उड़ते नहीं कुर्सी पर खड़े रहते थे रामायण के हनुमान Dara Singh, Sunil Lahri ने बताया ऐसे शूट होते थे उनके सीन

Ramayan Hanuman Flying Scene Shooting: सुनील लहरी ने रामानंद सागर की रामायण में हनुमान का रोल निभाने वाले दारा सिंह के किरदार को लेकर नया राज खोला है....

lakshman sunil lahri reveals Dara Singh hanuman in ramayan shooted flying scene on chair watch video
दारा सिंह, अरुण गोविल और सुनील लहरी।  |  तस्वीर साभार: Instagram

मुख्य बातें

  • सुनील लहरी अपने फैन्स के लिए हर दिन रामायण के सीक्रेट लेकर आते हैं।
  • अब रामायण में हनुमान का रोल निभाने वाले दारा सिंह के किरदार को लेकर नया राज खुला है।
  • असल में शूटिंग के दौरान दारा सिंह उड़ते नहीं थे बल्कि कुर्सी या स्टूल पर खड़े रहते थे।

रामायण की शूटिंग से जुड़े राज लगातार रोज लक्ष्मण यानी सुनील लहरी सोशल मीडिया पर खोल रहे हैं। सुनील अपने फैन्स के लिए हर दिन एपिसोड के हिसाब से सीक्रेट लेकर आते हैं। अब सुनील लहरी ने रामानंद सागर की रामायण में हनुमान का रोल निभाने वाले दारा सिंह के किरदार को लेकर नया राज खोला है। कैसे सीरियल में भगवान हनुमान हमेशा इधर से उधर उड़ते नजर आते हैं और हर जगह झट से पहुंच जाते हैं। लेकिन असल में वो शूटिंग के दौरान उड़ते नहीं थे बल्कि उन्हें कुर्सी या स्टूल पर खड़ा कर दिया जाता था। 
जी हां, इसी से जुड़ा एक किस्सा सुनील लहरी ने बताया है। सुनील लहरी बताते हैं कि जब रामायण के लिए हनुमान जी के कंधे पर राम-लक्ष्मण को बैठने का सीन हुआ था वो बहुत ही मजेदार था। इस सीन में वायु मार्ग के जरिए हनुमान जी राम और लक्ष्मण को लेकर जाते हैं। रामायण के इस सीन को करने के लिए क्रोमा का इस्तेमाल किया गया था और फिर स्पेशल इफेक्ट डाले गए थे। 

हनुमान जी को ऐसे दिखाया गया था ऊंचाई पर

हनुमान जी को उड़ता हुआ और ऊंचाई पर दिखाने के लिए उन्हें दो स्टूल पर खड़ा किया गया था। ब्लू क्रोमा और स्टूल पर भी ब्लू कलर चढ़ा दिया गया और फिर इसकी शूटिंग की गई थी। हनुमान जी के बड़े-बड़े हाथ बनाने के लिए भी एक रैंप बनाया गया था। जिस पर चढ़कर राम-लक्ष्मण गए थे और फिर हनुमान जी के कंधे पर बैठे थे। 

अरुण गोविल-सुनील लहरी के लिए अजीब था ये सीन
इस कभी सीन के दौरान सिर्फ इमेजिनेशन थी। सुनील लहरी और अरुण गोविल को कुछ पता नहीं था कि क्या हो रहा था वो  सिर्फ वही फोलो कर रहे थे जो कि कैमरे के पीछे से निर्देश दिए जा रहे थे। शूटिंग के वक्त अरुण और सुनील को ये सीन बड़ा ही अटपटा लगा था लेकिन जब ये एडिट होकर आया तो बहुत ही खूबसूरत दिखा।   

अगली खबर