Gurugram: ऑनलाइन शराब डिलीवरी के नाम पर कॉल सेंटर में हो रही थी ठगी, 3 गिरफ्तार; जानें- कैसे बनाते थे शिकार?

Gurugram News: गुरुग्राम पुलिस ने एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जो लोगों के साथ ऑनलाइन शराब डिलीवरी के नाम पर ठगी और ब्लैकमेलिंग करता था। इस गिरोह को चलाने वाले तीन आरोपियों को राजस्‍थान के भरतपुर से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के अनुसार यह गिरोह अब तक हजारों लोगों के साथ करोड़ों रुपये की ठगी कर चुके है।

Fake Call Center
शराब डिलीवरी के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़  |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • गिरोह ने भरतपुर में ठगी के लिए खोल रखा था कॉल सेंटर
  • आरोपी शराब घर पहुंचाने के नाम पर करते थे लोगों के साथ ठगी
  • आरोपियों ने पिछले 15 दिन में ही कर ली 25 लाख रुपये की ठगी

Gurugram News: गुरुग्राम पुलिस ने ऑनलाइन शराब डिलीवरी के नाम पर ठगी और ब्लैकमेलिंग करने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ कर तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इन आरोपियों ने लोगों से ठगी करने के लिए बकायदा कॉल सेंटर भी चला रखा था, जिसमें कई लोगों को सैलरी पर रखा हुआ था। पुलिस का दावा है कि ये आरोपी अब तक देशभर में हजारों लोगों के साथ करोड़ों की ठगी कर चुके हैं। पुलिस ने तीनों आरोपियों को कोर्ट में पेश कर पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया है।

साइबर क्राइम थाना (पूर्व) ने इन तीन आरोपितों को राजस्थान के भरतपुर से गिरफ्तार किया है। इन आरोपियों की पहचान आकिब जावेद, तस्लीम खान और साबिर के रूप में की गई। तीनों भरतपुर जिले के गांव जुरहेड़ा के रहने वाले हैं। जांच के दौरान आरोपियों के पास से पुलिस ने 47200 रुपये, चार मोबाइल, बैंक के खाते से पंजीकृत सिम, एटीएम कार्ड के अलावा 13 अन्य सिम भी बरामद की है। पूछताछ में इन आरोपियों ने बताया कि इन्होंने एक शराब ठेकेदार कंपनी के नाम से फर्जी वेबसाइट बना रखी है। इसी वेबसाइट पर शराब की डोर तो डोर डिलीवरी का ऑनलाइन ऑर्डर लेने के बहाने खाते में पैसा ट्रांसफर करवा लेते थे।

सर्विस चार्ज के नाम पर अकाउंट खाली कर देते ये ठग

पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि इसके बाद ये शराब ऑर्डर करने वाले से सर्विस चार्ज के नाम पर 10 रुपये अलग से अदा करने को कहते। इसके लिए ग्राहक को लिंक भेजा जाता, इस लिंक पर जैसे ही क्लिक होता, ये ठग बैंक अकाउंट तक पहुंच बना उसे खाली कर देते। ग्राहक को न तो शराब मिलती और न ही दोबारा फोन का जवाब। 

सेक्सटॉर्शन में भी माहिर

एसीपी-क्राइम प्रीतपाल सिंह ने बताया कि आरोपी सेक्सटॉर्शन में भी माहिर थे। इस कार्य के लिए इन आरोपियों ने 6 लड़कियों को हायर कर रखा था। ये पहले मैसेज भेजकर किसी के साथ दोस्ती करती, फिर रात के समय उसे वीडियोकॉल कर उसे न्यूड होने के लिए उकसाती। इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो रिकॉर्डिंग कर लोगों को ब्‍लैकमेल किया जाता। पुलिस इन आरोपियों तक गुरुग्राम के ही एक व्‍यक्ति के साथ ठगी की शिकायत मिलने के बाद जांच करते हुए पहुंची। पुलिस ने बताया कि इन ठगों ने शराब भेजने के नाम पर शिकायतकर्ता से पांच हजार रुपये ठग लिए थे। पुलिस जांच के अनुसार इन आरोपियों ने पिछले 15 दिनों के भीतर ही लगभग 25 लाख रुपये की ठगी की है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर