क्या सेलिब्रिटी होने की सजा भुगत रहे हैं आर्यन खान? समझें केस से जुड़ी बारीकियां

सेलेब्रिटी
अभय कुमार सिंह
Updated Oct 11, 2021 | 19:08 IST

Aryan Khan case: मुंबई में कोर्डेलिया क्रूज शिप पर रेव पार्टी करने और नशीले पदार्थों के इस्‍तेमाल के आरोप में आर्यन खान समेत 7 अन्‍य लोगों को एनसीबी ने हिरासत में लिया था। अभी केस चल रहा है, लेकिन इस दौरान कई सवाल खड़े हो गए हैं।

मुख्य बातें

  • मुंबई के कोर्डेलिया क्रूज शिप पर चल रही थी रेव पार्टी
  • शाहरुख खान के बेटे को एनसीबी ने किया था गिरफ्तार
  • आर्यन खान के पास से बरामद नहीं हुआ नशीला पदार्थ

Aryan Khan drugs cruise case: 2 अक्टूबर से शुरू हुई एक कहानी को समझते हैं। मुंबई में कोर्डेलिया क्रूज शिप पर रेव पार्टी, बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख के बेटे की उसमें मौजूदगी, हिरासत-गिरफ्तारी-जेल और एनसीबी के पक्ष और विपक्ष में आए तरह-तरह के दावों से जुड़े फैक्ट्स की बात करते हैं। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो यानी एनसीबी इस पूरे केस में नशीले पदार्थ को जब्त करने से लेकर आर्यन खान के अरेस्‍ट को बॉलीवुड से जोड़ते हुए इसके तार बड़े इंटरनेशनल रैकेट से जुड़े होने की बात कर रही है। लेकिन इसी बीच एजेंसी के कामकाज के तरीकों, दावों और केस के पॉलिटिकल एंगल को लेकर कुछ सवाल उठ रहे हैं, जो इस प्रकार है। 

  • 1 क्या आर्यन खान केस में NCB हाइपर एक्टिव है?
  • 2 क्या NCB हर इंडीविजुअल केस को ऐसे ही हैंडल करती है?
  • 3 मुंद्रा बंदरगाह से 2,988 किलोग्राम हेरोइन जब्त होने के मामले में सन्नाटा क्यों?
  • 4 छापेमारी के दौरान NCB ने बाहरी तत्वों को इतनी छूट क्यों दी?
  • 5 NCP के आरोप गलत हैं तो कोई एक्शन क्यों नहीं?

बॉलीवुड मामले में हाइपरएक्टिव है NCB?

अब इन सारे सवालों और उसके पीछे के तर्क को एक के बाद एक समझते हैं। इस कहानी की शुरुआत से पहले नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो का ट्रैक रिकॉर्ड देखिए। एनसीबी का नाम भले ही गुजरात के मुंद्रा बंदरगाह से 2,988 किलोग्राम हेरोइन जब्त होने के मामले में आपने न सुना हो, लेकिन सुशांत सिंह राजपूत, रिया चक्रवर्ती के कथित ड्रग मामलों में एजेंसी खूब सुर्खियों में आई थी। भारती सिंह का मामला आपको याद होगा और अब आर्यन खान की गिरफ्तारी के मामले में भी एनसीबी खूब सुर्खियां बटोर रही है। मतलब कि जो एनसीबी इंडीविजुअल ड्रग केस में सामान्य तौर पर इनवॉल्व नहीं होती वो बॉलीवुड से जुड़े मामलों में हाइपर एक्टिव हो जाती है। इस केस में भी कई गिरफ्तारियां हुईं हैं लेकिन फोकस पर हैं- बॉलीवुड सुपरस्टार के बेटे आर्यन।खैर,इस रेव पार्टी केस में अबतक हुआ क्या क्या है, क्रोनोलॉजी समझते हैं-

2 अक्टूबर को अचानक खबर आती है कि मुंबई से गोवा जा रही एक क्रूजशिप में रेव पार्टी चल रही है। कुछ ही देर बाद शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान का नाम सोशल मीडिया में तैरने लगता है और तरह-तरह की अटकलें लगाई जाने लगती हैं। ऐसा कहा जाता है कि एनसीबी को ये टिप मिली थी कि इस क्रूज पर रेव पार्टी होने वाली है, फिल्मी स्टाइल में पार्टी वाले कपड़ों  में एनसीबी के ऑफिसर क्रूज पर दाखिल होते हैं और बाकियों के बीच में घुलमिल जाते हैं और फिर रंगे हाथ पकड़ लेते हैं। यहां से इन्हें कुछ मात्रा में चरस, कोकीन, एमडीएमए जैसे प्रतिबंधित नशीले पदार्थ मिलते हैं। 

3 अक्टूबर को एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े खुद कंफर्म करते हैं आर्यन खान को हिरासत में लिया गया है। साथ ही उनके दोस्त अरबाज मर्चेंट भी हिरासत में हैं, मुनमुन धमेचा, नुपुर सारिका, इस्मीत सिंह, मोहक जसवाल, विक्रांत छोकर, गोमित चोपरा के भी हिरासत में होने और पूछताछ की बात कही जाती है। आर्यन समेत सभी आरोपियों के फोन सीज कर लिए जाते हैं। 3 अक्टूबर को ही दोपहर में एनडीपीएस एक्ट की कई धाराओं में आर्यन समेत 8 आरोपियों की गिरफ्तारी की पुष्टि होती है,आर्यन की तरफ से कहा जाता है कि कोई भी नशीला पदार्थ उनसे बरामद नहीं हुआ है तो एनसीबी की तरफ से वॉट्सअप चैट से सबूत हासिल करने और छापेमारी जारी होने का दावा करते हुए एक दिन की रिमांड मांगी जाती है। आर्यन भी एक दिन की रिमांड के लिए राजी होते दिखते हैं। 

4 अक्टूबर को कोर्ट आर्यन, अरबाज और मुनमुन को  सात अक्टूबर के लिए एनसीबी की हिरासत में भेज देता है। एनसीबी ने 11 अक्टूबर तक और हिरासत में भेजे जाने का अनुरोध करती है और तर्क था कि केंद्रीय एजेंसी नशीले पदार्थों का इस्तेमाल करने वालों और आपूर्तिकर्ताओं के बीच सांठगांठ का पता लगाना चाहती है और सभी गिरफ्तार आरोपियों का एक दूसरे से आमना-सामना कराना चाहती है।

सवालों के घेरे में ये चीजें 

आर्यन खान के पास से कोई नशीला पदार्थ बरामद नहीं हुआ है। कोर्ट में उनके वकील सतीश मानशिंदे ने ये भी बताया कि जब छापेमारी की जा रही थी, तब आर्यन खान एनसीबी अधिकारियों से दूर नहीं भागे थे और उन्हें उनकी तलाशी लेने की अनुमति दी थी। लेकिन एनसीबी का दावा था कि छापेमारी चल रही है और यहां एक नया एंगल आ गया कि आर्यन के वॉट्सएप चैट में आपत्तिजनक चीजें मिली हैं। तो यहां एक बात साफ करते हैं कि आर्यन के पास से तो कुछ नहीं मिला लेकिन वॉट्सअप चैट से एनसीबी का दावा था कि आर्यन के चैट से ये पता लगता है कि  नशीले पदार्थो की खरीद के लिए किए जाने वाले भुगतान के तरीकों पर चर्चा कर रहा है। एनसीबी की ओर से पेश अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल अनिल सिंह ये भी कहते हैं कि मर्चेंट के पास से छह ग्राम चरस, जबकि धमेचा से पांच ग्राम गांजा बरामद किया गया। आर्यन की तरफ से बताया गया कि क्रूज पर उन्हें इनवाइट किया था और उनके पास से कोई नशीला पदार्थ बरामद नहीं हुआ है और किसी और के पास से हुआ है तो आर्यन का इसमें लेना देना नहीं है।
खैर, कोर्ट कमोबेश एनसीबी के पक्ष में फैसला सुनाता है और 7 अक्टूबर तक कस्टडी बढ़ा दी गई।

7 अक्टूबर को कोर्ट ने एनसीबी की रिमांड बढाने की मांग वाली याचिका को खारिज कर दिया ये कहते हुए कि  बचाव पक्ष के वकीलों की दलील है कि एजेंसी को अब तक की गई जांच का ब्यौरा देना चाहिए जोकि उसके द्वारा दायर रिमांड आवेदन में दिखाई नहीं पड़ती है। इसी के साथ कोर्ट ने सभी आठ आरोपियों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया।अगले दिन आर्यन, मर्चेंट और मुनमुन की जमानत याचिका पर सुनवाई होती है।
आर्यन की तरफ से फिर दलील दी जाती है कि उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला है, जिससे कोई षड्यंत्र साबित हो सके। उन्होंने कहा, ‘‘क्योंकि मेरा परिवार प्रभावशाली है, केवल इस आधार पर यह नहीं कहा जा सकता कि मैं सबूतों से छेड़छाड़ करूंगा।’’इस बीच, मर्चेंट के वकील तारक सईद ने दलील दी कि एनसीबी ने उनके पास से मात्र छह ग्राम चरस कथित रूप से बरामद की है और उनका किसी अन्य आरोपी से कोई संबंध नहीं है।
अदालत ने दलीलें सुनने के बाद जमानत याचिकाएं केवल यह कहते हुए खारिज कर दीं कि ये सुनवाई योग्य नहीं है।।।।। मतलब कि आर्यन खान को जेल जाना पड़ता है।

इस बीच कुछ ऐसा होता है कि पूरे केस को एक नया मोड़ भी मिलता है और पूरे मामले में साजिश का एंगल और एनसीबी पर सवालों की बौछार भी शुरू होती है। दरअसल, आर्यन की गिरफ्तारी के वक्त दो चेहरे खूब चर्चा में थे एक वो जो आर्यन के साथ सेल्फी लेते वायरल हुआ था और दूसरा वो जो अरबाज मर्चेंट को पकड़कर एनसीबी के ऑफिस में ले जा रहे हैं। सेल्फी वाले शख्स की पहचान केपी गोसावी के तौर पर हुई है जो न तो कोई एनसीबी ऑफिसर है या कर्मचारी और वो हिरासत में बैठे आर्यन के साथ मस्त बैठे सेल्फी ले रहा है। वहीं दूसरा ये शख्स जो मर्चेंट को लेकर जा रहा है वो हैं मनीष भानुशाली।अब एनसीपी नेता और महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक सामने आते हैं और कुछ वीडियो और तस्वीरें जारी कर आर्यन खान के इस पूरे मामले को बीजेपी की साजिश करार देते हैं।

इस दावे के समर्थन में वो कहते हैं केपी गोसावी एक फ्रॉड है जिसपर धोखाधड़ी का केस दर्ज है तो मनीष भानुशाली बीजेपी का पदाधिकारी है, नवाब मलिक पूछते हैं कि आखिर एनसीबी के साथ मिलकर ये बीजेपी के लोग काम क्यों कर रहे हैं? आखिर इन्हें किसी को पकड़कर लाने की इजाजत किसने दी। सवालों पर एनसीबी की तरफ से जवाब आता है कि ये लोग एनसीबी के विटनेस थे। और इनके अलावा भी कुछ विटनेस थे जिनकी मदद छापेमारी के वक्त ली गई थी। वहीं मीडिया से बातचीत में मनीष भानुशाली कहते दिखते हैं कि उनके पास केस की डिटेल आ रही थी तो वो एनसीबी की मदद कर रहे थे। अपडेट दे रहे थे।

नवाब मलिक के दावों से आया नया मोड़

नवाब मलिक का एक और बड़ा आरोप है कि  छापेमारी के दौरान क्रूज  से शुरू में 11 लोगों को हिरासत में लिया था, लेकिन उनमें से तीन को कुछ घंटे बाद छोड़ दिया था, जिसमें बीजेपी नेता मोहित भारतीय के एक रिश्तेदार रिषभ सचेदवा भी शामिल थे।मलिक का दावा है कि  प्रतीक गब्बा और आमिर फर्नीचरवाला - जो बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को क्रूज पार्टी में लाये थे, को हिरासत में लिये जाने के दो घंटे बाद सचदेवा के साथ छोड़ दिया गया था। मलिक ने दावा किया, ‘‘ऋषभ सचदेवा के पिता और रिश्तेदार एनसीबी ऑफिस आए और सचदेवा के पिता के फोन से वानखेड़े और मुंबई और दिल्ली में बीजेपी नेताओं के बीच बातचीत हुई।’’उन्होंने सवाल किया, ‘‘इन तीन व्यक्तियों के फोन क्यों नहीं जब्त किए गए?’’


खैर, इन सभी सवालों के बीच अब तक इस मामले में 19 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है कुछ ड्रग पैडलर्स के निशाने पर होने का दावा है और शाहरुख के ड्राइवर से पूछताछ हो चुकी है। शाहरुख खान बेटे पर लग रहे आरोपों पर शालीनता बनाए हुए हैं। हर मामले के ट्रोलवीर बिना आरोप साबित हुए सोशल मीडिया पर भी नई-नई कहानियां गढ़ रहे हैं और हैशटैग ट्रेंड करा रहे हैं। इन सबके बीच सवाल यही बना हुआ है कि रेव पार्टी में पाए जाने के अलावा आर्यन खान के बेटे का कसूर ये भी है कि वो सुपरस्टार शाहरुख के बेटे हैं।।। वो शाहरुख जिन्हें पहले भी अलग-अलग वजहों से निशाना बनाया जा चुका है, ट्रोल किया जा चुका है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Entertainment News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर