Rashtravad: हिंदुस्तान में 'तालिबानी गैंग', भारत में तालिबान वाली 'आजादी' किसे चाहिए?

Rashtravad: 'राष्ट्रवाद...देश से बढ़कर कुछ नहीं' कार्यक्रम में बात हुई कि आखिर क्यों देश में कुछ लोग तालिबान का गुणगान कर रहे हैं। भारत में तालिबान वाली 'आजादी' किसे चाहिए?

rashtravad
राष्ट्रवाद...देश से बढ़कर कुछ नहीं 

'राष्ट्रवाद...देश से बढ़कर कुछ नहीं' में बात अपने ही मुल्क के उन लोगों की जिन्हें हिंदुस्तान में रहकर तालिबान वाली आजादी चाहिए। उसी तालिबान वाली आजादी जिसकी वजह से अफगानिस्तान में कोहराम मचा है। अफगानिस्तान में तालिबान ने पूरा कब्जा कर लिया है। दुनिया तमाशबीन बनी हुई है। लेकिन अपने यहां हिंदुस्तान में आतंकी तालिबानी राज की तारीफ भी हो रही है। हिंदुस्तान का खाने वाले कुछ मुट्ठी भर लोग तालिबान की तारीफ में कसीदे पड़ रहे हैं। अफगानिस्तान का नामोनिशान मिटाने वाले तालिबान के कब्जे को आजादी का नाम दे रहे हैं। जैसे आतंक को पालने वाले पाकिस्तान के पीएम इमरान खान का बयान है वैसा ही बयान भारत के इन लोगों का है:

पीस पार्टी के प्रवक्ता शादाब चौहान तालिबान के अफगानिस्तान पर कब्जा करने पर बधाई दे रहे हैं। उन्होंने ट्वीट किया, 'तालिबान को शुभकामनाएं कि उन्होंने शांतिपूर्ण तरीके से सत्ता को हासिल किया...उम्मीद है कि वह एहकाम ए इलाही निजाम ए मुस्तफा का राज कायम करेंगे जिसमें किसी भी नागरिक के साथ भेदभाव नहीं होगा सबको न्याय मिलेगा हम शांति और न्याय के पक्षधर हैं।'

राष्ट्रवाद में आज के सवाल

भारत में तालिबान वाली 'आजादी' किसे चाहिए?
आतंक फैलाने वाले तालिबान का समर्थन क्यों?
जब खाते हिंदुस्तान का हैं तो गाते तालिबान का क्यों हैं?
हिंदुस्तान के स्वतंत्रता संग्राम को तालिबान से क्यों जोड़ा? 

तालिबान राज पर कौन क्या बोला

भारत सरकार तालिबान के साथ संवाद करे 
असदुद्दीन ओवैसी, अध्यक्ष, AIMIM 

अफगानिस्तान में आतंक मचाने वाले तालिबानियों में दो भारतीय शामिल
शशि थरूर, कांग्रेस सांसद

सीमा पार आतंकवाद की स्थिति को नियंत्रण करने में भारत आत्मनिर्भर
प्रह्लाद जोशी, केंद्रीय मंत्री

अफगानिस्तान के मसले पर चुप्पी तोड़ें प्रधानमंत्री मोदी
रणदीप सुरजेवाला, प्रवक्ता, कांग्रेस 

कांग्रेस और तालिबान एक सिक्के के दो पहलू
रामेश्वर शर्मा, विधायक, बीजेपी 

अफगानिस्तान में तालिबान राज

1. काबुल से 130 भारतीय वापस आए
2. अफगानिस्तान से भारतीय राजदूत भी लौटे
3. आईटीबीपी के करीब 100 जवान भारत के लिए रवाना
4. काबुल हवाई अड्डे पर हवाई यात्रा फिर से शुरू हुई
5. तालिबान का अफगानिस्तान के हथियारों और हेलीकॉप्टर पर कब्जा
6. काबुल से भारतीयों को निकालने का मिशन और तेज हुआ
7. रूस ने तालिबान के राज में काबुल को ज्यादा सुरक्षित बताया
8. बाइडेन ने अफगानिस्तान के हालात के लिए अशरफ गनी को जिम्मेदार बताया
9. चीन ने अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना की वापसी को जल्दबाजी बताया
10. चीन ने अफगानिस्तान में तालिबान सरकार को मान्यता दी
11. फेसबुक ने तालिबान को आतंकी संगठन माना, बैन लगाया 
 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर