Periods Problem: क्या होते हैं देर से पीरियड्स आने के कारण? ये हो सकती है वजह

Periods Problem: महिलाओं में पीरियड्स के देरी से आने का या न आने का एक कारण मेनोपॉज भी होता है। दरअसल, जब महिलाएं 40-45 साल के आस-पास की हो जाती हैं, तो उनके हार्मोन्स में कई बदलाव होते हैं, जिनकी वजह से पीरियड्स आना बंद हो जाते हैं।

Periods Problem
Periods Problem Causes 
मुख्य बातें
  • अधिक स्ट्रेस की वजह से भी पीरियड्स आने में होती है देरी
  • बर्थ कंट्रोल पिल्स से भी अनियमित हो जाता है महावारी चक्र
  • कम या ज्यादा वजन से भी पीरियड्स पर पड़ता है असर

Periods Problem: पीरियड्स महिलाओं में होने वाली एक नियमित प्राकृतिक प्रक्रिया है, जो हर महीने होती है। ऐसे में महिलाएं अपने नियमित पीरियड्स को लेकर बहुत चिंतित होती हैं। कई बार पीरियड्स में देरी होने से महिलाएं टेंशन में आ जाती हैं। पीरियड्स मिस होने की सबसे आम वजह प्रेग्नेंसी होती है, लेकिन जो महिलाएं  प्रेग्नेंसी प्लान नहीं कर रही हैं, यदि उनके पीरियड्स मिस हो जाएं, तो वो परेशान हो जाती हैं। हालांकि, पीरियड्स मिस होने के कई कारण हो सकते हैं। इसलिए पीरियड्स मिस होने पर लापरवाही नहीं करनी चाहिए और अपने डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए। इस लेख में हम आपको बताते हैं पीरियड्स मिस होने के आम कारणों के बारे में-

Also Read: पीरियड्स में हैवी फ्लो से लाइफ हो रही है अस्त व्यस्त, ये टिप्स करेंगे हेल्प

पीरियड्स लेट आने के क्या हो सकते हैं कारण?

बर्थ कंट्रोल पिल्स
कई महिलाएं अनचाही प्रेग्नेंसी को रोकने के लिए बर्थ कंट्रोल पिल्स खा लेती हैं। इसकी वजह से पीरियड्स साइकल अनियमित हो जाता है। इससे कई बार पीरियड्स होने में देरी हो जाती है, तो कई बार ये जल्दी आ जाते हैं।

तनाव
शरीर में आधी से ज्यादा स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं की जड़ तनाव होता है। अधिक तनाव स्वास्थ्य को कई तरह से प्रभावित करता है, इन्हीं प्रभावों में से एक है पीरियड्स का अनियमित होना। दरअसल, ज्यादा सट्रेस लेने से हार्मोन्स गड़बड़ हो जाते हैं, जिससे पीरियड्स आगे-पीछे हो जाते हैं।

मेनोपॉज
महिलाओं में पीरियड्स के देरी से आने का या न आने का एक कारण मेनोपॉज भी होता है। दरअसल, जब महिलाएं 40-45 साल के आस-पास की हो जाती हैं, तो उनके हार्मोन्स में कई बदलाव होते हैं, जिनकी वजह से पीरियड्स आना बंद हो जाते हैं।

Also Read: अनियमित पीरियड्स से हैं परेशान तो यह सरल उपाय करने से होगा लाभ

वजन ज्यादा या कम होना
जरूरत से ज्यादा वजन और जरूरत से कम वजन भी पीरियड्स के अनियमित होने का कारण होता है। दरअसल, वजन शारीरिक स्वास्थ्य को कई तरह से प्रभावित  करता है, जिससे हार्मोन्स में भी बदलाव होते हैं और पीरियड्स में गड़बड़ी हो सकती हैं। ये समस्या अधिकांश कम वजन वालों के साथ होती है।

(डिस्क्लेमर: प्रस्तुत लेख में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल आम जानकारी के लिए हैं और इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जा सकता। किसी भी तरह का फिटनेस प्रोग्राम शुरू करने अथवा अपनी डाइट में किसी तरह का बदलाव करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।)

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर