Indian Railway News: भोपाल स्टेशन पर मिलेगा यात्रियों को 24 घंटे इलाज, फौरन इलाज के लिए मौजूद रहेंगे डॉक्टर

Bhopal Railway Division: भोपाल रेलवे एक पहल करने की तैयारी कर रहा है। बहुत जल्द ही भोपाल स्टेशन पर यात्रियों को फौरन चिकित्सा सुविधा मिल सकेगी। यह सुविधा हर समय उपलब्ध रहेगी। इसके लिए रेलवे स्वास्थकर्मियों की तैनाती करेगा।

Indian Railways
भोपाल स्टेशन पर 24 घंटे मिलेगा यात्रियों को इलाज (प्रतीकात्मक तस्वीर)  |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • भोपाल समेत इटारसी व बीना स्टेशनों पर मिलेगी ये सुविधा
  • भोपाल रेलवे ने अस्पताल संचालकों से 17 जून तक मांगे आवेदन
  • रेलवे का एक अस्पताल से था 2021 तक अनुबंध

Indian Railway News: राजधानी भोपाल, इटारसी व बीना रेलवे स्टेशनों पर रेलवे चौबीस घंटे डाक्टर व स्वास्थ्यकर्मियों की तैनाती करने जा रहा है। ये यात्रियों का इलाज किया करेंगे। अभी भी स्टेशन पर व ट्रेनों के अंदर यात्रियों की हालत बिगड़ने पर उन्हें इलाज मिलता है, लेकिन इसके लिए रेलवे को अस्पताल से डाक्टर बुलाने पड़ते हैं। भोपाल रेल मंडल ने इसके लिए इच्छुक अस्पताल संचालकों से 17 जून तक आवेदन मांगे हैं। रेलवे इसके पहले 25 फरवरी व 25 अप्रैल को दो बार आवेदन बुला चुका है, लेकिन एक भी आवेदन नहीं जमा किया गया है। अब तीसरी बार आवेदन मांगे गए हैं। इस बार आवोदन मिलने के आसार हैं।

जानकारी के लिए बता दें कि भोपाल रेलवे स्टेशन पर डॉक्टर व स्वास्थ्य कर्मियों की तैनाती के लिए रेलवे ने एक अस्पताल से अनुबंध किया था। रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी सूबेदार सिंह ने बताया कि यह अनुबंध तीन वर्षों के लिए था लेकिन उक्त अस्पताल प्रबंधन द्वारा पांच अप्रैल 2021 को तय समय अवधि पूर्ण होने के पहले ही समाप्त कर दिया है। रेलवे की इस पहल से यात्रियों को बहुत लाभ मिलने वाला है।

पुरानी व्यवस्था में समय पर मरीज यात्री को नहीं मिलता इलाज

ट्रेनों से सफर करने वाले यात्रियों को आए दिन इलाज की जरूरत पड़ती रहती है। ये रेल सुविधा नंबर 139, रेल सेवा, रेलमंत्री, डीआरएम, जीएम, आरपीएफ व ट्रेन में चलने वाले वाणिज्य कर्मचारियों से मदद मांगते रहते हैं। जिसके आधार पर संबंधित स्टेशनों पर नजदीक के रेलवे अस्पतालों से डाक्टर व स्वास्थ्यकर्मियों को बुलाकर इलाज करवाया जाता है। खासकर ट्रेनों में सफर करने वाले कई यात्रियों की तबीयत बिगड़ जाती है, जो इस बात की रेलवे को सूचना देते हैं। ट्रेनों के पहुंचने के पहले डॉक्टर स्टेशन नहीं पहुंचे तो मरीज को इलाज समय पर नहीं मिल पाता है।

आपात स्थिति में मिलेगा त्वरित इलाज

जानकारी के लिए बता दें जब मरीज को इलाज नहीं मिलता है तब ऐसी स्थिति में वे या तो उसी ट्रेन में अगले स्टेशन के लिए चले जाते हैं या फिर उन्हें संबंधित स्टेशनों पर उतारकर अस्पतालों में भेजना पड़ता है। इस प्रक्रिया में अधिक समय लगता है। यदि स्टेशन पर चौबीस घंटे डाक्टर मौजूद रहेंगे तो यात्रियों को आपात स्‍थिति में त्‍वरित चिकित्‍सा उपलब्‍ध कराना आसान और सुलभ हो जाएगा।

Bhopal News in Hindi (भोपाल समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharatपर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) से अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर