राम मंदिर भूमि पूजन : पीले रंग में रंगी जा रहीं अयोध्या की इमारतें,  मेयर ने बताई वजह 

Ayodhya houses painted yellow: अयोध्या की इमारतों को पीले रंग से रंगा गया है। हिंदू संस्कृति एवं आध्यात्म में पीले रंग का खास महत्व होता है। भगवान विष्णु को भी पीतांबर कहा जाता है।

Ayodhya houses painted yellow to recreate the look of 'treta yuga'
अयोध्या की इमारतों को पीले रंग में रंगा गया है।  |  तस्वीर साभार: Times Now

मुख्य बातें

  • अयोध्या में भव्य एवं दिव्य राम मंदिर के भूमि पूजन की तैयारी जोरों पर
  • अयोध्या की इमारतों को पीले रंग में रंगा जा रहा, सजाए जा रहे रास्ते
  • पीले रंग का भारतीय संस्कृति एवं धर्म में विशेष महत्व माना जाता है

लखनऊ : राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए अयोध्या को सजाया और संवारा जा रहा है। कोशिश राम नगरी को 'त्रेता युग' जैसा दिखाने की है। इसके लिए अयोध्या में सड़कों के दोनों ओर स्थित मकानों एवं इमारतों को पीले रंग से रंगा जा रहा है। भव्य एवं दिव्य राम मंदिर के लिए भूमि पूजन एवं शिलान्यास की तैयारियां जोरो पर हैं। कोई कोई कमी न रह जाए इसे सुनिश्चित करने के लिए प्रशासनिक अमला जुटा हुआ है। राम मंदिर के शिलान्यास कार्यक्रम को अद्वितीय एवं अनुपम बनाने के लिए यूपी के संस्कृति विभाग ने भी विशेष तैयारी की है। हिंदू धर्म में पीले रंग का विशेष महात्म्य माना जाता है। भगवान विष्णु को पीतांबर धारी भी कहा जाता है।      

'त्रेता युग की तरह दिखाने का प्रयास'
अयोध्या के मेयर ऋषिकेष उपाध्याय ने बताया, 'अयोध्या की सभी इमारतों, घरों और मुख्य सड़कों को पीले रंग से रंगा जा रहा है। हम अयोध्यान को त्रेता युग की तरह दिखाने का प्रयास कर रहे हैं, जब भगवान राम ने अयोध्या पर शासन किया था।' उपाध्याय ने बताया कि अयोध्या में तीन से 5 अगस्त के बीच एक लाख से अधिक मिट्टी के दिए जलाए जाएंगे। साथ ही पूरे शहर में लाउडस्पीकरों के माध्यम से रामधुन बजाई जाएगी।

Ayodhya

3000 साउंड सिस्टम के जरिए 'राम धुन'
उन्होंने आगे बताया कि दैविक माहौल का वातावरण पैदा करने के लिए अयोध्या में 3000 साउंड सिस्टम के जरिए 'राम धुन' बजाई जाएगी। साथ ही ही इस साउंट सिस्टम का इस्तेमाल निर्देश जारी करने के लिए भी किया जाएगा। किशोर लाल जिनका मकान पीले रंग से रंगा गया है, उनका कहना है, 'मुझे खुशी है कि मेरा घर नए रंग से रंगा जा रहा है। पैसे की कमी के चलते मैं अपने घर की रंगाई-पुताई नहीं करा पा रहा था। अब पूरा इलाका दैवीय रूप जैसा दिख रहा है। मकानों का रंग रूप बदलने से मेरे सभी पड़ोसी काफी खुश हैं।' 

Ayodhya

बनाए जा रहे  1,11,000 लड्डू
अयोध्‍या के मणिराम दास छावनी में लड्डू बनाने का काम जारी है। यहां 1,11,000 लड्डू बनाए जाने हैं, जो 5 अगस्‍त को राम मंदिर निर्माण के लिए आयोजित भूमि पूजन के दौरान चढ़ाए जाएंगे। ये लड्डू भूमि पूजन के दौरान प्रसाद के लिए बनाए जा रहे हैं। शुद्ध घी में बेसन के लड्डू बनाए जा रहे हैं, जो राम लला को चढ़ाए जाएंगे। इन्‍हें स्‍टील के डिब्‍बों में पैक कर रखा जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर का शिलान्यास एवं भूमि पूजन करने के लिए पांच अगस्त को अयोध्या पहुंचेंगे। मंदिर के शिलान्यास के लिए चार धामों के अलावा देश भर की पवित्र नदियों का जल एवं मिट्टी अयोध्या पहुंच रहा है।   
 

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर