'नो कपिल, नो टेस्‍ट': जब कपिल देव ने सुनील गावस्‍कर पर लगाए थे भद्दे इल्‍जाम

Sunil Gavaskar: सुनील गावस्‍कर ने भारतीय टीम का कप्‍तान रहते हुए महान कपिल देव को एक टेस्‍ट मैच से बाहर कर दिया था, जिसके बाद दोनों के बीच विवाद किसी से छिपा नहीं था। जानिए क्‍या है ये पूरा मामला।

sunil gavaskar and kapil dev
सुनील गावस्‍कर और कपिल देव 

मुख्य बातें

  • कपिल देव और सुनील गावस्‍कर के बीच 1984 में विवाद हुआ था
  • गावस्‍कर पर इल्‍जाम लगा था कि उन्‍होंने कपिल देव को टीम से बाहर निकाला था
  • गावस्‍कर ने अपनी सफाई में कहा था कि उन्‍होंने कपिल को बाहर नहीं निकाला था

नई दिल्‍ली: क्‍या आप इस बात पर विश्‍वास करेंगे कि 1984 में जब कपिल देव और संदीप पाटिल अपने चरम फॉर्म पर थे, तब दोनों को इंग्‍लैंड के खिलाफ टेस्‍ट मैच से बाहर कर दिया गया था? इस बात को हजम करना तो और भी मुश्किल हो रहा था कि एक साल पहले देश को विश्‍व कप दिलाने वाले कपिल देव को टीम से बाहर कर दिया गया। कपिल देव और संदीप पाटिल को टीम से बाहर करने का कारण आपको बताते हैं।

दोनों बल्‍लेबाजों ने इंग्‍लैंड के खिलाफ दिल्‍ली के कोटला मैदान में खराब शॉट खेलकर अपने विकेट गंवाए थे। इंग्‍लैंड की टीम ड्रॉ की तरफ बढ़ रही थी, लेकिन इनके विकेटों के बाद वह मैच जीतने में कामयाब हो गई। कपिल देव के इस बेफिक्रे बर्ताव से सुनील गावस्‍कर काफी नाराज हुए थे। इसका नतीजा ये रहा कि जब चयनकर्ताओं के चेयरमैन चंदू बोर्डे और तत्‍कालीन कप्‍तान सुनील गावस्‍कर बैठक में आएं तो 1984 में कोलकाता टेस्‍ट मैच में देव-पाटिल को बाहर करने का फैसला लिया गया।

गावस्‍कर सिर्फ देते रहे सफाई

कपिल देव ने कथित रूप से सुनील गावस्‍कर पर खुद को बाहर करने के भद्दे इल्‍जाम लगाए जबकि लिटिल मास्‍टर ने सभी दावों को खारिज किया। गावस्‍कर ने कहा कि वह चयन बैठक में देर से पहुंचे थे और महान ऑलराउंडर को बाहर करने में उनकी कोई भूमिका नहीं है। कोलकाता के दर्शक भी कपिल देव को बाहर करने से खुश नहीं थे। दर्शक चिल्‍लाएं- नो कपिल, नो टेस्‍ट। दर्शकों ने गावस्‍कर पर सब्‍जियां और फल भी फेंके। लिटिल मास्‍टर ने तब कसम खाई कि इस मैच के बाद वो कभी ईडन गार्डन्‍स पर मैच खेलने नहीं आएंगे।

तब बीसीसीआई अध्‍यक्ष एनकेपी साल्‍वे ने दोनों खिलाड़‍ियों (सुनील गावस्‍कर और कपिल देव) से सुलह करने की गुजारिश की। गावस्‍कर ने कई सालों तक इस मामले में अपनी सफाई दी थी। कुछ समय पहले गावस्‍कर ने कहा था, 'सबसे पहली बात भारतीय टीम का कप्‍तान चयन समिति बैठक में बिना वोट के बैठता है। वह समिति का सहयोग देने वाला सदस्‍य है। इसलिए कपिल देव को मैंने बाहर किया- यह बिलकुल गलत है।'

गावस्‍कर ने दिवंगत हनुमंत सिंह का लेख पढ़ाया, जिसमें लिखा था कि गावस्‍कर को देव के बाहर किए जाने की कोई जानकारी नहीं थी। गावस्‍कर ने कहा था, 'कोई कप्‍तान इतना मूर्ख नहीं होता कि अपनी टीम के सर्वश्रेष्‍ठ ऑलराउंडर को बाहर बैठा दे। मैं ऐसा मूर्ख बिलकुल भी नहीं हूं।' गावस्‍कर ने साथ ही धमकी भी दी थी कि कुछ समय में वो उस चयनकर्ता के नाम का खुलासा करेंगे, जो नहीं चाहता था कि कपिल देव का चयन हो और साथ ही उसकी मैच फीस निलंबित हो।

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर