6 minute walk test: क्‍या है 6 मिनट वॉक टेस्ट, कैसे बताता है ऑक्‍सीजन लेवल, कैसे करें फेफड़ों पर लोड की जांच

कोरोनावायरस का संक्रमण बड़ी तेजी से लोगों के फेफड़े को डैमेज करता है। डॉक्टरों के अनुसार यदि आप सिर्फ 6 मिनट का वॉक टेस्ट हर दिन करें, तो आपका फेफड़ा कितना संक्रमित है, इसका सही पता चल सकता है।

Six-minute Walk Test to Monitor your Health Status, Six-minute Walk Test to Monitor your Health Status in hindi, Six-minute Walk Test to Monitor your Health Status Hindi Article, Covid-19 Six-minute Walk Test to Monitor your Health Status,6 minute walk
6 minute walk test covid procedure in hindi  

मुख्य बातें

  • कोरोनावायरस का संक्रमण बड़ी तेजी से फेफड़े को डैमेज करता है
  • कोरोनावायरस का संक्रमण बड़ी तेजी से फेफड़े को डैमेज करता है
  • 93% से कम ऑक्सीजन लेवल होने पर ही अस्पताल में भर्ती हो, वरना घर में खुद को आइसोलेट रखें

COVID 19 in India : आज पूरा देश कोरोनावायरस महामारी की दूसरी लहर से त्रस्त है। इसकी वजह से हमारे देश में ऑक्सीजन और बेड की कमी होती जा रही है। ऑक्सीजन की कमी होने के कारण लोगों की जान जा रही है। आपको बता दें, कि आंकड़ों के अनुसार हमारे देश में हर दिन लगभग 4 लाख से भी ज्यादा कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं। जिसकी वजह से देश में संपूर्ण लॉकडाउन की स्थिति बनती नजर आ रही है।

एक्सपर्ट्स के अनुसार इस बीमारी में फेफड़े में संक्रमण की समस्या अधिक बढ़ जाने पर सांस लेने में तकलीफ होने लगती है, जिसकी वजह से लोगों की मौत हो जाती है। डॉक्टरों के अनुसार जो व्यक्ति कोरोनावायरस से ग्रसित हैं या पहले ग्रसित थे, उन्हे अपने ऑक्सीजन स्तर को हमेशा जांच करते रहना चाहिए। कोरोनावायरस की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए आप अपने ऑक्सीजन स्तर की सही जानकारी पाने के लिए 6 मिनट की वॉक टेस्ट जरूर करें, तो आइए जाने 6 मिनट का वॉक टेस्ट करने का सही तरीका।

How to do 6 minute walk covid procedure, 6 मिनट वॉक टेस्ट करने का सही तरीका

  1. - अपने शरीर का ऑक्सीजन लेवल सही है या नहीं इसका पता लगाने के लिए अपने तर्जनी उंगली या मध्यमा उंगली में ऑक्सीमीटर लगाएं।
  2. - 6 मिनट के लिए एक समान पर शांति से बैठ जाए।
  3. - 6 मिनट के बाद ऑक्सीजन का स्तर नीचे नहीं जाए, तो आप स्वस्थ स्वस्थ माने जाएंगे।
     

6 minute walk test interpretation

  1. यदि 6 मिनट के बाद आपका ऑक्सीजन स्तर 1 फ़ीसदी या 2 फ़ीसदी कम हो जाए, तो घबराने की कोई बात नहीं है। ऐसे मामले में व्यक्ति को 1 दिन में 1 या 2 बार व्यायाम करना चाहिए।
  2. विशेषज्ञों के अनुसार यदि ऑक्सीजन का स्तर 93% से कम हो जाने पर व्यक्ति में सांस लेने की तकलीफ होने लगती है। ऐसे में व्यक्ति को तुरंत चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए।
  3. डॉक्टरों के अनुसार 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को 6 मिनट के बजाय 3 मिनट का वॉक टेस्ट करना चाहिए। ऐसा करने से आप कितने स्वस्थ हैं और कोरोनावायरस का लोड आपके ऊपर कितना है। इसका पता डॉक्टर को लगाने में सहायता मिलती है।
     

6 minute walk test में क‍िन बातों का रखें ध्‍यान 

  1. टेस्ट करने से पहले हल्का भोजन करें
  2. हल्के और आरामदायक कपड़े और जूते पहनें
  3. चलने के लिए बेंत, छड़ी या वॉकर का इस्तेमाल कर सकते हैं
  4. आप अपनी सामान्य दवाएं ले सकते हैं
  5. टेस्ट के दो घंटे के भीतर व्यायाम न करें

कई शहरों में कोरोनावायरस के बढ़ते रफ्तार को कम करने के लिए सरकार ने लॉकडाउन लगा दिया है। ऐसे में हमें यह पूरा ख्याल रखना है, कि हम बेवजह अपने घर से बाहर ना निकले, हाथों को बार-बार सैनिटाइज करते रहे। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर