IPL 2020: चेन्नई सुपर किंग्स में सुरेश रैना की जगह ले सकते हैं ये खिलाड़ी 

आईपीएल 2020 के आगाज से 20 दिन पहले व्यक्तिगत कारणों का हवाला देकर स्वदेश लौटने वाले धाकड़ बल्लेबाज सुरेश रैना के विकल्प को लेकर अटकलें लगने लगी हैं। जानिए कौन से खिलाड़ी ले सकते हैं रैना की जगह।

Suresh Raina
सुरेश रैना( साभार CSK)  |  तस्वीर साभार: Twitter

मुख्य बातें

  • व्यक्तिगत कारणों का हवाला देकर आईपीएल 2020 के आगाज से पहले स्वदेश लौटे सुरेश रैना
  • टीम के सबसे अनुभवी खिलाड़ी के विकल्प की सीएसको को करनी होगी तलाश
  • इन खिलाड़ियों को नाम पर सुरेश रैना के विकल्प के रूप में हो सकता है विचार

दुबई: चेन्नई सुपर किंग्स के धाकड़ बल्लेबाज सुरेश रैना टीम के अंदर कोरोना की दस्तक पड़ते ही पारिवारिक कारणों का हवाला देकर स्वदेश लौट आए। वो पूरे सीजन सीएसके के लिए अनुपलब्ध होंगे। रिपोर्ट्स के मुताबिक रैना आईपीएल 2020 के लिए लागू किए गए जैव सुरक्षित वातावरण के मद्देनजर बनाए गए प्रोटोकॉल से तालमेल नहीं बैठा पाए और उन्हें लगातार होटल के कमरे में बगैर किसी से मिले रहने में घुटन महसूस हो रही थी। 

वहीं पठानकोट में उनके फूफा की हत्या और बुआ की हालत गंभीर होने की वजह भी उनके अचानक भारत वापस लौटने के कारणों के रूप में सामने आई हैं। सुरेश रैना ने दुबई से वापस गाजियाबाद पहुंचने के बाद आईपीएल 2020 से हटने को लेकर दैनिक जागरण से बातचीत करते हुए कहा कि बच्‍चों से जरूरी कुछ नहीं है। 

ऐसे में अब सवाल उठ रहे हैं कि आईपीएल इतिहास के सबसे अनुभवी और दूसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले रैना के बदले टीम में किस खिलाड़ी को शामिल किया जाएगा। हालांकि सीएसके को रैना के बदले किसी अन्य खिलाड़ी को टीम में शामिल किए जाने को लेकर जल्दबाजी नहीं है लेकिन उसकी नजरें संभावित विकल्प की तलाश में जुट गई हैं। ऐसे में चार खिलाड़ी नजर आ रहे हैं जिन्हें चेन्नई सुपर किंग्स अपने दल में रैना की जगह शामिल कर सकती है। 

मनोज तिवारी:
घरेलू क्रिकेट में बंगाल के लिए खेलने वाले मनोज तिवारी को रैना के विकल्प के रूप में टीम में शामिल किया जा सकता है। घरेलू क्रिकेट के सीनियर खिलाड़ियों में शामिल तिवारी ने साल 2017 में राइजिंग पुणे सुपर जायंट्स की सफलता में अहम भूमिका अदा की थी। इसके बाद वो किंग्स इलेवन पंजाब के लिए भी अगले सीजन पांच मैच खेल सके थे। हालांकि दिसंबर 2019 में हुई नीलामी में उन्हें कोई खरीदार नहीं मिला था लेकिन रैना की घर वापसी उनके लिए एक बार फिर आईपीएल के दरवाजे खोल सकती है। 

तिवारी ने टीम इंडिया के लिए 12 वनडे और तीन टी20 मैच खेले हैं। उनके पास आईपीएल और टी20 क्रिकेट खेलने का अच्छा खासा अनुभव है। रैना की तरह तिवारी भी पार्ट टाइम स्पिनर हैं और वो गेंदबाजी में भी अपने हाथ जरूरत पड़ने पर दिखा सकते हैं। उनकी गेंदबाजी एक्शन भी केदार जाधव जैसा है। अब तक आईपीएल में खेले 98 मैच में वो 1695 रन बना चुके हैं। 

यूसुफ पठान: 
राजस्थान रॉयल्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए खेलते हुए खिताबी जीत हासिल करने वाले ऑलराउंडर यूसुफ पठान को दिसंबर में हुई नीलामी में खरीदार नहीं मिला था। पठान रैना की तरह मध्यक्रम में बल्लेबाजी नहीं कर पाते हैं लेकिन जरूरत पड़ने पर ऊपरी क्रम में बल्लेबाजी करते हुए तेजी से रन बनाने की क्षमता उनके अंदर है। हो सकता है कि सीएसके के साथ जुड़ने का उन्हें मौका मिलता है तो उनकी भूमिका में धोनी टीम की जरूरत के अनुसार बदलाव कर सकते हैं। 

यूसुफ को आईपीएल में खेलने का अच्छा खासा अनुभव है। वो साल 2007 और 2011 में धोनी की कप्तानी में विश्व कप जीतने वाली टीम के सदस्य भी रहे हैं। यूसुफ पठान के पास 274 टी20 मैच का अनुभव है और इस दौरान उन्होंने 139.34 के स्ट्राइक रेट से 4852 रन बना चुके हैं। साल 2018 और 2019 में वो सनराइजर्स हैदराबाद के सदस्य रहे हैं लेकिन उन्हें 2020 के सीजन के लिए कोई खरीदार नहीं मिला था। 

विनय कुमार:
अगर चेन्नई की टीम विनय कुमार को रैना की जगह टीम में शामिल करने का निर्णय लेती है तो यह कई लोगों के लिए चौंकाने वाला फैसला हो सकता है लेकिन ऐसा करके सीएसके की टीम एक तीर से दो शिकार करना चाहेगी। विनय कुमार के टीम में आने से कोरोना संक्रमित दीपक चाहर का विकल्प टीम को मिल जाएगा। विनय अनुभवी खिलाड़ी हैं। विनय घरेलू क्रिकेट के सफल कप्तानों में से एक हैं और 105 आईपीएल मैच में 105 विकेट लेच चुके हैं। करियर में खेले 181 टी20 मैच में उन्होंने 194 विकेट लेने के साथ-साथ 861 रन भी बनाए हैं। 

ध्रुव शौरी:
ध्रुव शौरी को भी सीएसके की टीम रैना की जगह टीम में शामिल कर सकती है। इसकी सबसे बड़ी वजह उनकी टीम को लेकर समझ है। शौरी साल 2018 में खिताब जीतने वाली सीएसके की टीम के सदस्य रह चुके हैं। वो साल 2019 में भी सीएसके के सदस्य थे लेकिन 2020 के लिए उन्हें रिलीज कर दिया गया था। 28 वर्षीय शौरी को 2020 के लिए हुई नालामी में कोई खरीदार नहीं मिला था। शौरी लाल गेंद की क्रिकेट के माहिर खिलाड़ी हैं लेकिन वो व्हाइट बॉल क्रिकेट में भी अपना लोहा मनवा चुके हैं। साल 2018 में सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में उन्होंने कोलकाता में बंगाल और बड़ौदा के खिलाफ लगातार दो अर्धशतक जड़े थे। शौरी रैनी की तरह एक अच्छे फील्डर भी हैं। 

IPL(आईपीएल) 2020 से जुड़ी सभी अपडेट Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर