आत्महत्या से एक रात पहले सुशांत सिंह राजपूत ने की थी पार्टी! बंद थे बिल्डिंग के CCTV कैमरे

Sushant Singh Rajput Investigation: सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के डेढ़ महीने बाद इस मामले में कई खुलासे हो रहे हैं। सुशांत ने अपनी आत्महत्या के एक रात पहले अपार्टमेंट में पार्टी रखी थी।

Sushant Singh Rajput
Sushant Singh Rajput 

मुख्य बातें

  • सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले में एक नया मोड़ आया है।
  • सूत्रों के मुताबिक आत्महत्या से एक रात पहले सुशांत सिंह राजपूत ने अपने अपार्टमेंट में पार्टी की थी।
  • सुशांत की पार्टी में कई बड़ी हस्तियां और एक राजनेता का बेटा भी शामिल हुआ था।

मुंबई. सुशांत सिंह राजपूत की आत्हत्या के लगभग डेढ़ महीने के बाद पुलिस कई लोगों से पूछताछ हो रही है। ताजा रिपोर्ट के मुताबिक सुशांत ने मौत से एक दिन पहले एक पार्टी की थी। इसमें कई बड़े नाम शामिल थे। 

Times Now को सूत्रों ने बताया है कि सुशांत सिंह राजपूत ने आत्महत्या से पहले एक पार्टी रखी थी। वहीं, एक राजनेता जो मंत्री भी हैं, उनका बेटा भी उसी अपार्टमेंट था। इस दौरान बिल्डिंग के सीसीटीवी काम नहीं कर रहे थे। 

सूत्रों के मुताबिक सुशांत की इस पार्टी में बहस भी हुई थी, जिसके बाद वह ये पार्टी छोड़कर चले गए थे। ऐसे में संभावना है कि मुंबई पुलिस इस मामले में राजनेता को बचाने की कोशिश कर रही है। वहीं, सुशांत इस पार्टी के बाद ऑनलाइन गेम भी खेल रहे थे।  

दोस्त ने कही ये बात 
सुशांत सिंह राजपूत के फैमिली फ्रेंड निलोतपल मृणाल ने Times Now से बातचीत में कहा है- 'अगर सुशांत के फ्लैट कोई पार्टी हुई थी तो अभी तक इसे सील क्यों नहीं किया गया। उस फ्लैट को अभी तक सिर्फ खाली कराया गया है।' 

निलोतपल ने कहा कि- 'मैं चार दिन पहले फ्लैट पर गया था। मैंने बिल्डिंग के चौकीदार से बात की थी, जो वहां पर 27 साल से काम कर रहा है। उसने मुझसे कहा कि कोई पार्टी नहीं हुई थी, लेकिन मैं नहीं कह सकता कि वह सही है या नहीं। बिल्डिंग के अंदर तीन सीसीटीवी थे।'

मायावती ने की सीबीआई जांच की मांग 
बीएसपी की नेता मायावती ने इस केस में सीबीआई जांच की मांग की है। मायावती ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा- 'बिहार मूल के युवा बालीवुड अभिनेता सुशान्त सिंह राजपूत की मौत का मामला रोज नए तथ्यों के उजागर होने व उनके पिता द्वारा पटना पुलिस में एफआईआर दर्ज कराने से लगातार गहराता जा रहा है।' 

मायावती आगे लिखती हैं- 'महाराष्ट्र व बिहार पुलिस द्वारा होने से बेहतर है कि प्रकरण की जांच सीबीआई ही करें।' आपको बता दें कि सीबीआई जांच की मांग के लिए दाखिल याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया है।  

अगली खबर