#BoycottIPL, चीनी स्‍पॉन्‍सर देख आगबबूला हुए फैंस, जवानों की याद दिलाकर ऐसे निकाली भड़ास

#BoycottIPL: आईपीएल 2020 की तारीखों की घोषणा से जहां क्रिकेट फैंस का एक तबका खुश है, वहीं आईपीएल द्वारा चीनी स्‍पॉन्‍सर को बरकरार रखने से कुछ फैंस बहुत निराश हैं। फैंस ने आईपीएल नहीं देखने की धमकी दी है।

boycott ipl trends on twitter
बॉयकॉट आईपीएल ट्विटर पर किया ट्रेंड  |  तस्वीर साभार: Twitter

मुख्य बातें

  • आईपीएल 2020 ने चीनी स्‍पॉन्‍सर को बरकरार रखने का फैसला किया है
  • आईपीएल 2020 का आयोजन यूएई में 19 सितंबर से 10 नवंबर तक होगा
  • चीनी स्‍पॉन्‍सर बरकरार रखने से फैंस नाराज हैं, जिन्‍होंने इस तरह प्रतिक्रियाएं दी

नई दिल्‍ली: आईपीएल 2020 की वापसी हो रही है। कोरोना वायरस महामारी के कारण अनिश्चितकालीन समय के लिए स्‍थगित हुई टी20 लीग अब यूएई में 19 सितंबर से 10 नवंबर तक आयोजित होगी। आईपीएल गवर्निंग काउंसिल की रविवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बैठक हुई, जिसमें कई अहम फैसले लिए गए। बीसीसीआई ने प्रेस रीलिज जारी करके आईपीएल-13 पर मुहर लगाने की घोषणा की।

आईपीएल-13 की तारीखों के ऐलान के बाद क्रिकेट फैंस का एक तबका बहुत खुश है। मगर अचानक ट्विटर पर बॉयकॉट आईपीएल का हैशटैग भी ट्रेंड करने लगा। इसकी जब पड़ताल की तो जानने को मिला कि आईपीएल ने चीनी कंपनी को अपने टाइटल स्‍पॉन्‍सर के रूप में बरकरार रखा है। दरअसल, भारत-चीन सीमा पर पिछले कुछ समय से तनाव की स्थिति बनी हुई है। देश के कई जवान इस लड़ाई में शहीद हुए हैं। भारत ने इस दौरान कुछ चीनी मोबाइल ऐप्‍स पर प्रतिबंध लगा दिया था। मगर आईपीएल ने चीनी स्‍पॉन्‍सर को बरकरार रखा, जिससे कई फैंस खासे नाराज नजर आए।

गुस्‍साए प्रशंसकों ने ट्विटर पर अपनी भड़ास निकाली और आईपीएल नहीं देखने की धमकी दी। फैंस ने शहीद जवानों की याद दिलाते हुए आईपीएल पर जमकर भड़ास निकाली। 

देखिए गुस्‍साए फैंस के ट्वीट

आईपीएल के बारे में खास-खास

आईपीएल का आयोजन यूएई में 19 सितंबर से 10 नवंबर तक होगा। इस साल टूर्नामेंट में कुल 10 डबलहेडर्स मुकाबले खेले जाएंगे। 53 दिनों के इस टूर्नामेंट में डबलहेडर्स के मुकाबले निर्धारित समय से आधे घंटे पहले शुरू होंगे। महिलाओं का आईपीएल भी आयोजित होगा। इस टूर्नामेंट में कोविड-19 स्‍थानापन्‍न खिलाड़‍ियों की व्‍यवस्‍था की जाएगी। पता हो कि यूएई में टूर्नामेंट आयोजित कराने के लिए भारत सरकार की अनुमति मिल चुकी है। एक टीम के स्‍क्‍वाड में 24 खिलाड़‍ियों को रखना होगा।

अगली खबर