Vaishno Devi Stampede:कैसे हुआ वैष्णो देवी भगदड़ हादसा, जांच के लिए दो सदस्यीय कमेटी कटरा पहुंची

जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल के कार्यालय ने ट्वीट में कहा, 'श्री माता वैष्णो देवी तीर्थ क्षेत्र में भगदड़ के कारण लोगों की मृत्यु से बेहद दुखी हूं। मृतकों के परिवारों के प्रति मेरी संवेदना और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।'

Mata-Vaishno-Devi-Stampede Incident Inquiry
कैसे हुआ 'वैष्णो देवी भगदड़ हादसा?' 

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर में माता वैष्णो देवी तीर्थ क्षेत्र में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ के कारण मची भगदड़ में कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई और 12 से ज्यादा घायल हो गए  उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं।भगदड़ बीती रात करीब ढाई बजे मंदिर के गर्भगृह के बाहर गेट नंबर तीन के पास हुई। माता वैष्णो देवी मंदिर जम्मू से करीब 50 किलोमीटर दूर त्रिकुटा पर्वत पर स्थित है।

भगदड़ में 12 लोगों की मौत हो गई और शवों को पहचान के लिए कटरा आधार शिविर के एक अस्पताल में भेजा गया है। उन्होंने बताया कि घायल 15 लोगों को माता वैष्णो देवी नारायण सुपरस्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया है और उनमें से दो लोगों की हालत गंभीर है तथा कुछ लोगों को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई।

सिन्हा ने कहा, 'माननीय गृह मंत्री अमित शाह जी से बात की। उन्हें घटना के बारे में जानकारी दी। भगदड़ की घटना की उच्चस्तरीय जांच का आदेश दिया गया है। प्रधान सचिव (गृह) के नेतृत्व में जांच समिति का गठन किया गया है जिसमें एडीजीपी, जम्मू और संभागीय आयुक्त, जम्मू सदस्य के रूप में होंगे।'

घटना के संबंध में एक श्रद्धालु आदित्य शर्मा ने बताया कि वैष्णों माता के दर्शनों को भक्तों की भारी भीड़ थी और फर्श पर सो रहे कुछ लोग भगदड़ में कुचल गए। अधिकारियों ने बताया कि मृतकों में से आठ की पहचान उत्तर प्रदेश के 30 साल के अरुण प्रताप सिंह, 35 साल के धर्मवीर सिंह, 38 साल के विनीत कुमार और 35 साल की शमता सिंह, 24 साल के दिल्ली के विनय कुमार और 24 साल के सोनू पांडे,38 साल की हरियाणा की ममताऔर जम्मू कश्मीर के राजौरी जिले के 26 साल के देशराज कुमार रूप में हुई है, उन्होंने कहा कि बाकी मृतकों की पहचान अभी नहीं हो पाई है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर