BATTLE FOR BIHAR: कौन बनेगा बिहार का मुख्यमंत्री: नीतीश कुमार या तेजस्वी यादव?

देश
बीरेंद्र चौधरी
बीरेंद्र चौधरी | न्यूज़ एडिटर
Updated Oct 19, 2020 | 14:41 IST

बिहार विधानसभा का चुनाव प्रचार अभियान जोर पकड़ चुका है। मुख्यमंत्री पद के लिए मुख्य मुकाबला तेजस्वी यादव और नीतीश कुमार के बीच है। चुनाव के नतीजे 10 नवंबर को घोषित होंगे।

Bihar Election 2020 Who will be the chief minister of Bihar Nitish Kumar or Tejashwi Yadav?
कौन बनेगा बिहार का मुख्यमंत्री: नीतीश कुमार या तेजस्वी यादव? 

मुख्य बातें

  • बिहार में मुख्य मुकाबला एनडीए और यूपीए के बीच है
  • टाइम्स नाउ और सीवोटर के सर्वे में एनडीए को हो रहा है काफी फायदा
  • ओपिनियन पोल में यूपीए को मिल रही हैं सिर्फ 76 सीटें

नई दिल्ली: बिहार विधानसभा का चुनाव इस बार काफी अलग नजर आ रहा है। इस चुनाव में कौन बाजी मारेगा इसका पता तो 10 नवंबर को ही लगेगा, लेकिन यहां हम यह जानने की कोशिश कर रहे हैं कि आखिर इस बार बिहार में सीएम की गद्दी पर कौन बैठेगा। बिहार विधान सभा में कुल 243 सीटें हैं।  चुनाव 3 फेज में हो रहा है- पहला फेज 28 अक्टूबर 71 सीट , दूसरा फेज 3 नवंबर 94 सीट और तीसरा फेज 7 नवंबर 78 सीट और वोटों की गिनती होगी नवंबर 10 को। 

NDA

एनडीए में 4 पार्टी शामिल है : भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी), जनता दल यूनाइटेड(जेडीयू) , हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा - सेक्युलर (एचएएम -एस ) और विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी )। पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी एचएएम -एस के मुखिया हैं और वीआईपी के मुखिया हैं मुकेश साहनी। जेडीयू 122  और बीजेपी 121 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। साथ ही जेडीयू ने  अपने 122 सीटों में से 7 सीट एचएएम -एस को और बीजेपी ने अपने 121 सीटों में से 11 सीट वीआईपी को दिया है। 
 

NDA: कौन लड़ेगा कितनी सीटों पर

पार्टी              सीटें
जेडीयू                115

एचएएम -एस       7           

बीजेपी              110

वीआईपी           11         
कुल                 243

UPA

यूपीए  में 5 पार्टी शामिल है: राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी),कांग्रेस,सीपीआई (एमएल),सीपीआईऔर सीपीआई(एम)

UPA: कौन लड़ेगा कितनी सीटों पर

पार्टी                                   सीट
आरजेडी                               144

कांग्रेस                                  70

सीपीआई (एमएल)                 19

सीपीआई                             6

सीपीआई (एम)                    ़ृ 4

कुल                                 243

क्या कहता है TIMES NOW- C-VOTER ओपिनियन पोल?

TIMES NOW- C-VOTER ने बिहार विधान सभा चुनाव पर ओपिनियन पोल किया है। ओपिनियन पोल क्या कहता है हम उसी पर चर्चा कर रहे हैं। 

ओपिनियन पोल का आधार

12843 पोल का सैंपल साइज है। 1 अक्टूबर से 10 अक्टूबर के बीच पोल का संचालन किया गया है। मार्जिन ऑफ़ एरर +/- 3% है। पोल में जेंडर, ऐज, एजुकेशन, रूरल, अर्बन, रिलिजन और कास्ट को ध्यान में रखा गया है। साथ ही 243 सीटों को कवर करने का प्रयास किया गया है।

आइये सबसे पहले  देखते हैं VOTE SHARE

BATTLE FOR BIHAR: VOTE SHARE
ALLIANCE        2015                2020                SWING

NDA                  34.1                  48.2                  14.1                 
UPA                  41.9                  36.0                  -5.9
OTHERS          24.0                  15.8                 -8.2
 

NDA को 2015 के विधान सभा चुनाव में 34.1 % वोट मिला था अबकी बार यानि 2020 के ओपिनियन पोल में 48.2% वोट मिल रहा है।  इसका मतलब एनडीए के पक्ष में 14.1% वोट का भारी इजाफा। चुनावी गणित में इस तरह के भारी स्विंग को थम्पिंग मेजोरिटी के रूप में देखा जाता है। अब देखते हैं UPA के गणित को।  UPA को 2015 के चुनाव में 41.9% वोट मिला था और उसी का परिणाम था 178 सीट लेकिन अबकी बार 2020 के ओपिनियन पोल में 36.0% वोट मिल रहा है।  इसका मतलब UPA को  5.9% वोट का भारी नुकसान हो रहा है और इस नुकसान का सीधा सीधा असर सीटों पर देखने को मिलेगा।  अन्य के खातों  में भी 8.2% वोटों का भारी नुकसान हो रहा है। 
 

                  

आइये अब  देखते हैं SEAT SHARE
BATTLE FOR BIHAR: SEAT SHARE
ALLIANCE        2015                2020                CHANGE

NDA                  58                     160                   102                                         
UPA                  178                   76                     -102
OTHERS            7                      7                      0
TOTAL              243     
           

NDA को 2015 के विधान सभा चुनाव में 58 सीट  मिला था अबकी बार 2020 के ओपिनियन पोल में 160 सीट  मिल रही हैं।  इसका मतलब एनडीए को 102 सीटों का फायदा हो रहा है।  दूसरी तरफ UPA को 2015 के चुनाव में 178 सीट  मिली थी और अबकी बार 2020 के ओपिनियन पोल में सिर्फ 76 सीट मिल रही हैं यानि 102 सीटों का भारी घाटा।  अन्य के खातों  में कोई परिवर्तन नहीं है यानि 2015 में 7 सीटें मिली थी और अबकी बार भी 7 सीटें ही मिल रही हैं। लेकिन एक बात समझना बहुत जरुरी है कि 2015 के चुनाव में जेडीयू महागठबंधन में आरजेडी और कांग्रेस के साथ था लेकिन अबकी बार जेडीयू फिर से एनडीए में शामिल हो चुका है और परिणाम सामने है। 

आइये अब  देखते हैं REGION-WISE SEAT SHARE
BATTLE FOR BIHAR REGIONWISE SEAT SHARE: NDA
ALLIANCE        2015                2020                CHANGE

ANGA                  3                      12                     9
BHOJPUR          11                     35                     24
MAGADH           13                     38                     25
MITHILA              5                      32                     27
SEEMANCHAL   6                       9                       3
TIRHUT              20                     34                     14
TOTAL               58                    160                  102       
       
BATTLE FOR BIHAR REGIONWISE SEAT SHARE: UPA
ALLIANCE        2015                2020                CHANGE

ANGA                20                    11                     -9                    
BHOJPUR          39                   13                    -26      
MAGADH           38                   14                    -24      
MITHILA           38                    11                     -27      
SEEMANCHAL 17                    14                    -3        
TIRHUT             26                   13                    -13      
TOTAL              178                  76                   -102
 

BATTLE FOR BIHAR REGIONWISE SEAT SHARE: OTHERS
ALLIANCE        2015                2020                CHANGE

ANGA                0                      0                      0                     
BHOJPUR         2                      4                      2         
MAGADH          1                      0                     -1
MITHILA            0                      0                      0
SEEMANCHAL 1                      1                      0
TIRHUT             3                      2                     -1
TOTAL              7                      7                      0         

ओपिनियन पोल के रीजन वाइज ब्रेक अप के आंकड़े के अनुसार एनडीए बिहार के छः रीजन में से चार रीजन में भारी बढ़त के साथ आगे है यानी एनडीए का क्लीन स्वीप। दूसरी तरफ  यूपीए सीमांचल में आगे है और अंग रीजन में लगभग बराबरी का टक्कर दे रहा है। लेकिन वन लाइनर ये है कि बिहार में एनडीए का थम्पिंग मेजोरिटी।

ओपिनियन पोल क्या कहता है?

ओपिनियन पोल के आंकड़े के अनुसार बिहार में एनडीए  भारी बहुमत के साथ सत्ता में फिर से वापसी आ रही है।एनडीए कुल 243 में से 160 सीटों पर चुनाव जीत रही है।  नीतीश कुमार फिर से बिहार के मुख्यमंत्री बन रहे हैं यानि नीतीश सातवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री बनेंगे। लोक सभा चुनाव की तरह ही एनडीए का पूरे बिहार में क्लीन स्वीप। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मोदी मैजिक बरक़रार है। आंकड़ों से ऐसा लगता है कि नीतीश कुमार के खिलाफ जो भी एंटी इंकम्बैंसी फैक्टर था प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मोदी करिश्मा ने सबको पाट दिया।  जहाँ तक यूपीए का सवाल है 243 में से सिर्फ 76 सीटों पर सिमट के रह गई है। आंकड़ों के मुताबिक  यूपीए के सबसे बड़े दल आरजेडी का कोंस्टीटूएंसी फिर से एमवाई के इर्दगिर्द आके रुक गयी है और कांग्रेस पार्टी का अपना अकेला कोई वजूद बचा नहीं है तो ऐसी स्थिति में सवाल उठता  है कि आखिर तेजस्वी यादव करें क्या ? सोचना होगा तेजस्वी यादव को और एमवाई के दायरे से बहार निकलकर अपनी राजनीतिक दुनियां को बढ़ाना होगा नहीं तो ऐसे ही परिणामों का बार बार सामना करना पड़ सकता है।     

आखिर में  ये है TIMES NOW- C-VOTER का  पोल प्रेडिक्सन ना कि असली परिणाम। असली परिणाम के लिए इंतजार करना होगा नवंबर 10 का जब हमें ईवीएम बताएगा कि कौन जीता बिहार: नीतीश कुमार या तेजस्वी यादव?    

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर