Ahoi Ashtami: गर्भवती महिलाएं ऐसे करें अहोई अष्टमी व्रत, होने वाले बच्चे की सेहत पर नहीं पड़ेगा असर

हेल्थ
Updated Oct 20, 2019 | 09:42 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Ahoi Ashtami Fast Pregnant Women: अहोई अष्टमी का व्रत संतान प्राप्ति और संतान की लंबी आयु के लिए रखा जाता है। यह व्रत गर्भवती महिलाएं भी रख सकती हैं। लेकिन उससे पहले किन बातों का ध्‍यान रखें यहां जानें...

Ahoi Ashtami Fast For Pregnant Women
Ahoi Ashtami Fast For Pregnant Women  |  तस्वीर साभार: Getty Images
मुख्य बातें
  • गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को अपनी सेहत का खास ध्यान रखना पड़ता है
  • कुछ महिलाएं अपनी संतान की सुख समृद्धि और दीर्घायु के लिए यह व्रत रखती हैं
  • लंबे समय तक उपवास रखने के कारण पेट में गैस बनने लगती है

आमतौर पर अहोई अष्टमी का व्रत संतान प्राप्ति के लिए रखा जाता है लेकिन अपनी संतान की लंबी आयु के लिए गर्भवती महिलाएं भी यह व्रत रख सकती हैं। लेकिन गर्भवती महिलाओं के लिए अहोई अष्टमी के व्रत के नियम अलग होते हैं। गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को अपनी सेहत का खास ध्यान रखना पड़ता है। इसके अलावा हेल्दी डाइट के साथ अधिक देर तक खाली पेट रहने के लिए भी मना किया जाता है। यही कारण है कि अहोई अष्टमी का व्रत गर्भवती महिलाओं की सेहत के लिए ठीक नहीं होता है।

लेकिन इसके बावजूद कुछ महिलाएं अपनी संतान की सुख समृद्धि और दीर्घायु के लिए यह व्रत रखती हैं। इस वर्ष अहोई अष्टमी 21 अक्टूबर को है। यह व्रत रखने से पहले गर्भवती महिलाओं को डॉक्टर से सलाह ले लेनी चाहिए और कुछ सावधानियां भी बरतनी चाहिए। आइये जानते हैं गर्भवती महिलाओं के लिए अहोई अष्टमी व्रत के नियम क्या हैं।

Pregnancy Risk


गर्भावास्था में व्रत रखने से होती हैं ये परेशानियां 

  • अहोई अष्टमी का निर्जला व्रत रखा जाता है और पूरे दिन कुछ ना खाने से महिलाओं को कमजोरी महसूस होने लगती है। इसके कारण चक्कर और थकान का अनुभव होता है।
  • उपवास के कारण शरीर में पानी की कमी हो जाती है और इससे गला सूखने के साथ ही सिर दर्द भी होने लगता है। व्रत रखने वाली गर्भवती महिलाएं कई बार बेहोश भी हो जाती हैं।
  • लंबे समय तक उपवास रखने के कारण पेट में गैस बनने लगती है और शरीर के विभिन्न अंगों में दर्द और जकड़न महसूस होती है।
  • गर्भावस्था में व्रत रखने से  शरीर में ग्लूकोज की कमी के कारण इंसुलिन घट जाती है और ब्लड प्रेशर भी डाउन हो जाता है। इसकी वजह से महिलाओं को तेज घबराहट होती है।

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Meena ki rasoi (@meena_ki_rasoi) on

 

गर्भावस्था में व्रत रखते समय बरतें ये सावधानियां

  • अगर आप प्रेगनेंट हैं और व्रत रखने वाली हैं तो पूरे दिन खाली पेट रहने की बजाय अन्न को छोड़कर बाकी चीजें जैसे दूध, सूप, फल और जूस का सेवन करते रहें।
  • प्रेगनेंसी में व्रत रखने पर अगर ठंड लगे तो इससे शिशु की सेहत को नुकसान पहुंच सकता है। इसलिए गर्म कपड़ों से पूरे शरीर को ढक कर रखें।
  • गर्भावस्था के दौरान व्रत रखने से अगर मितली, उल्टी या फिर कोई अन्य तरह की परेशानी महसूस हो तो तुरंत दवा ना खाएं बल्कि डॉक्टर के पास जाएं।
  • अगर आप गर्भवती हैं और अहोई अष्टमी का व्रत रख रही हैं तो पूरे दिन पर्याप्त मात्रा में पानी पीते रहें। इससे आपको थकान महसूस नहीं होगी।
  • गर्भावस्था के दौरान व्रत रहने पर पूरे दिन आराम करना चाहिए और अधिक परिश्रम वाला काम करने से बचना चाहिए।
  • प्रेगनेंसी में व्रत रखने पर आयरन युक्त आहार लें। इससे आपको कमजोरी नहीं लगेगी।

गर्भावस्था के दौरान अहोई अष्‍टमी का व्रत टाला भी जा सकता है। व्रत रखने से पहले अच्‍छा होगा कि आप पहले अपने डॉक्‍टर से परामर्श लें और फिर इस ओर कदम बढ़ाएं। 

(डिस्क्लेमर: प्रस्तुत लेख में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल आम जानकारी के लिए हैं और इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जा सकता।) 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर