दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में सेक्सटॉर्शन गिरोह, इस तरह पकड़ में आए आरोपी

दिल्ली समाचार
मोहित ओम
मोहित ओम | Senior correspondent
Updated Oct 16, 2021 | 19:55 IST

यह गैंग अपनी प्रोफाइल पिक्चर में बड़े और नामी अधिकारियों की फोटो लगाकर लोगों को गुमराह करते थे

Delhi Crime News, Hi-Tech Criminals Network, Sextortion, Extortion, Delhi Crime Latest, Pornographic Content
दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में सेक्सटॉर्शन गिरोह, इस तरह पकड़ में आए आरोपी  
मुख्य बातें
  • दिल्ली पुलिस साइबर सेल ने सेक्सटॉर्शन के मामले में एक शख्स को गिरफ्तार किया है।
  • इसकी गिरफ्तारी से 2 केस और 9 शिकायतें सुलझाने में सफलता मिली है।
  • फेसबुक और व्हाट्सएप के जरिए फर्जी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज कर करते थे एक्सटॉर्शन

स्पेशल सेल की साइबर क्राइम यूनिट CyPAD ने राजस्थान के भरतपुर से चल रहे सेक्सटॉर्शन में शामिल एक रैकेट का भंडाफोड़ किया है। भरतपुर राजस्थान के रहने वाले हकमुद्दीन (24 साल) को गिरफ्तार किया है। CyPAD में, एक शिकायत प्राप्त हुई थी जिसमें शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया था कि उसे फेसबुक पर एक फ्रेंड रिक्वेस्ट मिली थी और उसका व्हाट्सएप नंबर मांगा था। कुछ समय बाद, उन्हें व्हाट्सएप पर अश्लील सामग्री के साथ वीडियो कॉल आया। इसके बाद, उसे यौन सामग्री वाले खुद का एक मॉर्फ्ड वीडियो मिला। आरोपियो ने वीडियो इंटरनेट पर अपलोड नहीं करने की एवज एम पैसे की मांग करना शुरू कर दिया, डर के कारण शिकायतकर्ता ने इस गैंग के ठगों को 1,96,000/- रु का भुगतान किया था। पुलिस ने इस शिकायत पर मामला दर्ज कर जांच शुरू की।

तकनीकी जांच के जरिए आरोपी तक पहुंची पुलिस
पुलिस ने इस मामले टेक्निकल जांच शुरू कर की और पाया कि शिकायतकर्ता को फोन करने के लिए इस्तेमाल किए गए मोबाइल फोन नंबर असम से लिए गए थे और राजस्थान के भरतपुर में इनका इस्तेमाल किए जा रहा था। राजस्थान के भरतपुर में इस तरह के गैंग काफी सक्रिय है और  यह भरतपुर में इन एक्टिव गैंग का सबसे आम तौर-तरीका है। ये गैंग ज्यादातर ऑनलाइन धोखाधड़ी और सेक्सटॉर्शन के मामलों में शामिल हैं। पुलिस ने इस मामले आरोपियों के उन बैंक खातों पता लगाया जिनमे जबरन वसूली का पैसा जमा किया गया था और इनकी पूरी मनी ट्रेल का पता लगाया।


हाईटेक तरीके से गैंग अपराध को देता था अंजाम

Cypad की टीम ने मनी ट्रेल और सोशल मीडिया के एकाउंट्स की टेक्निकल जांच के बाद आरोपी हकमुद्दीन की पहचान की साथ उसके गांव के रहने वाले उसके तीन सहयोगी की और पहचान कर की।  आरोपी हकमुद्दीन को के खिलाफ U/s 419/420/384 IPC के तहत केस दर्ज किया गया। पुलिस को जांच में पता चला कि हकमुद्दीन के खिलाफ स्पेशल सेल ने एक अन्य मामले में भी इसको गिरफ्तार किया था। Cypad की टीम ने इसकी गिरफ्तारी से 2 केस और 9 शिकायतें वर्कआउट की है।। फिलहाल हकमुद्दीन के 3 साथी पुलिस की पकड़ से बाहर है जिनको पकड़ने के लिए लगातार रेड की जा रही है।

राजस्थान से आरोपियों का संबंध
भरतपुर राजस्थान से चलने वाले गिरोह के लिए एक आम तरीका बन गया है ये लोग आम लोगो को लड़की के नाम पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजते है और एक बार जब व्यक्ति ने फेसबुक इनकी रिक्वेस्ट एक्सेप्ट कर लेते है तो ये उन लोगो के साथ व्हाट्सएप पर चैट करना शुरू कर देते है और कुछ समय बाद वे लोगो से अश्लील चैट करना शुरू कर देते है और उसके बाद उनके वीडियो रिकॉर्ड कर के उनसे सेक्सट्रोशन शुरू कर देते है।

 
दिल्ली पुलिस साइबर सेल के डीसीपी KPS मल्होत्रा ने आम जनता से अपील की है कि सोशल मीडिया पर किसी भी अनजान लड़की/लड़के की फ्रेंड रिक्वेस्ट स्वीकार न करें। इस तरह के सोशल मीडिया संचार करते समय बहुत सतर्क रहने की जरूरत है और ऐसे कॉलर्स का शिकार नहीं होना चाहिए। यदि कोई व्यक्ति इस तरह की जबरन वसूली का शिकार होता है, तो उसे तुरंत मामले की सूचना अपने नजदीकी पुलिस थाने में देनी चाहिए या www.cybercrime.gov.in पर रिपोर्ट करनी चाहिए।

Delhi News in Hindi (दिल्ली न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर