Singapore:सिंगापुर में बच्चों के लिए बड़ा खतरा बना B1617 कोरोना वायरस स्ट्रेंन, स्कूल किए गए बंद

हेल्थ
रवि वैश्य
Updated May 18, 2021 | 16:36 IST

New COVID Strains Infecting Kids:सिंगापुर में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन बच्चों के लिए ज्यादा खतरनाक साबित हो रहा है, ये न सिर्फ बच्चों को संक्रमित कर रहा है, बल्कि तेजी से फैल भी रहा है।

Singapore Corona News
कोरोना का नया स्ट्रेन बी.1.617 बच्चों पर ज्यादा असर डाल रहा है 

मुख्य बातें

  • सिंगापुर में मुख्य रूप से बच्चों पर हमला करने वाले कोविड -19 मामलों की संख्या में वृद्धि हुई है
  • कोरोना का नया स्ट्रेन बच्चों के लिए कहीं अधिक खतरनाक साबित हो रहा है
  • जूनियर कॉलेज, प्राइमरी एवं सेकेंड्री स्कूलों की पढ़ाई बुधवार से घर से होगी

नई दिल्ली: सिंगापुर (Singapore) में मुख्य रूप से बच्चों पर हमला करने वाले कोविड -19 मामलों की संख्या में वृद्धि हुई है, सरकार की कोविड -19 टास्क फोर्स ने हाल ही में ये घोषणा की नतीजतन स्कूल इस बार अधिक सतर्क रुख अपना रहे हैं। बच्चों में कोविड के मामलों में वृद्धि नए B1617 स्ट्रेंन ( B1617 Coronavirus Strain) का परिणाम है, जिसे डबल-म्यूटेंट वैरियेंट के रूप में भी जाना जाता है जो वयस्कों की तुलना में बच्चों को अधिक प्रभावित कर रहा है गौर हो कि इस साल भारत में पहली बार इस नए स्ट्रेन का पता चला था।

दुर्भाग्य से, नए कोरोनावायरस स्ट्रेन लक्षण-जैसा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भी स्वीकार किया है कि ये हवा में प्रसार होने वाला (Airborne) है, इससे पहले की तुलना में वायरस के तेजी से फैलने का खतरा बढ़ जाता है।

नए कोरोना वायरस मिलने से सिंगापुर में दहशत का माहौल है खास बात यह है कि यह वायरस बच्चों को ज्यादा अपनी चपेट में ले रहा है।

डब्ल्यूएचओ और यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) इस सिद्धांत को स्वीकार करते हैं  वहां के एजुक्शेन मिनिस्टर चान चुन सिंग ने कहा, "हम जानते हैं कि कोविड -19 वायरस के कई नए उपभेद हैं - विभिन्न नए उत्परिवर्तन हैं और इनमें से कुछ उत्परिवर्तन बहुत अधिक विषाणु हैं और वे प्रतीत होते हैं छोटे बच्चों पर हमला करने के लिए।"

"ये बच्चों को ज्यादा अपनी गिरफ्त में ले रहा है"

कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन B1617 पहली बार भारत में मिला है। एजुकेशन मिनिस्टर चान चुन सिंग ने कहा, 'वायरस के नए प्रकार ज्यादा संक्रामक हैं और ऐसा लगता है कि ये बच्चों को ज्यादा अपनी गिरफ्त में ले रहे हैं। यह हम सभी के लिए चिंता की बात है।' हालांकि, शिक्षा मंत्री ने कहा कि नए वायरस से संक्रमित कोई भी बच्चा गंभीर रूप से बीमार नहीं है। चान ने लिखा, 'हम 12 साल से कम उम्र बच्चों को टीका लगाने की योजना पर काम कर रहे हैं।'

B1617 स्ट्रेंन अधिक Virulent

वहीं सिंगापुर सरकार ने कहा है कि भारत में मिला कोरोना का नया स्ट्रेन बच्चों के लिए कहीं अधिक खतरनाक साबित हो रहा है। टास्क फोर्स की सह-अध्यक्षता करने वाले स्वास्थ्य मंत्री ओंग ये कुंग ने कहा, 'पिछले साल से वायरस का व्यवहार नहीं बदला है, (सिर्फ जरूरत के संदर्भ में) एक सुपर स्प्रेडिंग घटना कई लोगों तक फैल गई। यह स्ट्रेन अलग नहीं है, लेकिन यह सच है कि (B1617 Strain) अधिक विषैला (virulent) होता है मूल रूप से, आप एक बहुत ही संक्रामक वायरस को देख रहे हैं।'

सिंगापुर में सुरक्षा को देखते हुए बंद किए स्कूल

सिंगापुर के स्वास्थ्य मंत्री ओंग ये कुंग ने कहा कि भारत मैं मिला कोरोना का नया B1617 स्ट्रेन बच्चों पर ज्यादा असर डाल रहा है, इसकी वजह से सरकार ने प्राइमरी और सेकंडरी लेवल से स्कूलों को बंद करने का निर्णय लिया है, ताकि कोरोना वायरस के प्रसार को रोका जा सके,वहां की अथॉरिटी ने कहा कि जूनियर कॉलेज, प्राइमरी एवं सेकेंडरी स्कूलों की पढ़ाई बुधवार से घर से होगी वैसे स्कूलों में सत्र का समापन 28 मई को होना है।

एएफपी की रिपोर्ट के मुताबिक रविवार को अधिकारियों ने बताया कि स्थानीय स्तर पर संक्रमण के 38 नए केस मिले हैं। यह आंकड़ा पिछले आठ महीनों में सबसे ज्यादा है। संक्रमण के इन 38 केस में एक ट्यूशन सेंटर के कई बच्चे शामिल हैं।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर