में आई तो यहां आईसीयू वाले 53 बेड्स थे, अब यह संख्या बढ़कर 554 हो गई है। इसी तरह एचडीयू बेड्स की संख्या 20 से बढ़कर 504 हुई है। पहले कोविड-19 के मरीजों के लिए ऑक्सीजन युक्त बेड्स नहीं थे लेकिन अब ऐसे बेड्स की संख्या 6,310 है। इस समय राज्य में कोरोना मरीजों के लिए बेड्स की संख्या 21,565 है।  
 
कोरोना से प्रभावित है छत्तीसगढ़
कोरोना महामारी से बुरी तरह प्रभावित होने वाले राज्यों में छत्तीसगढ़ भी शामिल है। राज्य में सोमवार को बीते 24 घंटे में संक्रमण के 15,084 नए मामले आए। इसके साथ ही राज्य में इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 6,67,446 हो गई है। वहीं 226 मरीजों की मौत के बाद मृतक संख्या 7536 हो गई है। राज्य के रायपुर जिले में कोरोना वायरस के सबसे अधिक 1,35,364 मामले मिले हैं। जिले में कोरोना वायरस के कारण 2138 लोगों की मौत हुई है।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर