Profit Mania:निवेश धोखाधड़ी मॉड्यूल का भंडाफोड़, कम समय में बहुत अधिक रिटर्न देकर फंसाते थे

क्राइम
मोहित ओम
मोहित ओम | Senior correspondent
Updated Oct 17, 2021 | 15:39 IST

Investment fraud module:जालसाजों ने प्रभावशाली लोगों के वीडियो भी इंस्टाग्राम अकाउंट पर अपलोड किए ताकि अपनी पहुंच बढ़ाई जा सके और अंजान निवेशकों को भी आकर्षित किया जा सके।

Profit Mania
निवेश धोखाधड़ी मॉड्यूल का भंडाफोड़ 

दिल्ली पुलिस को साइबर सेल Cypad ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है जो इंस्टाग्राम पर फर्जी एकाउंट के जरिये लोगो को उनके पैसे तीन गुना करने का ऑफर देकर उनके साथ जालसाजी करता था। पुलिस ने मुख्य आरोपी समेत एक नाबालिग और एक महिला को पकड़ा है। इनके अलावा इनके साथ जुड़े अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है। इन जालसाजों ने पिछले कुछ महीनों में अपने बैंक खातों में 12 लाख रुपये से अधिक जमा किए है।

ये पूरा गैंग राजस्थान के छाबड़ा बारां से चल रहा था। पुलिस इस मामले में देवेंद्र चौधरी नाम के मुख्य आरोपी को राजस्थान से गिरफ्तार किया है। उसकी पत्नी को भी बंधक बनाया है और एक नाबालिग को भी पकड़ा है।

'Profit_mania' नाम से एक लिंक इंस्टाग्राम पर आया

CyPAD में, एक शिकायत मिली थी जिसमें शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया था कि इंस्टाग्राम पर सर्फिंग करते समय उसको 'Profit_mania' नाम से एक लिंक इंस्टाग्राम पर आया जिसमें लोगों के साथ बाइनरी ट्रेडिंग करने के स्क्रीनशॉट दिखाए गए थे। शिकायतकर्ता ने पेज पर दिए कांटेक्ट डिटेल्स में जाकर बात की, वहां उसकी बात दीपक साहू नाम के शख्स से हुई जिसने शिकायतकर्ता को कुछ ही समय में तीन गुना पैसा बनाने के बहाने निवेश करने के लिए प्रेरित किया। 

जब शिकायतकर्ता उनकी स्कीम में इच्छुक हो गया तब उसे एक QR कोड दिया गया जो देवेंद्र के नाम से था, पीड़ित ने उसे स्कैन करके इंस्टाग्राम पर भेजा। उसके बाद, इंस्टाग्राम पेज के ओनर ने उसके संदेशों का जवाब देना बंद कर दिया और उसने पाया कि उसके साथ धोखा हुआ है।

इस धोखाधड़ी के अन्य पीड़ितों की भी पहचान की जा रही है

पुलिस ने शिकायत पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी और टेक्निकल सर्विलांस के जरिए मामले की छानबीन करनी शुरू की तो पता चला कि शिकायतकर्ता के 12 लाख रुपए आरोपी देवेंद्र चौधरी के खाते में जमा हुए थे। नाबालिग उस इंस्टाग्राम अकाउंट का खाताधारक था जो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म-इंस्टाग्राम पर अंजान व्यक्तियों के साथ चैट करता था और निवेश के नाम पर भुगतान स्वीकार करने के लिए अलग-अलग यूपीआई आईडी या क्यूआर कोड साझा करता था, पुलिस ने उसे भी पकड़ा है इस धोखाधड़ी के अन्य पीड़ितों की भी पहचान की जा रही है।
 
यह आजकल देखा जा रहा है कि भारत के विभिन्न हिस्सों से कई धोखेबाज काम कर रहे हैं, यानी क्रिप्टो माइनिंग के नाम पर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म / इंटरनेट जैसे फेसबुक, इंस्टाग्राम, यूट्यूब, टेलीग्राम आदि पर इन्वेस्टमेंट स्किम को व्यापक रूप से प्रचारित करते है /डिजिटल करेंसी/बाइनरी ट्रेडिंग/ऑनलाइन बेटिंग/ऑनलाइन गेमिंग के जरिए लोगो को कम समय में निवेश को कई गुना करने का वादा करता है।

निवेश करने से पहले दो बार सोच लें

 Dcp Cypad केपीएस मल्होत्रा ने लोगो से अपील की है कि  किसी भी निवेश योजना का आंखों पर पट्टी बांधकर निवेश न करें। किसी भी ऐसे पोस्ट पर न जाने से बचे जिसे सेलिब्रिटी या  प्रभावित करने वालों लोगो ने पोस्ट किया हो क्योंकि जालसाज फर्जी तरीके से नामी लोगो की फ़ोटो लगाकर लोगो तक अपनी पहुंच बनाते है निवेश करने से पहले दो बार सोच लें। 

'किसी अन्य निवेश धोखाधड़ी का शिकार हुआ है तो वो तुरंत मामले की सूचना दें'

साथी ही डीसीपी केपीएस मल्होत्रा का कहना है कि यदि कोई व्यक्ति इस धोखाधड़ी (Instagram Account- "Profit_mania") या इस तरह किसी अन्य निवेश धोखाधड़ी का शिकार हुआ है तो वो तुरंत मामले की सूचना अपने नजदीकी पुलिस थाने में दें या www.cybercrime.gov.in पर रिपोर्ट करें (ऑनलाइन रहें, जागरूक रहें और सुरक्षित रहें।)

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर