Ramayan Facts: 'राजा जनक' के बेटे हैं रामायण के 'शत्रुघ्न' समीर राजदा, महाभारत में बने थे उत्तर

Sameer Rajda Facts: रामायण और महाभारत सीरियल के हर एक किरदार को आज तक याद किया जाता है। इनमें से एक शत्रुघ्न का किरदार निभाने वाले एक्टर समीर राजदा। समीर ने महाभारत में भी काम किया है।

Sameer Rajda
Sameer Rajda 

मुख्य बातें

  • रामायण में कई ऐसे एक्टर थे, जिन्होंने महाभारत सीरियल में भी काम किया था।
  • रामायण में शत्रुघ्न का किरदार निभाने वाले एक्टर समीर राजदा ने महाभारत में उत्तर का रोल निभाया था।
  • समीर राजदा मूलराज राजदा के बेटे हैं। मूलराज राजदा ने राजा जनक का किरदार निभाया था।

मुंबई. रामायण और महाभरत के हर किरदार को आज तक याद किया जाता है। रामायण में कई ऐसे एक्टर थे, जिन्होंने सीरियल महाभारत में भी काम किया था। इनमें से एक है शत्रुघ्न का किरदार निभाने वाले एक्टर समीर राजदा। 

समीर राजदा ने रामायण में शत्रुघ्न का किरदार निभाया था। समीर राजदा हिंदी के अलावा गुजराती फिल्मों का बड़ा नाम हैं। रामायण के अलावा समीर उत्तर रामायण में भी नजर आए थे।  समीर एक्टर मूलराज राजदा के बेटे हैं। 

मूलराज राजदा ने रामायण सीरियल में महाराज जनक का किरदार निभाया था। समीर राजदा के पिता मूलराज राजदा का निधन साल 2012 में हुआ था। वह हिंदी और गुजराती फिल्मों के बड़े एक्टर और डायरेक्टर थे।  

ऐसे मिला था शत्रुघ्न का रोल 
रामायण में शत्रुघ्न का रोल पहले सुनील लहरी निभाने वाले थे। हालांकि, शशि पुरी के शो छोड़ने के बाद सुनील को ये रोल मिला था। रामानंद सागर की लाइफ पर आधारित किताब के लॉन्च के मौके में समीर ने कहा था कि पहले उन्हें रिजेक्ट कर दिया गया था।

समीर राजदा ने स्टार प्लस के टीवी सीरियल हमारी देवरानी में भी काम किया था।  इस सीरियल में उन्होंने जयंत नानावटी का किरदार निभाया था। ये किरदार भी लोगों को काफी पसंद आया था। 

महाभारत में बने थे उत्तर 
समीर राजदा ने रामायण के अलावा महाभारत में मत्स्य देश के राजकुमार उत्तर का किरदार निभाया था। रामायण की तरह महाभारत के शुरुआत के एपिसोड उनके पिता मूलराज राजदा ने हस्तिनापुर के कुलगुरु का रोल निभाया था। 

महाभारत में पांडवों के अज्ञातवास के दौरान पहली बार उत्तर का किरदार नजर आया था। उत्तर विराट युद्ध में अर्जुन के सारथी बने थे। इसके बाद उन्होंने महाभारत के युद्ध में पांडवों के पक्ष से युद्ध किया था। युद्ध में मद्र नरेश शल्य ने उनका वध किया था।  
 

अगली खबर