Bhopal Police Action: खाकी की बारात में लुटेरी दुल्हन, जानिए बैंड, बाजा और बारात की अजब कहानी

Bhopal Police Action: कई लोगों को अपना शिकार बना चुकी दगाबाज दुल्हन व उसके दलाल को पकड़ने के लिए पुलिस ने एक ड्रामा रचा। इसमें खाकी सहित कई लोगों के किरदार गढ़े गए। पुलिस के बुने गए नकली जाल में दुल्हन व उसके साथी अच्छे से फंस गए।

Bhopal Police Action
भोपाल में खाकी के हाथों नपी लुटेरी दुल्हन व दलाल, जानिए कैसे  |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • दगाबाज दुल्हन व उसके दलाल को दबोचने के लिए पुलिस ने नाटक रचा
  • एक लाख में शादी तय कर 5 हजार एडवांस दिए
  • आरोपियों को फसाने के लिए निकाली गई नकली बारात

Bhopal Police Action: मध्यप्रदेश में खाकी की बैंड, बाजा और बारात की एक मजेदार घटना सामने आई है। जिसमें भोपाल में लुटेरी दुल्हन की लोकेशन मिलने के बाद पुलिस ने कई किरदार रच उसे दलाल सहित दबोच लिया। अब हर तरफ पुलिस की तारीफ हो रही है। दरअसल मामला जैसी नगर थाना इलाके का है। कई लोगों को अपना शिकार बना चुकी दगाबाज दुल्हन व उसके दलाल को पकड़ने के लिए पुलिस ने एक ड्रामा रचा। इसमें खाकी सहित कई लोगों के किरदार गढ़े गए। जिसमें मुखबिर को दुल्हा बनाया गया।

थाने के दारोगा खुद दुल्हे के फूफा बने व एएसआइ को पिता का रोल दिया गया। इसके बाद दुल्हन से एक लाख रूपए में सौदा तय कर शादी की तारीख मुकर्रर की गई। पुलिस के बुने गए नकली जाल में दुल्हन व उसके साथी अच्छे से फंस गए। इसके बाद शादी वाले दिन नाटकीय घटनाक्रम चला और युवती सहित उसके एक दलाल को गिरफ्तार कर लिया गया। 

यूं चला खाकी का दिमाग 

जैसी नगर एसएचओ शशिकांत गुर्जर ने बताया कि गत 15 फरवरी को गांव सरखड़ी निवासी लक्ष्मण ठाकुर ने थाने में परिवाद पेश कर मामला दर्ज करवाया था। पीड़ित ने बताया था कि दलाल के जरिए उसने ज्योति नाम की युवती से शादी की थी। शादी के तीन दिन बाद युवती 50 हजार कैश व जेवर लेकर फरार हो गई। उन्होंने बताया कि आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज करने के बाद जांच शुरू की गई। जिसमें हाल ही में आरोपी युवती के मोबाइल की लोकेशन भोपाल में आई। इसके बाद युवती के साथी दलाल की तलाश शुरू की गई। वहीं आरोपियों को दबोचने के लिए स्क्रीन प्ले लिखा गया। आरोपियों के ठिकाने का पता लगते ही एक मुखबिर को दुल्हा बनाकर उसके पिता का किरदार थाने के एएसआई रामलखन पायक को दिया गया। कांस्टेबल दुर्गेश सिलावट को दुल्हे का भाई व अभिषेक पटेल को ड्राइवर बनाया गया। इसके बाद खुद एसएचओ दुल्हे के फूफा बने। 

नकली शादी की नकली बारात 

एसएचओ शशिकांत गुर्जर ने बताया कि एएसआई रामलखन ने दलाल से संपर्क कर अपने बेटे की शादी का सौदा एक लाख में तय किया। आरोपियों को शक ना हो इसके लिए अग्रिम राशि के तौर पर 5 हजार रूपए उनके बैंक खाते में जमा करवाए गए। कहानी की सबसे मजेदार बात तो ये रही कि एक बार दोनों पक्ष एक जाजम पर बैठे व युवती को पसंद भी किया गया। शादी सागर के परेड मंदिर में तय की गई। इसके बाद नकली बारात पहुंची। दगाबाज युवती भी भोपाल से सागर अपने दलाल के साथ मौके पर आई। मंदिर में शादी की रस्में शुरू हुई। एसएचओ ने बताया कि योजना के अनुसार दुल्हा वरमाला लाना भूल गया। इसके बाद एसएचओ को कॉल की गई तो वे फूफा के तौर पर वरमाला लेकर मौके पर आए व दोनों आरोपियों को दबोच थाने ले आए। एसएचओ ने बताया कि युवती का असली नाम रजनी है। वहीं उसके दलाल का नाम गुड्डू है। दोनों ही गांव रहली के रहने वाले हैं। इनके दो साथी इंद्राज व राजू फरार हैं। अब पुलिस दोनों से पूछताछ कर उनके द्वारा की गई ठगी की वारदातों का पता लगाने में जुटी है। 


 

Bhopal News in Hindi (भोपाल समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharatपर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) से अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर