ATM Charges: नए साल से एटीएम से पैसा निकालने में करनी होगी ज्यादा जेब ढीली

भारतीय रिजर्व बैंक  के एक आदेश के बाद  ATM से कैश ट्रांजैक्शन समेत अन्य ट्रांजैक्शन पर नए साल के पहले दिन यानी 1 जनवरी, 2022 से चार्ज बढ़ा दिया है।

ATM Charges
अब एटीएम से पैसा निकालने में होगी ज्यादा जेब ढीली 

ATM charges in 2022: नया साल शुरू होते ही निर्धारित सीमा से अधिक बार एटीएम से नकद निकासी करना उपभोक्ताओं की जेब पर भारी पड़ने लगेगा। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गत जून में जारी निर्देश के मुताबिक बैंकों के ग्राहकों को एक जनवरी 2022 से निःशुल्क सीमा से अधिक बार एटीएम निकासी (ATM) करने पर 21 रुपये की दर से भुगतान करना होगा। अभी बैंकों को निर्धारित सीमा से अधिक बार नकद निकासी पर 20 रुपये का शुल्क लेने की अनुमति है।

बैंकिंग ग्राहकों के लिए राहत की बात यह है कि एक जनवरी से भले ही शुल्क दर बढ़ जाएगी लेकिन वे पहले की तरह महीने में पांच बार एटीएम से निःशुल्क लेनदेन कर सकेंगे। इसमें नकद निकासी के अलावा गैर-वित्तीय लेनदेन भी शामिल हैं।

इसके अलावा बैंकिंग ग्राहक अपने बैंक के अलावा दूसरे बैंक के ATM से महीने में मेट्रो शहरों में तीन लेनदेन और गैर-मेट्रो शहरो में पांच लेनदेन भी कर पाएंगे।

यह बढ़ी हुई दर एक अगस्त 2021 से लागू होनी थी

आरबीआई ने पहले बैंकों को वित्तीय लेनदेन के लिए 17 रुपये की दर से 'इंटरचेंज' शुल्क लगाने और गैर-वित्तीय लेनदेन के लिए छह रुपये का शुल्क लगाने की अनुमति दी थी। यह बढ़ी हुई दर एक अगस्त 2021 से लागू होनी थी।लेनदेन शुल्कों में वृद्धि का फैसला एटीएम मशीनें लगाने और रखरखाव से जुड़ा बैंकों का खर्च बढ़ने की वजह से लिया गया है। इससे वित्तीय इकाइयों की अपेक्षाओं एवं ग्राहकों की सुविधा के बीच संतुलन स्थापित होने की उम्मीद है।

केंद्रीय बैंक ने एटीएम संचालन की समीक्षा के लिए जून 2019 में भारतीय बैंक संघ के मुख्य कार्यकारी की अगुआई में एक समिति बनाई थी। वित्त वर्ष 2020-21 के अंत में देश भर में 1,15,605 'ऑनसाइट' (बैंक परिसर में) एटीएम और 97,970 'ऑफसाइट' (बैंक परिसर से अलग) एटीएम थे।
 

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर