Almonds Benefits: सूखे या भीगे हुए- कैसे बादाम खाना है ज्यादा बेहतर? जानिए दोनों का सेहत पर असर

Eating Almonds Benefits: आपने बादाम को खाने के अनेक फायदों के बारे में सुना होगा लेकिन क्या आप जानते हैं कि किस तरह से बादाम को खाना ज्यादा फायदेमंद साबित होता है और इसके क्या क्या फायदे हैं?

Raw or Soaked- How to eat Almonds
कच्चे या भीगे हुए- बादाम कैसे खाएं  |  तस्वीर साभार: BCCL

नई दिल्ली: क्या आपने लोगों को यह कहते हुए सुना है कि रात भर भीगे हुए बादाम खाना या इसके उलट कच्चे बादाम खाना बेहतर है? क्या आप इन दोनों बातों में भ्रमित हैं? अगर हां तो हम आज आपसे इस बारे में बात करने जा रहे हैं।

खाने में कुरकुरे और प्रोटीन, फाइबर और ओमेगा 3 से भरपूर, बादाम कई लोगों के पसंदीदा होते हैं। अच्छी बात यह है कि ज्यादातर लोग बादाम के स्वास्थ्य लाभों के बारे में जानते हैं और इसे अपने दैनिक आहार में शामिल करते हैं।

लेकिन हम में से बहुत से लोग यह नहीं जानते हैं कि भिगोने के बाद बादाम में कच्चे बादाम की तुलना में ज्यादा पोषक तत्व और विटामिन शरीर को मिलते हैं।

कच्चे बादाम और भिगोए हुए बादाम:

भीगे और कच्चे बादामों के बीच चयन करना सिर्फ स्वाद की बात नहीं है, बल्कि यह स्वास्थ्य से जुड़ा विकल्प भी है। भीगे हुए बादाम बेहतर होते हैं क्योंकि बादाम के छिलके में टैनिन होता है, जो पोषक तत्वों के अवशोषण को रोकता है। बादाम भिगोने से छिलका उतारना आसान हो जाता है, जिससे नट्स सभी पोषक तत्वों को आसानी से रिलीज़ कर सकते हैं।

भीगे हुए बादाम नरम और पचने में आसान होते हैं, जो एक बार फिर बेहतर तरीके से पोषक तत्व शरीर को पहुंचाने में मदद करते हैं। बादाम को पांच से छह घंटे तक भिगोना काफी है लेकिन कई लोग उन्हें रात भर भिगोना पसंद करते हैं, जो ठीक भी है।

बादाम को भिगोने का सही तरीका: एक कप पानी लें और उसमें एक मुट्ठी बादाम भिगोएं। कप को ढक दें और बादाम को छह से आठ घंटे तक भीगने दें। अगली सुबह, पानी निकाल दें, छिल्के को छीलें। आप इन्हें प्लास्टिक के कंटेनर में भी रख सकते हैं।

बादाम में पोषक तत्व: बादाम विटामिन ई, आहार फाइबर, ओमेगा 3 फैटी एसिड, ओमेगा 6 फैटी एसिड और प्रोटीन जैसे विभिन्न पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। समृद्ध पोषक तत्व प्रोफाइल की वजह से बादाम को सुपरफूड माना जाता है।

इनमें प्रोटीन आपको अधिक समय तक भरा रखने में मदद करता है और इसमें मौजूद मैंगनीज आपकी हड्डियों को मजबूत बनाने और रक्त शर्करा (ब्लड शुगर) को नियंत्रित करने में मदद करता है। यह रक्तचाप (ब्लडप्रेशर) की समस्याओं वाले लोगों के लिए बेहद फायदेमंद हैं और मांसपेशियों व तंत्रिका कार्यों में मदद करते हैं।

भीगे हुए बादाम के फायदे-

पाचन: भीगे हुए बादाम एंजाइम को रिलीज करने में मदद करते हैं, जिसे लाइपेस कहा जाता है जो वसा के पाचन में मदद करता है।

वजन घटाने में मददगार: हम सभी जानते हैं कि बादाम सबसे स्वस्थ मध्य-भोजन स्नैक्स में से एक हैं। बादाम में मौजूद मोनोसैचुरेटेड फैट्स आपकी भूख पर अंकुश लगाते हैं। आप ज्यादा ना खाकर वजन कम कर सकते हैं।

दिल के लिए बेहतर: बादाम खराब कोलेस्ट्रॉल (LDL) को कम करके और अच्छे कोलेस्ट्रॉल (HDL) को बढ़ाकर आपके दिल को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर: बादाम में विटामिन ई एक एंटीऑक्सिडेंट के रूप में काम करता है जो उम्र और सूजन को रोकने वाले मुक्त कण के नुकसान को रोकता है।

अन्य फायदे: बादाम कैंसर से लड़ने में मदद करते हैं क्योंकि वे विटामिन बी 17 से भरपूर होते हैं, जो कैंसर से लड़ने के लिए महत्वपूर्ण है। बादाम में मौजूद फ्लेवोनॉइड ट्यूमर बनने से रोकने में मदद कर सकता है। इतना ही नहीं, बादाम ब्लड शुगर और ब्लड प्रेशर को भी नियंत्रित करने में मदद करता है। बादाम में फोलिक एसिड जन्म दोषों को कम करने में भी मदद करता है।

नोटः इस तरह भीगे हुए बादाम कई मायनों में खास हो सकते हैं लेकिन अगर आपको भिगोकर बादाम खाना अच्छा नहीं लगता है तो आप सूखे बादाम भी खा सकते हैं, ऐसा करने में कुछ गलत नहीं है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर