बत्‍तख के अंडे कैसे हैं मुर्गी के अंडों से ज्‍यादा फायदेमंद, अंडे खाने से पहले जानें ये जरूरी बातें

वर्षों से यह कहा जाता है कि संडे हो या मंडे रोज खाओ अंडे, लेकिन कौन से अंडा खाना हमारे लिए रहेगा बेहतर - मुर्गी के या बत्‍तख के? यह जानिए इस लेख को पढ़कर।

Duck Eggs vs Chicken Eggs
Duck Eggs vs Chicken Eggs 

मुख्य बातें

  • मुर्गी के अंडे से 50% बड़े होते हैं बत्तख के अंडे
  • बत्तख के अंडे में होते हैं 5 प्रकार के जरूरी प्रोटींस
  • विटामिन बी12 की खान है बत्तख के अंडे

अपनी बॉडी को हेल्दी और फिट रखने के लिए हमें अंडे जरूर खाने चाहिए। अंडों के अंदर मौजूद प्रोटीन और विटामिन हमारे शरीर के लिए बहुत लाभदायक माने जाते हैं। पूरी दुनिया में मुर्गी के अंडों का प्रचलन ज्यादा है, लेकिन बीते कुछ सालों से बत्तख के अंडों को एशियाई देशों में बहुत पसंद किया जा रहा है। बत्तख के अंडों का स्वाद ही नहीं, उसमें मौजूद पोषक तत्व भी मुर्गी के अंडे से बहुत बेहतर है।

आज हम आपके लिए यह लेख लेकर आए हैं जिसको पढ़ कर आप यह जान पाएंगे कि बत्तख के अंडों का सेवन करना मुर्गी के अंडों से ज्यादा फायदेमंद क्यों है।

दिखने के साथ साइज में भी बत्तख के अंडे होते हैं अच्छे

बत्तख के अंडे अपने रंग के वजह से बहुत मशहूर हैं‌। पीले, हरे, नीले, ग्रे और काले शेड के बत्तख के अंडों के सामने साधारण से दिखने वाला मुर्गी का अंडा कुछ नहीं है। इसके साथ बत्तख के अंडे मुर्गी के अंडे से 50% ज्यादा बड़े होते हैं।

मुर्गी के अंडों से ज्यादा टेस्टी होते हैं बत्तख के अंडे

बत्तख के अंडो के अंदर कई प्रकार के प्रोटीन पाए जाते हैं जो फोमिंग और जेलिंग प्रॉपर्टीज के मुख्य कारण है। बत्तख के अंडों के अंदर ओवल्बुमिन नाम का एक प्रोटीन होता है जो फूड इंडस्ट्री में अंडो का टेक्सचर इंप्रूव करने के लिए फूड एडिटिव की तरफ इंहिबिटरी एक्शन दिखाते हैं। इसी वजह से बत्तख के अंडों का टेस्ट ज्यादा क्रीमी होता है।

बत्तख के अंडे हैं प्रोटींस की खान

बत्तख के अंडों के अंदर पांच मुख्य प्रकार के प्रोटीन पाए जाते हैं जो हमारे शरीर के लिए बहुत लाभदायक हैं। इनके अंदर ओवल्बुमिन (40%), ovomucoid (10%), ovotransferrin (2%), ovomucin (3%) और Iysozyme (1.2%) पाए जाते हैं। बाकी अंडों की तुलना में बत्तख के अंडों के अंदर प्रोटीन ज्यादा होता है इसीलिए यह बहुत न्यूट्रिशीयस माने जाते हैं।

फोलेट की मात्रा होती है ज्यादा

प्रेगनेंसी कॉम्प्लिकेशंस, हार्ट डिजीज और कैंसर जैसी बीमारियों के होने के रिस्क को फोलेट या विटामिन बी9 कम करता है। 100 ग्राम बत्तख के अंडे के अंदर 80 माइक्रोग्राम फोलेट पाया जाता है वहीं 100 ग्राम मुर्गी के अंडे के अंदर सिर्फ 47 ग्राम ही फोलेट पाया जाता है‌।

विटामिन बी12 का है अच्छा सोर्स

मुर्गी के अंडे या बाकी एवियन अंडों के मुकाबले बत्तख के अंडे के अंदर जर्दी (egg yolk) ज्यादा होता है। एक शोध के अनुसार यह पता लगाया गया था कि जर्दी के अंदर विटामिन बी12 ज्यादा होता है। इसीलिए ज्यादा जर्दी होने के नाते बाकी अंडों के मुकाबले बत्तख के अंडों के अंदर विटामिन बी12 ज्यादा होता है।

ओमेगा-3 फैटी एसिड बनाता है बत्तख के अंडों को और खास

जर्दी के अंदर फैटी एसिड जैसे  linoleic एसिड बहुत पाए जाते हैं। मुर्गी के अंडों की तुलना में बत्तख के अंडों के अंदर जर्दी ज्यादा होती है, इसीलिए ओमेगा-3 फैटी एसिड भी ज्यादा होता है। यह न्यूट्रिएंट हमारे दिल के स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है साथ में यह शरीर के लिए जरूरी फैटी एसिड की पूर्ति करता है।

बेक करने के लिए बत्तख के अंडे है बेहतर

बत्तख के अंडों के अंदर एल्ब्यूमिन ज्यादा होता है जो उसे बेकिंग के लिए बहुत खास बनाता है। बत्तख के अंडों में फोमिंग प्रॉपर्टीज होती है और उनका रेपिड अबसोर्पशन रेट ज्यादा होता है। बत्तख के अंडे के अंदर फोम ज्यादा स्टेबल होता है और इसमें मौजूद न्यूट्रिशन को ज्यादा तापमान के दौरान हानि भी नहीं पहुंचती है। इसीलिए बत्तख के अंडे बेकिंग के लिए ज्यादा अच्छे माने जाते हैं।

बत्तख के अंडों को संभालना है आसान

बत्तख के अंडों का शेल बहुत मजबूत होता है और यह आसानी से टूटता नहीं है। रूम टेंपरेचर के दौरान अंडे के अंदर मौजूद प्रोटीन इसके शेल लाइफ को और बढ़ाते हैं इसलिए बत्तख के अंडे को संभालना बहुत आसान है।

एलर्जी के दौरान बत्तख के अंडों का चयन है सही

बहुत से लोग ऐसे होते हैं जिन्हें अंडे खाने से फूड एलर्जी हो जाती है। अंडों के अंदर मौजूद ovomucoid इस फूड एलर्जी का मुख्य कारण है, यह प्रोटीन मुर्गी और बत्तख दोनों के अंडों में पाया जाता है। अगर आपको भी इस प्रोटीन से एलर्जी है तो आप बत्तख के अंडे खा सकते हैं‌।

बत्तख के अंडे के अंदर होता है एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टी

एग व्हाइट के अंदर कई ऐसे बैक्टीरिया से लड़ने की क्षमता होती है जो एंब्रियो डेवलपमेंट को हानि पहुंचा सकते हैं। एक शोध के अनुसार यह पता चला था कि मुर्गी के अंडों की तुलना में बत्तख के अंडों के अंदर Salmonella के खिलाफ एंटीमाइक्रोबियल प्रॉपर्टी होती है।

इसीलिए इन सब कारणों की वजह से मुर्गी के अंडे से ज्यादा बेहतर बत्तख के अंडे को माना जाता है।
 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर