Ranji Trophy QF Round-up: उत्‍तर प्रदेश ने दमदार वापसी करके कर्नाटक को हराया, बंगाल ने बनाया अनोखा रिकॉर्ड

Ranji Trophy QF Round up: रणजी ट्रॉफी 2022 के क्‍वार्टर फाइनल मुकाबलों का तीसरा दिन पूरा हुआ। उत्‍तर प्रदेश ने पिछड़ने के बाद दमदार वापसी करके कर्नाटक को हराया। बंगाल ने अनोखा रिकॉर्ड बनाया। मुंबई और मध्‍यप्रदेश जीत के करीब।

UP beat Karnataka
यूपी ने कर्नाटक को हराया 
मुख्य बातें
  • रणजी ट्रॉफी 2022 क्‍वार्टर फाइनल मुकाबलों के तीसरे दिन का हाल
  • उत्‍तर प्रदेश ने पिछड़ने के बाद जोरदार वापसी करके कर्नाटक को हराया
  • बंगाल के शीर्ष 9 बल्‍लेबाजों ने अर्धशतक जमाया और रिकॉर्ड बनाया

नयी दिल्ली: गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन के बाद कप्तान करण शर्मा के नाबाद अर्धशतक से उत्तर प्रदेश ने पहली पारी में पिछड़ने के बावजूद रणजी ट्रॉफी क्वार्टर फाइनल के तीसरे ही दिन कर्नाटक को पांच विकेट से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई। पहली पारी में 98 रन की बढ़त हासिल करने वाली कर्नाटक की टीम दूसरी पारी में सौरभ कुमार (36 रन पर तीन विकेट), अंकित राजपूत (15 रन पर दो विकेट) और यश दयाल (35 रन पर दो विकेट) की धारदार गेंदबाजी के सामने सिर्फ 114 रन पर ढेर हो गई।

उत्तर प्रदेश को इस तरह 213 रन का लक्ष्य मिला जो उसने 65.2 ओवर में पांच विकेट पर 213 रन बनाकर हासिल कर लिया। उत्तर प्रदेश की टीम भी एक समय 114 रन पर पर पांच विकेट गंवाने के बाद संकट में थी लेकिन कप्तान करण (नाबाद 93) और प्रिंस यादव (नाबाद 33) ने छठे विकेट के लिए 99 रन की अटूट साझेदारी करके टीम को लक्ष्य तक पहुंचा दिया। करण ने 163 गेंद की अपनी धैर्यपूर्ण पारी के दौरान 13 चौके और एक छक्का लगाया। प्रियम गर्ग ने भी 60 गेंद में 52 रन की उम्दा पारी खेली। गर्ग ने अपनी पारी के छह चौके और दो छक्के लगाए।

कर्नाटक ने पहली पारी में 253 रन बनाए थे जिसके जवाब में उत्तर प्रदेश की टीम 155 रन ही बना सकी थी। कर्नाटक की ओर से श्रीनिवास शरत (नाबाद 23) और मयंक अग्रवाल (22) ही दूसरी पारी में 20 रन के आंकड़े को पार कर पाए। अगर अतिरिक्त रन का 20 रन का योगदान नहीं होता तो कर्नाटक की टीम 100 रन के आंकड़े को भी पार नहीं कर पाती।

कर्नाटक की टीम आज आठ विकेट पर 100 रन से आगे खेलने उतरी और उसने 14 रन जोड़कर रोनित मोरे (00) और विधवत कवेरापा (00) के विकेट भी गंवा दिए। दोनों विकेट दयाल के खाते में गए। लक्ष्य का पीछा करने उतरे उत्तर प्रदेश की शुरुआत भी खराब रही। तेज गेंदबाज विजयकुमार विशाक (47 रन पर तीन विकेट) ने 28 रन के स्कोर तक ही दोनों सलामी बल्लेबाजों समर्थ सिंह (14) और आर्यन जुयाल (01) को पवेलियन भेजा दिया।

गर्ग और करण ने इसके बाद 59 रन जोड़कर पारी को संभाला। गर्ग ने इस दौरान आक्रामक रवैया अपनाया और विधवत पर छक्के के साथ सिर्फ 57 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। वह हालांकि अगले ओवर में कृष्णप्पा गौतम की गेंद पर श्रेयस गोपाल को कैच दे बैठे। रिंकू सिंह भी चार रन बनाने के बाद विधवत की गेंद पर बोल्ड हो गए। विजयकुमार ने ध्रुव जुरेल (09) को आउट करके उत्तर प्रदेश को पांचवां झटका दिया लेकिन इसके बाद करण और प्रिंस ने टीम को लक्ष्य तक पहुंचा दिया। करण ने गोपाल पर चौके के साथ 122 गेंद में अर्धशतक पूरा किया।

बंगाल का नायाब रिकॉर्ड

बंगाल ने रिकॉर्ड तोड़ बल्लेबाजी करते हुए दो बल्लेबाजों के शतक और सात बल्लेबाजों के अर्धशतक से सात विकेट पर 773 रन पर पारी घोषित करने के बाद झारखंड का स्कोर पांच विकेट पर 139 रन करके रणजी ट्रॉफी क्वार्टर फाइनल के तीसरे दिन बुधवार को यहां मैच पर शिकंजा कस दिया। प्रथम श्रेणी क्रिकेट के इतिहास में यह पहला मौका है जब किसी पारी में शीर्ष नौ बल्लेबाजों ने 50 या इससे अधिक रन बनाए हों।

इससे पहले कभी प्रथम श्रेणी मुकाबले की किसी पारी में शीर्ष आठ बल्लेबाजों ने भी कम से कम 50 रन नहीं बनाए थे। प्रथम श्रेणी पारी में कम से कम आठ बल्लेबाजों के 50 रन से अधिक बनाने का एकमात्र वाकया 1893 में हुआ था जब आस्ट्रेलिया की टीम ने इंग्लैंड दौरे पर आक्स एंड कैंब टीम के खिलाफ 843 रन का स्कोर खड़ा किया था।

मैच के पहले दो दिन सलामी बल्लेबाजों अभिषेक रमन (61) और कप्तान अभिमन्यु ईश्वरन (65) तथा अभिषेक पोरेल (68) के अर्धशतकों के अलावा सुदीप कुमार घारामी (186) और अनुस्तुप मजूमदार (117) ने शतक जड़े। बुधवार को तीसरे दिन मनोज तिवारी (73), शाहबाज अहमद (78), सायन मंडल (नाबाद 53) और आकाश दीप (नाबाद 53) ने अर्धशतक जड़े।

आकाश दीप ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए सिर्फ 18 गेंद की अपनी पारी में आठ छक्के मारे। झारखंड की ओर से सुशांत मिश्रा ने 140 रन देकर तीन जबकि शाहबाज नदीम ने 175 रन देकर दो विकेट चटकाए। इसके जवाब में झारखंड ने दिन का खेल खत्म होने तक 139 रन पर पांच विकेट गंवा दिए। सलामी बल्लेबाज नाजिम सिद्दिकी (53) ही टिककर बल्लेबाजी कर पाए। कप्तान सौरभ तिवारी ने 33 रन का योगदान दिया। स्टंप के समय विराट सिंह 17 जबकि अनुकूल रॉय एक रन बनाकर खेल रहे थे।

बंगाल की ओर सायन मंडल 32 रन देकर तीन जबकि शाहबाज अहमद पांच रन देकर दो विकेट चटका चुके हैं। झारखंड की टीम को फॉलोआन टालने के लिए अब भी 435 रन की दरकार है।

मुंबई को 794 रन की बढ़त

बायें हाथ के स्पिनर शम्स मुलानी (39 रन देकर पांच विकेट) की फिरकी की बदौलत मुंबई ने बुधवार को यहां रणजी ट्रॉफी क्वार्टर फाइनल के तीसरे दिन उत्तराखंड को महज 114 रन पर समेटकर यशस्वी जायसवाल (103 रन) के शतक से स्टंप तक दूसरी पारी में तीन विकेट पर 261 रन बनाकर अपनी कुल बढ़त 794 रन की कर ली।

मुंबई की दूसरी पारी में कप्तान पृथ्वी शॉ (75 रन) और आदित्य तारे (57 रन) के अर्धशतकों का भी योगदान रहा। कई बार की रणजी चैम्पियन मुंबई ने पहली पारी आठ विकेट पर 647 रन पर घोषित की थी। उसने इस तरह विशाल बढ़त हासिल कर ली है और सेमीफाइनल में पहुंचने के लिये बचे हुए दो दिन में उत्तराखंड को दूसरी पारी में जल्दी समेटने की कोशिश करेगी।

दिन का खेल समाप्त होने तक अरमान जाफर 17 और पहली पारी में दोहरा शतक जड़ने वाले सुवेद पार्कर छह रन बनाकर क्रीज पर मौजूद थे। सुबह दो विकेट पर 39 रन पर खेलने उतरी उत्तराखंड को 114 रन पर समेटने में मुलानी ने अहम भूमिका अदा की। उनके अलावा मोहित अवस्थी ने 22 रन देकर दो विकेट झटके। धवल कुलकर्णी, तुषार देशपांडे और तनुष कोटियान ने एक एक विकेट प्राप्त किया।

उत्तराखंड ने दिन का पहला विकेट कुणाल चंदेला के रूप में गंवाया जो अपने रात के आठ रन के स्कोर में एक भी रन का इजाफा नहीं कर सके।
सलामी बल्लेबाज कमल सिंह अपने 27 रन के स्कोर में 13 रन ही जोड़ पाये थे कि मुलानी का शिकार हो गये। पारी में सबसे ज्यादा 40 रन उन्हीं ने बनाये। मुलानी ने फिर स्वप्निल सिंह (09) को अपनी फिरकी में फंसाकर साव के हाथों कैच आउट कराया।

रोबिन बिष्ट (25 रन) तीन चौके और एक छक्का लगाकर अच्छी लय में थे लेकिन अवस्थी ने उनकी 47 गेंद की पारी खत्म कर दी। इसके बाद मुलानी ने कहर बरपाते हुए एक रन के अंदर दीक्षांशु नेगी, अग्रिम तिवारी और शिवम खुराना के विकेट झटक लिये। फिर आकाश मधवाल के आउट होते ही उत्तराखंड की पहली पारी खत्म हुई। मुंबई ने दूसरी पारी में शॉ और जायसवाल की बदौलत शानदार शुरूआत की। इन दोनों ने मिलकर पहले विकेट के लिये 115 रन की भागीदारी निभायी जिसका अंत साव के आउट होने से हुआ।

शॉ ने 80 गेंद में नौ चौके और दो छक्के से अर्धशतकीय पारी खेली। जायसवाल ने फिर 150 गेंद में 10 चौके और दो छक्के की मदद से 103 रन की शतकीय पारी खेली। उन्होंने इस दौरान विकेटकीपर बल्लेबाज तारे (56 गेंद में आठ चौके और एक छक्का) के साथ दूसरे विकेट के लिये 94 रन की साझेदारी निभायी।

मध्‍यप्रदेश जीत के करीब

बाएं हाथ के स्पिनर कुमार कार्तिकेय की फिरकी के जादू ने मध्य प्रदेश ने बुधवार को यहां दूसरी पारी में पंजाब का स्कोर पांच विकेट पर 120 रन करके रणजी ट्रॉफी क्वार्टर फाइनल के तीसरे दिन जीत की ओर कदम बढ़ाए। गेंदबाजी का आगाज करते हुए कार्तिकेय ने अपने करियर का दूसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 11 रन देकर चार विकेट चटकाए।

24 साल के इस स्पिनर ने पंजाब के कप्तान अभिषेक शर्मा (17), स्टार बल्लेबाज शुभमन गिल (19), मनदीप सिंह (17) और गुरकीरत सिंह मान (10) को पवेलियन भेजकर पंजाब के शीर्ष क्रम को ध्वस्त किया। दिन का खेल खत्म होने पर सिद्धार्थ कौल 16 रन बनाकर खेल रहे थे जबकि विकेटकीपर बल्लेबाज अमन मल्होत्रा नौ रन बनाकर उनका साथ निभा रहे हैं।

पंजाब की टीम अब भी मध्य प्रदेश से 58 रन से पीछे है और उसके लिए मैच बचा पाना बिलकुल भी आसान नहीं होगा।
इससे पहले मध्य प्रदेश ने दिन की शुरुआत दो विकेट पर 238 रन से करते हुए 397 रन बनाए। कल के शतकवीर शुभम शर्मा (102) अपने स्कोर में कोई इजाफा नहीं कर पाए लेकिन रजत पाटीदार ने आईपीएल की अपनी अच्छी फॉर्म बरकरार रखते हुए 167 गेंद में 12 चौकों की मदद से 85 रन बनाए।

पाटीदार का अक्षत रघुवंशी (69) ने अच्छा साथ निभाया। दोनों पांचवें विकेट के लिए 99 रन जोड़कर मध्य प्रदेश को मजबूत बढ़त की ओर लेकर गए।
इन दोनों के आउट होने के बाद मध्य प्रदेश के बाकी चार बल्लेबाज 14 रन की जोड़ सके और पूरी टीम 154.5 ओवर में सिमट गई। मध्य प्रदेश ने 178 रन की विशाल बढ़त हासिल की। पंजाब की ओर से बाएं हाथ के स्पिनर विनय चौधरी ने 83 रन देकर पांच विकेट चटकाए।

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर