Gurugram Toll News: टोल कंपनी के प्रस्ताव को संघर्ष समिति ने किया नामंजूर, 15 किलामीटर की छूट पर अड़े

Gurugram Toll News: घामडौज टोल प्‍लाजा के 20 किलोमीटर के दायरे में आने वाले गांवों के लिए फ्री कराने के मुद्दे पर हो रही बातचीत फिर अटक गई है। टोल एजेंसी द्वारा भेजे गए 5 गांवों को टोल फ्री करने के प्रस्‍ताव को सिरे से खारिज कर समिति ने 15 गांव के दायरे में आने वाले सभी गांवों को टोल फ्री करने का प्रस्‍ताव रखा है।

Gurugram Toll Plaza
घामडौज टोल को मुफ्त कराने की वार्ता विफल   |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • घामडौज टोल प्‍लाजा पर संर्घष समिति और टोल एजेंसी की बातचीत रूकी
  • टोल एजेंसी द्वारा भेजे गए पांच गांव को टोल मुफ्त करने के प्रस्‍ताव को नकारा
  • संर्घष समिति अब 19 जून के बाद आंदोलन की रणनीति करेगी तैयार

Gurugram Toll News: घामडौज टोल प्‍लाजा के 20 किलोमीटर के दायरे में आने वाले गांवों के लिए फ्री कराने पर हो रही बातचीत एक बार फिर से अधर में अटक गई है। घामडौज टोल एजेंसी के द्वारा पांच गांव को टोल शुल्‍क से मुफ्त करने के प्रस्ताव को टोल संर्घष समिति ने नामंजूर कर दिया है। समिति ने इस प्रस्‍ताव के जवाब में टोल से फ्री गांवों के दायरे की सीमा को 20 से कम कर 15 किलोमीटर करने पर सहमति जता दी है, लेकिन टोल एजेंसी के सिर्फ पांच गांव को टोल शुल्क से मुफ्त रखने के प्रस्ताव को सिरे से नकार दिया है। जिसके कारण दोनों पक्षों के बीच हो रही बातचीत फिर से रूक गई।

बता दें कि इस मुद्दे को लेकर शहर की अग्रवाल धर्मशाला में टोल संर्घष समिति की बैठक हुई। सतबीर पहलवान की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में समिति के करीब 30 सदस्य पहुंचे। करीब एक घंटे तक चली इस बैठक में समिति ने विचार-विमर्श कर टोल एजेंसी द्वारा भेजे गए पांच गांवों को टोल शुल्क से फ्री कराने के प्रस्ताव को नामंजूर कर दिया है। समिति ने बताया कि टोल एजेंसी द्वारा किन्हीं पांच गांवों के टोल माफी के लिए नाम मांगें गए थे, लेकिन एजेंसी के प्रस्‍ताव और मांग को बैठक में मौजूद सदस्यों ने नकार दिया है।

19 जून के बाद तैयार होगी आंदोलन की रूपरेखा

बैठक के बाद सतबीर पहलवान ने बताया कि समिति ने आपसी विचार किया है कि, 20 किलोमीटर में आने वाले गांवों की संख्या घटाकर 15 किलोमीटर की जा सकती है, लेकिन सिर्फ पांच गांव का नाम नहीं दिया जाएगा। समिति का कहना है कि नगर परिषद चुनाव के बाद बैठक बुलाकर आंदोलन की रूपरेखा तैयार की जाएगी। यह बैठक 19 जून के बाद किसी भी समय बुलाई जा सकती है। उसी बैठक में आंदोलन को लेकर विचार किया जाएगा। समिति ने कहा कि हमारा लक्ष्‍य टोल से 15 किलोमीटर के दायरे में आने वाले सभी गांवों का टोल माफ करवाना है। इससे कम कुछ भी मंजूर नहीं है। साथ ही समिति ने यह भी कहा कि अब तक नेताओं और प्रशासन से बहुत बातचीत हो चुकी है, अब इनसे अगली बात मांग पूरी होने के बाद ही की जाएगी।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर