Expert Tips: इन सुपरफूड्स से दूर होगा बांझपन, हार्मोन्ल दिक्क्तें भी होंगी दूर

हार्मोनल असंतुलन से शरीर में कई रोग जन्म लेते हैं। इनफर्टिलिटी इनमें से एक बड़ी समस्या है, लेकिन रुजुता दिवेकर ने कुछ ऐसे सुपरफूड बताए हैं जिसे खाने से इस समस्या से निजात पाया जा सकता है।

Super Foods
Super Foods 
मुख्य बातें
  • फर्टिलिटी बढ़ाने में मेथी बहुत कारगर है।
  • हलीम के बीज खाने से प्रजनन क्षमता बढ़ती है।
  • गोंद के लड्डू शरीर के अंगों में मजबूती लाता है।

नई दिल्ली. प्रेग्नेंसी वैसे भी बहुत जटिल प्रक्रियाओं से भरी होती है इसमें यदि हार्मोनल दिक्कत आ जाए तो समस्या और बढ़ जाती है। हार्मोनल दिक्कत से जहां एक ओर वेट बढ़ना, मूड स्विंग होना या थॉयराइड जैसी दिक्कते तेजी से बढ़ने लगती हैं। 

हार्मोनस की दिक्कत कभी भी किसी को भी हो सकती है। इससे  गर्भ धारण करने में भी बेहद परेशानी का सामना करना पड़ता है।  ऐसे में अपने खानपान में कुछ चीजों को हमेशा शामिल करना चाहिए,जिससे शरीर के हार्मोन्स को बैलेंस रखा जा सके। 

सेलेब्रिटी न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर ऐसे ही कुछ सुरपफूड के बारे में बताया है। ये सुपरफूड हार्मोन्स की समस्या को खत्म करते हैं और ये फर्टिलिटी भी बढ़ाने में बहुत कारगर होते हैं। ये सुपरफूड ऐसे हैं जो प्री और पोस्ट दोनों तरह की प्रेग्नेंसी के लिए बेहद कारगर हैं।  

मेथी के बीज 
एंटीऑक्सिडेंट और आयरन और कोलीन और बायोटिन जैसे पोषक तत्वों से भरे मेथी के बीज शरीर की कई समस्याओं का इलाज होते हैं। पीरियड्स से जुड़ी समस्या में मेथी के बीज को भीगा कर खाना से बेहतर काम करता है। 

ये हार्मोनल डिसबैलेंस को खत्म कर हार्मोन्स को सही तरीके से शरीर में रेग्युलेट करता है। जिन महिलाओं को गर्भ नहीं ठहरता उन्हें रोज भीगे हुए मेथी के दाने सुबह खाने चाहिए। वहीं मेनोपॉज से जुड़ी समस्याओं में भी मेथी बहुत फायदेमंद होती है। यदि आप मेथी खाने से करतराती हों तो उसके लडडू बना लें या सब्जियों में इसका इस्तेमाल बढ़ा दें।  

गोंद के लड्डू 
गोंद के लड्डू स्वाद ही नहीं सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होते हैं। खास बात ये है कि ये हार्मोन्ल डिसबैलेंस को खत्म करने वाले होते हैं।  गोंद, घी और तमाम तरह के नट्स के साथ मिलकर बने ये लड़डू शरीर को अंदर से मजबूती देते हैं और इम्युनिटी को भी बढ़ाते हैं। 

ये शरीर के कमजोर अंगों को मजबूत बनाते हैं। यही कारण है कि डिलीवरी के बाद इस लड्डू को खाना बेहद फायदेमंद होता है। इसे खाने से मां को दूध भी खूब उतरता है। यह हड्डियों और मसल्स को मजबूत बनाता है क्योंकि इसमें प्रोटीन और कैल्शियम काफी मात्रा में होते हैं।

गार्डन क्रेस सीड्स (हलीम के बीज)  
आयरन और फोलेट और कई तरह की विटामिन से भरा गार्डन क्रेस सीड्स या हलीम के बीज सेहत के लिए अमृत समान है खास कर उनके लिए जिनका हार्मोन्ल बैलेंस बिगड़ा हुआ हो। ये बीज उन महिलाओं के लिए भी खास हैं जिनका गर्भ नहीं ठहरता। 

ये आयरन या फोलिक एसिड की कमी को दूर करने में चमत्कारिक तरीके से काम करता है। ये एक नेचुरल फर्टिलिटी  मेडिसिन है। इन बीजों को आप लड्डू या खीर आदि में डाल कर खाएं। ये बीज अनियमित पीरियड्स के साथ-साथ हार्मोनल असंतुलन की समस्या भी दूर कर देंगे।  

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर