31 साल का भारतीय क्रिकेटर विदेशी लीग में दिग्‍गजों को सिखाएगा 'क्रिकेट की बारीकियां'

Malolan Rangarajan in CPL: तमिलनाडु के पूर्व ऑलराउंडर मालोलान रंगराजन को सीपीएल टीम सेंट किट्स एवं नेविस पैट्रियोट्स ने उन्हें रणनीतिक और सहायक कोच के तौर पर नियुक्त किया है।

malolan rangarajan with mentor shankar basu
मालोलान रंगराजन अपने मेंटर शंकर बासू के साथ  |  तस्वीर साभार: Twitter

मुख्य बातें

  • मालोलान रंगराजन को सीपीएल में कोचिंग करने का मौका मिला
  • रंगराजन को सेंट किट्स एवं पैट्रियोट्स ने रणनीतिक व सहायक कोच के तौर पर नियुक्‍त किया
  • 31 साल के रंगराजन ने कहा कि कोचिंग करना दिलचस्‍प चुनौती होगी

चेन्नई: तमिलनाडु के पूर्व ऑलराउंडर मालोलान रंगराजन खुद को भाग्यशाली मानते हैं कि अपने करियर के शुरू में ही उन्हें आगामी कैरेबियाई प्रीमियर लीग (सीपीएल) में कोचिंग करने का मौका मिला और वह 18 अगस्त से शुरू होने वाले टूर्नामेंट में काफी कुछ सीखने के लिये तैयार हैं। सीपीएल टीम सेंट किट्स एवं नेविस पैट्रियोट्स ने उन्हें रणनीतिक और सहायक कोच के तौर पर नियुक्त किया है। 

31 साल के रंगराजन ने कहा, 'मैं भाग्यशाली हूं कि मुझे यह मौका मिला, यह मेरे कोचिंग करियर के इतने शुरू में है। मैं बहुत उत्साहित हूं। इस समय कोचिंग करना दिलचस्प चुनौती होगी और मैं इसके लिये तैयार हूं।' उत्तराखंड से खेलने के बाद रंगराजन पिछले साल रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के स्काउटिंग प्रमुख बने थे।
अब वह कोविड-19 महामारी के बीच सीपीएल के लिये कैरेबियाई सरजमीं की यात्रा करने का इंतजार कर रहे हैं। इस आफ स्पिनर ने 47 प्रथम श्रेणी मैचों में 136 विकेट हासिल किये और 1379 रन बनाये थे।

पहली बार करेंगे कोचिंग

उन्होंने कहा, 'मैं कोचिंग की भूमिका पहली बार ले रहा हूं और मुझे अच्छा काम करने की उम्मीद है। मुझे उम्मीद है कि मैं लीग में कोचों और खिलाड़ियों से सीखूंगा जिसमें काफी बड़े नाम शामिल हैं।'

रंगराजन ने कहा कि सीपीएल अधिकारियों ने मौजूदा महामारी को ध्‍यान रखते हुए सख्‍त प्रोटोकॉल लागू किए हैं। इस दौरान विश्‍व में खेल गतिविधियों पर बुरा असर पड़ा और यात्रा पाबंदियां भी लगी हैं। उन्‍होंने कहा, 'खिलाड़‍ियों, अधिकारियों और अन्‍य स्‍टेकहोल्‍डर्स की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सीपीएल ने अपने प्रोटोकॉल बनाए हैं। यह देखना मजेदार होगा कि कैसे टीमें स्थिति के साथ सामंजस्‍य बैठाती हैं।' रंगराजन ने कहा कि करियर के शुरूआती दिनों में उनका ध्‍यान खेल के तकनीकी चीजों पर था और संभवत: वह इसी वजह से कोचिंग में आए हैं।

सचिन तेंदुलकर हैं आदर्श

तमिलनाडु के पूर्व ऑलराउंडर मालोलान रंगराजन ने बताया था कि उन्‍होंने महान बल्‍लेबाज सचिन तेंदुलकर को देखकर क्रिकेट खेलना शुरू किया था। उन्‍होंने कहा था, 'मेरे क्रिकेट खेलने के पीछे की सिर्फ एक वजह है सचिन तेंदुलकर। मैं उनका बहुत बड़ा फैन हूं।' इसके अलावा रंगराजन टीम इंडिया के पूर्व ट्रेनर शंकर बासू को अपना मेंटर मानते हैं। वह अपने ट्विटर अकाउंट के जरिये कई बार बता चुके हैं कि शंकर बासू को अपना मेंटर मानते हैं और इसलिए खेल की तकनीकी चीजों को जल्‍दी समझते हुए कोचिंग में उतर गए हैं।

अगली खबर