Fitkari in Corona: कोरोना के मरीजों को दी जा रही है फ‍िटकरी के प्रयोग की सलाह, क्‍या है कारगर, कैसे करें उपयोग

सदियों से गले से संबंधित समस्याओं को ठीक करने में फिटकरी का उपयोग किया जाता है। आयुर्वेद में फिटकरी को खास जगह दी गई है। कोरोना आपदा के इलाज में घरेलू नुस्खे के तौर पर फ‍िटकरी को खासा फायदेमंद बताया जा रहा है।

Fitkari ke fayde, fitkari se gale ki kharash kaise theek hoti hai, fitkari ka pani, fitkari in corona, fitkari for sore throat, fitkari for covid, fitkari for corona, phitkari for sore throat, how to use alum for sore throat, फिटकरी के फायदे, फिटकरी का उप
how to use alum for sore throat 

मुख्य बातें

  • आयुर्वेद में गले की खराश और दर्द को ठीक करने के लिए फिटकरी का उपयोग किया जाता है।
  • कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों को ठीक करने में फिटकरी कारगर साबित हो रही है।
  • फिटकरी की मदद से गले और सांस से संबंधित परेशानियों से छुटकारा पाया जा सकता है।

छोटी सी छोटी बीमारियों से लेकर बड़ी से बड़ी समस्याओं को ठीक करने में घरेलू नुस्खे कारगर साबित होते हैं। घरेलू नुस्खे कितने प्रभावशाली और कारगर साबित हो सकते हैं वह अब समझ आ रहा है जब कोरोनावायरस से त्रस्त लोग खुद को बचाने के लिए घरेलू नुस्खों को अपना रहे हैं। एक्सपर्ट्स के अनुसार, कोरोनावायरस का एक लक्षण गले की खराश है जिससे कोरोना से संक्रमित लोग बेहद परेशान रहते हैं।

गले की खराश को घरेलू नुस्खों से भी ठीक किया जा सकता है। इस समय लोग गले की खराश और साथ संबंधित परेशानियों को ठीक करने के लिए फिटकरी का सहारा ले रहे हैं। कई रिपोर्ट के अनुसार यह कहा जा रहा है कि गले की खराश और साथ संबंधित समस्याओं को ठीक करने में फिटकरी सक्षम है। 

पुराना है फ‍िटकरी का प्रयोग, फ‍िटकरी के फायदे 

बहुत पहले से गले की खराश को ठीक करने के लिए लोग फिटकरी के पानी को पीते आ रहे हैं तथा उससे गरारा करते हैं। कोरोनावायरस से ठीक हुए लोग यह दावा करते हैं कि गले और सांस से संबंधित कठिनाइयों से बचाव के लिए फिटकरी सक्षम है।

कोरोना में फ‍िटकरी के उपयोग 

यहां जानिए फिटकरी गले और सांस की समस्या को कैसे ठीक करती है तथा इसका उपयोग कोरोनावायरस को ठीक करने में कैसे किया जा रहा है।

गले और सांस की समस्या को कैसे ठीक करती है फिटकरी?

विज्ञान के अनुसार, फिटकरी लंग्स में मौजूद म्यूकस को कम करती है इसके साथ खांसी के वजह से आ रही उल्टी को भी कंट्रोल करती है। यह भी कहा जाता है कि, फिटकरी का काम गंदगी को साफ करना होता है। जब श्वास नली में म्यूकस जमा हो जाता है तब लोगों को अक्सर सांस लेने में दिक्कतें होती हैं। कभी-कभी गंदगी श्वास नली से चिपक जाती है जिसके बाद वह उससे बेहद पतला बना देती है। फिटकरी का उपयोग करने से यह गंदगी हट जाती है तथा श्वास नली साफ हो जाती है। 

आयुर्वेद में भी गले से संबंधित परेशानियों और खांसी को ठीक करने के लिए फिटकरी का इस्तेमाल किया जाता है। जानकार बताते हैं कि गले की खराश के पीछे छुपे इंफेक्शन को भी ठीक करने में फिटकरी काम आती है।

कोरोना संक्रमित लोग कैसे कर रहे हैं फिटकरी का उपयोग?

कई रिपोर्ट्स सामने आई हैं, जिसमें यह बताया गया है कि कोरोनावायरस से अपना बचाव करने के लिए लोग फिटकरी के पानी का उपयोग कर रहे हैं। इसके साथ, फिटकरी के पानी को अपने नाक में खींच रहे हैं जिससे श्वास नली में मौजूद में गंदगी से छुटकारा पाया जा सके। इसके साथ लोग फिटकरी के पानी से गलाला कर रहे हैं। ‌यह सभी घरेलू नुस्खे कोरोनावायरस को ठीक करने में कारगर साबित हो रहे हैं।

(नोट : ये लेख र‍िपोर्ट्स के आधार पर तैयार क‍िया गया है। इसे कोरोना का इलाज न समझें। पाठकों को सलाह है क‍ि कोरोना इंफेक्‍शन होने पर या इसके लक्षण द‍िखने पर डॉक्‍टर की सलाह पर ही इलाज करें।)

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर