फ्रोजन या ताजी मटर में से कौन सी है हेल्‍दी ऑप्‍शन, खाने से पहले नोट करें ये जरूरी बातें

ताजी मटर फ्रोजन मटर की तुलना में सेहत के लिए अधिक फायदेमंद होता है। विटामिन, आयरन और मैग्नीशियम से भरपूर यह गंभीर बीमारियों से निजात दिलाने व इनके संक्रमण से दूर रखने में कारगार होता है।

are frozen peas healthy, frozen peas good or bad, are frozen peas good for weight loss, are frozen green peas healthy,  green peas benefits, green peas benefits in hindi, green peas benefits for hair, green peas benefits for skin,
फ्रोजन मटर या हरी मटर कौन सा है फायदेमंद (Pic : iStock) 
मुख्य बातें
  • ताजी मटर फ्रोजन मटर की तुलना में सेहत के लिए अधिक फायदेमंद होता है।
  • एंडी ऑक्सीडेंट से भरपूर मटर रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने के साथ गंभीर बीमारियों से दिलाता है निजात।
  • गर्भवती महिलाओं के लिए ताजी मटर नहीं किसी जड़ी बूटी से कम।

ठंड के दिनों में आलू मटर की सब्जी या मटर का पुलाव लोग बड़े चाव से खाते हैं। मटर ना केवल खाने में स्वादिष्ट होता है बल्कि इसके स्वास्थ्य संबंधी लाभ भी बेमिसाल होते हैं। फाइबर और प्रोटीन से भरपूर यह ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में कारगार होता है। वहीं मटर में सूजन कम करने वाले कई प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट गुण मोजूद होते हैं, जो दिल संबंधी बीमारियों से निजात दिलाने व हार्ट अटैक की संभावना को कम करने में मदद करता है। लेकिन अक्सर लोग मटर को लेकर कंफ्यूज होते हैं कि कौन सी मटर खाएं,  फ्रोजन मटर या हरी मटर? 

हरी मटर केवल ठंड के दिनों में बाजार में मौजूद होती है इसलिए इसे स्टोर करने के लिए लोग फ्रिज में डाल देते हैं, जिसे हम फ्रोजन मटर के नाम से जानते हैं। फ्रोजन मटर को आप सालभर कभी भी इस्तेमाल कर सकते हैं। ताजी मटर फ्रोजन के मुकाबले सेहत के लिए अधिक फायदेमंद होती है। ऐसे में लखनऊ की वेलनेस डाइट क्लीनिक की डाइटीशियन डॉ स्मिता के अनुसार आइए जानते हैं कौन सी मटर खाना सेहत के लिए फायदेमंद है।

थोड़ा सा चलने पर ही क्‍या दुखने लगती हैं टांगें

ताजी मटर के फायदे

ताजी मटर फ्रोजन मटर की तुलना में सेहत के लिए अधिक फायदेमंद होता है। विटामिन, आयरन और मैग्नीशियम से भरपूर यह गंभीर बीमारियों से निजात दिलाने व इनके संक्रमण से दूर रखने में कारगार होता है। आपको बता दें 170 ग्राम मटर के दानों में कैलोरी की मात्रा 62 ग्राम, कार्ब 11 ग्राम, फाइबर 4 ग्राम और प्रोटीन 4 ग्राम होता है। एक अध्ययन के मुताबिक मटर में मौजूद तत्व कैंसर जैसी भयावह बीमारी से लड़ने में मददगार होता है। साथ ही रोजाना हरी मटर का सेवन करने से पेट के कैंसर का खतरा भी कम होता है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता को बनाए मजबूत

एंडी ऑक्सीडेंट से भरपूर मटर रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने के साथ गंभीर बीमारियों के संक्रमण से बचाता है। इसमें मौजूद विटामिन सी आपको मौसमी बीमारियों के संक्रमण से निजात दिलाने और दूर रखने में मदद करती है।

ये 8 संकेत करते हैं आपकी डाइट में गड़बड़ी की ओर इशारा

गर्भवती महिलाओं को भी दे फायदा 

गर्भवती महिलाओं के लिए ताजी मटर किसी जड़ी बूटी से कम नहीं है। इसमें फोलिक एसिड की अधिक मात्रा पाई जाती है, फोलोड्स एक कॉम्पलेक्स विटामिन है। जो गर्भवती महिलाओं के लिए फायदेमंद होता है। हालांकि इससे पहले अपने डॉक्टर से एक बार सलाह अवश्य लें।

ठंड के मौसम में खट्टे फलों का क्‍यों करें सेवन

फ्रोजन मटर

ताजी मटर को फ्रोजन करने के बाद आप इसे महीनों तक इस्तेमाल कर सकते हैं। फ्रोजन मटर ताजी मटर की तुलना में सस्ती होती है इसलिए अधिक पॉपुलर है। वहीं ताजी मटर के मुकाबले यह कम स्वादिष्ट होती है। साथ ही इसमें सोडियम की मात्रा अधिक पाई जाती है इसलिए फ्रोजन मटर की तुलना में ताजी मटर का सेवन अधिक करें।

फ्रोजन मटर का सेवन करना चाहिए या नहीं

मटर केवल नवंबर से फरवरी के बीच बाजार में हरी सब्जी के रूप में उपलब्ध होती है। इसके अलावा मटर खाने के लिए आपको उसे स्टोर करना होगा। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक फ्रोजन मटर का सेवन नहीं करना चाहिए, किसी भी सब्जी को फ्रिज करने से उसके न्यूट्रिएंट्स ताजी सब्जी के मुकाबले कम हो जाते हैं। यदि आपको मटर खाना अधिक पसंद है तो आप महीने में एक या दो बार फ्रोजन मटर का सेवन कर सकते हैं। आइए जानते हैं मटर को फ्रोजन करने का सही तरीका।

ऐसे करें स्टोर

गर्मी के मौसम में मटर का स्वाद चखने के लिए मटर के दानों को अच्छी तरह छील लें, छोटे यानी कच्चे दानों को मोटे दानों से अलग कर दें। क्योंकि छोटे मटर कच्चे होने के कारण जल्दी खराब हो जाते हैं। यदि आप छिलके सहित मटर को स्टोर करना चाहते हैं तो पेपर बैग में लपेटकर मटर को फ्रीजर में रख दें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर