'मैं वो कप्तान नहीं, जो किसी के पीछे डंडा लेकर भागूं': रोहित ने खिताबी जीत के बाद ये क्या कहा..

मुंबई इंडियन्स को अपनी कप्तानी में आईपीएल 2020 का खिताब जिताने के बाद रोहित शर्मा ने इशारों-इशारों में बड़ी बात कह दी। जानिए विराट ने अपनी कप्तानी को लेकर क्या कहा?

Rohit Sharma
रोहित शर्मा( साभार IPL/BCCI)  |  तस्वीर साभार: Twitter

मुख्य बातें

  • रोहित शर्मा ने अपनी कप्तानी के तरीके के बारे में कही बड़ी बात
  • सूर्यकुमार यादव के रनआउट होने पर स्वीकार की अपनी भूल
  • राहुल चाहर को फाइनल में नहीं खिलाने के बारे में कही बड़ी बात

दुबई: रोहित शर्मा की कप्तानी वाली मुंबई इंडियन्स ने मंगलवार को दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए आईपीएल 2020 के फाइनल में दिल्ली कैपिटल्स को पांच विकेट से मात देकर पांचवीं बार खिताब पर कब्जा कर लिया। टॉस हारकर लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुंबई इंडियन्स की टीम ने जीत के लिए मिले 157 रन के लक्ष्य को रोहित शर्मा की 68 रन की पारी की बदौलत 8 गेंद शेष रहते हासिल कर लिया। 
 

पहली गेंद से शुरू किया जीत का प्रयास
पांचवीं बार अपनी कप्तानी में टीम को खिताब जिताने के बाद रोहित शर्मा ने खुशी व्यक्त करते हुए कहा कि टूर्नामेंट में जीत की आदत बनाये रखना उनकी टीम के लिए महत्वपूर्ण था जिसमें वो सफल रही और वो बतौर कप्तान पूरे सीजन में टीम के प्रदर्शन से खुश हैं। उन्होंने कहा, 'जिस तरह से पूरे सत्र में हमारी टीम ने प्रदर्शन किया उससे मैं बहुत खुश हूं। मैंने टूर्नामेंट के शुरू में कहा था कि हमें जीत की आदत बनाये रखने की जरूरत है। हम इससे अधिक की उम्मीद नहीं कर सकते थे। हमने पहली गेंद से अपने प्रयास शुरू किये और फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा। सहयोगी स्टाफ को भी बहुत श्रेय जाता है।'

मैं ऐसा कप्तान नहीं...
रोहित ने आगे कहा, 'मुझे खिलाड़ियों से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करवाने के लिये उचित संतुलन तलाशना था। मैं उन कप्तानों में नहीं हूं जो खिलाड़ियों के पीछे पड़ा रहे। उनमें आत्मविश्वास भरना महत्वपूर्ण है। क्रुणाल, हार्दिक और पोलार्ड लंबे समय से अपनी भूमिका निभा रहे हैं और वे जानते हैं कि उन्हें क्या करना है।'

चाहर का नहीं खिलाना रणनीतिक फैसला
मुंबई इंडियन्स ने फाइनल में राहुल चाहर को अंतिम एकादश में नहीं रखा और रोहित ने इसे रणनीतिक फैसला बताया। उन्होंने कहा, 'राहुल आज नहीं खेल पाया और ऐसे में यह सुनिश्चित करना जरूरी था कि वह यह समझे कि उसने कुछ गलत नहीं किया और यह रणनीतिक चाल थी। हमने यह भी सुनिश्चित किया कि सूर्यकुमार यादव और इशान किशन पूरे आत्मविश्वास के साथ खेलें।' राहुल चाहर की जगह जयंत यादव को खिलाने का फैसला मुंबई के लिए फायदेमंद साबित हुआ और जयंत ने 4 ओवर में 25 रन देकर शिखर धवन जैसे खिलाड़ी का विकेट लेकर अपनी उपयोगिता साबित की। 

मुझे कुर्बान करना चाहिए था अपना विकेट 
कप्तान रोहित शर्मा को आउट होने से बचाने के लिए फॉर्म में चल रहे युवा खिलाड़ी सूर्य कुमार यादव ने अपना विकेट कुर्बान कर दिया। इसपर प्रतिक्रिया देते हुए हिटमैन ने कहा, 'वह जिस तरह की फार्म में है मुझे उसके लिये अपना विकेट गंवाना चाहिए था। लेकिन पूरे टूर्नामेंट में उसने बेहतरीन बल्लेबाजी की।' सूर्यकुमार यादव जब आउट हुए थे तब मुंबई का स्कोर 10.5 ओवर में 90 रन था और टीम को जीत के लिए 67 रन बनाने थे। लेकिन यादव के आउट होने के बाद रोहित ने जिम्मा संभाला और टीम को जीत के मुहाने तक पहुंचाकर आउट हुए। 

IPL(आईपीएल) 2020 से जुड़ी सभी अपडेट Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर