The Girl on the Train: अनसुलझे सवाल और रहस्य भरी कहानी, आखिरी मिनट तक बांधे रखती है परिणीति चोपड़ा की नई फिल्म

Critic Rating:

परिणीति चोपड़ा, अदिति राव हैदरी, कीर्ति कुल्हारी और अविनाश तिवारी की प्रमुख भूमिकाओं वाली मिस्ट्री थ्रिलर फिल्म 'द गर्ल ऑन द ट्रेन' नेटफ्लिक्स पर रिलीज हो चुकी है।

The Girl on the Train film review
द गर्ल ऑन द ट्रेन फिल्म  |  तस्वीर साभार: Instagram
मुख्य बातें
  • रिलीज हुई परिणीति चोपड़ा की नई फिल्म, निभाया पहले बेहद अलग किरदार
  • रहस्य और सस्पेंस से भरपूर है 'द गर्ल ऑन द ट्रेन' की कहानी
  • अदिति राव हैदरी, कीर्ति कुल्हारी और अविनाश तिवारी ने भी छोड़ी छाप

मुंबई: एक अच्छे रहस्य थ्रिलर का एक संकेत यह है कि यह दर्शकों का ध्यान अंत तक खींचे रहती है। एक ऐसी फिल्म जिसे देखते हुए आपका ध्यान कहीं और नहीं जाता है। फिल्म से ब्रेक लेना चाहते हैं, लेकिन कहानी इतनी पेचीदा है कि आप हिल भी नहीं पा रहे हैं। परिणीति चोपड़ा-स्टारर 'द गर्ल ऑन द ट्रेन' कुछ हद तक ऐसा करने में सफल रही है।

जिन्होंने इस पर आधारित किताब पढ़ी है, वह कहानी से कुछ हद तक परिचित होंगे। अगर आप ऐसे व्यक्ति हैं जिसने 2016 की रिलीज़ हॉलीवुड फिल्म नहीं देखी है या किताब नहीं पढ़ी है, तो परिणीति की फिल्म एक दिलचस्प मनोरंजन दे सकती है। यहां तक ​​कि जिन लोगों ने हॉलीवुड फिल्म देखी है, वे रिभु दासगुप्ता के निर्देशन को पसंद करेंगे क्योंकि इसमें कुछ दिलचस्प मोड़ जोड़े गए हैं।

जब फिल्म का ट्रेलर ऑनलाइन सामने आया, तो निश्चित रूप से इसने दर्शकों के बीच उत्सुकता पैदा की। एक परेशान किरदार, एक पेचीदा कहानी और एक हत्या के बारे में कई अनसुलझे सवाल, अपनी ओर ध्यान खींचने में सफल रहे हैं। फिल्म दर्शकों की उत्सुकता अगले स्तर तक ले जाने में सक्षम है।

परिणीति फिल्म में मीरा कपूर का रोल कर रही हैं, एक शराबी तलाकशुदा जो एक वकील के रूप में काम करती है। जब वह एक केस अपने हाथ में लेती हैं, तो उनका आदर्श जीवन उल्टा हो जाता है, जिसके कारण वह और उनका पति (अविनाश तिवारी) एक दुर्घटना का शिकार होते हैं। दुर्घटना के बाद, मीरा को भूलने की बीमारी हो जाती है और वह खूब शराब भी पीने लगती हैं। दूसरी ओर उनका पति, अपने जीवन में आगे बढ़ जाता है।

मीरा नुसरत नाम की एक लड़की ढूंढती है, एक लड़की जिसे वह ट्रेन से अपना आदर्श जीवन जीते हुए देखती हैं। जब नुसरत (अदिति राव हैदरी) गायब हो जाती है तो चीजें काफी बदल जाती हैं और जांच के बाद उसके शरीर को जंगल में मृत पाया जाता है। एक पुलिस अधिकारी की भूमिका निभाने वालीं कीर्ति कुल्हारी मामले की जांच करने के लिए आती हैं और मीरा (परिणीति) का नाम संदिग्धों में शामिल हो जाता है।

तीनों प्रमुख महिलाओं ने शानदार प्रदर्शन किया है और अपने किरदारों में जान फूंकी है। अदिति की भूमिका छोटी लेकिन प्रभावशाली है। परिणीति ने फिल्म में शानदार अभिनय किया है और कीर्ति का किरदार भी उनके ऊपर बिल्कुल फिट बैठता है।

स्क्रीनप्ले और किताब की कहानी बहुत लंबे समय के लिए एक जैसे लगते हैं, लेकिन अंतिम 30 मिनट में चीजें बहुत दिलचस्प हो जाती हैं। एक अप्रत्याशित मोड़ आता है जिसने इसमें नयापन जोड़ दिया। फिल्म में कुछ गाने डाले गए हैं लेकिन इनके बिना भी यह कहानी दिलचस्प हो सकती थी।

कुल मिलाकर, द गर्ल ऑन द ट्रेन एक अच्छी और देखने लायक फिल्म है जो नेटफ्लिक्स पर रिलीज हो चुकी है। सभी कलाकारों ने यह सुनिश्चित किया है कि उनके चरित्र मजबूत और अच्छी तरह से चित्रित हों। ओटीटी प्लेटफार्मों पर हाल ही में रिलीज हुई सभी फिल्मों में से यह फिल्म उभरकर सामने आती है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Entertainment News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर