दिल्ली पुलिस ने ऐसे गैंग का किया पर्दाफाश, विदेश से आने वाले लोगों को बनाते थे निशाना

क्राइम
मोहित ओम
मोहित ओम | Senior correspondent
Updated Oct 11, 2021 | 13:05 IST

दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे गैंग का पर्दाफाश किया। जो विदेश के आने वाले लोगों का निशाना बनाकर लूट की वारदात को अंजाम देते थे।

Delhi Police bust such gang, that used to target people coming from abroad
दिल्ली विदेश आने वाले लोगों को लूटने वाले गैंग का पर्दाफाश 

दिल्ली पुलिस ने ऐसे गैंग का पर्दाफाश किया है। ये गैंग विदेश से लौट आए लोगों को निशाना बनाते थे और उनके साथ लूट की वारदात को अंजाम देते थे इनके निशाने पर ज्यादातर मिडिल ईस्ट गल्फ कंट्री से लौट रहे लोग होते थे। दिल्ली पुलिस इंटर स्टेट क्राइम ब्रांच की टीम में ने 9 अक्टूबर को एक केस रजिस्टर किया है जिसमे राकेश कुमार नाम के एक शख्स ने शिकायत दी थी कि उसके साथ कुछ लोगो ने रेल का टिकट दिलाने के नाम पर उसके साथ लूटपाट की घटना को अंजाम दिया। ये घटना उस वक्त हुई जब वो गल्फ से भारत लौटे थे और इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर टैक्सी लेने गए थे उसी दौरान इन गैंग के लोगों ने इनसे संपर्क साधा और इन्हें रेल टिकट देने के बहाने अपना शिकार बनाया।

दरअसल ये गैंग खाड़ी देशों से लौटे उन लोगों को अपना निशाना बनाते थे जो मजदूर तबके के कम पढ़े लिखे होते थे और अपने घरों की जिम्मेदारी के चलते विदेशो में मजदूरी का काम करते थे। ये गैंग एयरपोर्ट पर प्रीपेड टैक्सी बूथ के पास एक्टिव रहते थे और जो लोग वहां टैक्सी लेने के लिए आते ये उन्हें टारगेट कर के उन्हें रेल टिकट, दिल्ली दर्शन, होटल दिलाने के बहाने अपने शिंकजे में फांस कर इनके साथ लूटपाट की घटना को अंजाम देते थे।

विदेश से लौटे लोग एयरपोर्ट से भारत में अपने गंतव्य स्थान जाने के लिए टिकट की तलाश करते थे, तब यह लोग अपने सक्रिय गैंग की मदद से इन लोगों से संपर्क में आते थे। आर के आश्रम में इस गैंग का ऑफिस भी है यहां पर लोगों को रेल टिकट दिलाने के लिए ले जाते थे।

पहले ये झांसे में आए लोगों से इंडियन करेंसी में पेमेंट लेते और इनको अगले दिन टिकट देने के लिए बुलाते हैं और उस दौरान इनको होटल में रुकवाने का जिम्मा भी इनका होता और इसके लिए यह अलग से पेमेंट लेते थे। गैंग के तय समयानुसार जब लोग टिकट लेने के लिए पहुंचते हैं तब यह इनसे विदेशी रकम की मांग करते और ऐसा ना देने पर इन को बंदी बना लेते और उनके पासपोर्ट छीन लेते थे और पीड़ित लोग इनको इनकी मनमाफिक रकम नहीं देते तब तक ये उन पर जायदती करते रहते।

डीसीपी क्राइम ब्रांच मोनिका भारद्वाज ने बताया कि पिछले कुछ महीनों में इस गैंग ने ऐसे अनगिनत लोगों को अपना शिकार बनाया है। इस गैंग का सरगना सुल्तान कश्मीरी फिलहाल पुलिस की पकड़ से बाहर है लेकिन पुलिस ने इसके 4 साथी शिवम तिवारी, आशुतोष गिरी, सौरभ सिंह और आदर्श वर्मा को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने इनके पास से विदेशी मुद्रा (10 हजार दीनार और 5 हजार रियाल) भी बरामद किए है। फिलहाल पुलिस इस गैंग के सरगना की तलाश में है और 4 आरोपियों दो दिन की पुलिस रिमांड पर है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर