Sweating Indicates these problems : इस तरह पसीना आना है खतरे का संदेश, तुरंत हो जाएं अलर्ट

हेल्थ
श्वेता सिंह
श्वेता सिंह | सीनियर असिस्टेंट प्रोड्यूसर
Updated Jul 16, 2020 | 18:07 IST

Sweating May Indicate Health Problems: पर्याप्त पसीना न आना या फिर अधिक पसीना आना, दोनों ही स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं। अगर ऐसा हो तो तुरंत इसपर ध्यान दें। ये क‍िसी बीमारी का लक्षण भी हो सकते हैं।

Sweating May Indicate Health Problems excessive or no sweating is not a good sign
Sweating May Indicate Health Problems, पसीना बताता है सेहत के राज  |  तस्वीर साभार: Shutterstock

मुख्य बातें

  • शरीर से पसीना आना जरूरी है, इससे सेहत ठीक रहती है
  • अगर पसीने के साथ कुछ खास लक्षण द‍िखें तो तुंरत सावधान हो जाएं
  • पसीने के साथ सीने में दर्द को हल्‍के में न लें, तुरंत डॉक्‍टर के पास जाएंं

पसीना आना एक साधारण प्रक्रिया है। मनुष्य के शरीर में औसतन तीन मिलियन पसीने की ग्रंथियां होती हैं। आमतौर पर गर्मी में लोगों को बहुत अधिक पसीना आता है। कुछ लोगों को इस मौसम में पसीना बहुत कम आता है। आमतौर पर अधिक मेहनत करने वालों को ज्यादा पसीना आता है। कई बार पसीना आने के बाद आपको बहुत तकलीफ होती है। जानें कैसे आपका पसीना आपको हेल्थ अलर्ट भेजता है।

Sweating Problems : इन लक्षणों के साथ पसीना आए तो तुरंत संभलें
पसीना आना साधारण प्रक्रिया है, लेकिन जब यही पसीना कुछ विशेष लक्षणों के साथ दिखाई दे, तो आपको तुरंत संभल जाना चाहिए।

  1. सीने में दर्द के साथ पसीना : अगर आपको बहुत पसीना हो रहा है और साथ में सीने में दर्द भी हो रहा है, तो ये कोई साधारण नहीं है। जैसे ही आपको दोनों एक-साथ दिखे, तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।
  2. पसीने के साथ चक्कर आना : कई बार आपको अचानक से बहुत पसीना आने लगता है। ये तब होता है, जब आपको चक्कर आना होता है। अगर पसीने के तुरंत बाद आपको चक्कर आने लगे, तो तुरंत अपने डॉक्टर को संपर्क करें। कई बार ब्लड प्रेशर कम होने पर आपको ऐसा होता है।
  3. पसीने के साथ जब हो सांस लेने में तकलीफ : पसीना आना अच्छा माना जाता है, इससे शरीर स्वस्थ रहता है, लेकिन जब पसीना अधिक आए और आपको सांस लेने में दिक्कत महसूस हो तो समझ जाइए कि ये पसीना ठीक नहीं है। ऐसे समय में तुरंत अपने फैमिली डॉक्टर से संपर्क करें।
  4. लगातार पसीना आना : कई बार ऐसा होता है कि बिना मतलब के ही बहुत अधिक पसीना आता है। ये साधारण स्थिति नहीं है। ऐसा होने पर आप बिना देर किये अपने डॉक्टर से बात करें और उसके निर्देशानुसार काम करें।  


पसीने से जुड़े अमेजिंग फैक्ट्स
पसीना ज्यादातर पानी से बना होता है, लगभग 1 प्रतिशत। पसीना नमक और वसा का संयोजन होता है। अधिक पसीना आना शारीरिक रूप की तुलना में मनोवैज्ञानिक रूप से अधिक हानिकारक हो सकता है। 

अगली खबर