Bhopal Cyber Crime News: भोपाल साइबर पुलिस ने बैंक का अधिकारी बनकर ठगी करने वाले गिरोह का किया पर्दाफाश

Bhopal Cyber Crime Police: भोपाल साइबर क्राइम पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। बैंक अधिकारी बनकर लोगों से ठगी करने वाले पांच आरोपियों को पुलिस ने हरियाणा के गुरुग्राम से गिरफ्तार कर लिया है। कुछ दिन पहले एक पीड़ित से मिली शिकायत के आधार पर पुलिस ने गिरोह का पर्दाफाश किया है।

Bhopal Cyber Crime Police
भोपाल में ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरफ्तार (प्रतीकात्मक तस्वीर)  |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • भोपाल साइबर क्राइम पुलिस ने गुरुग्राम से 5 आरोपी पकड़े
  • पीड़ित से हुई थी लगभग एक लाख की ठगी
  • आरोपी लोगों से बैंक अधिकारी बनकर करता था ठगी

Bhopal Cyber Crime News: भोपाल में एक निजी बैंक का क्रेडिट कार्ड कस्टमर केयर अधिकारी बनकर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश हुआ है। भोपाल की साइबर क्राइम पुलिस ने पांच आरोपियों को हरियाणा के गुरुग्राम से गिरफ्तार किया है। दरअसल रोशन वर्मा निवासी भोपाल के द्वारा साइबर क्राइम ब्रान्च भोपाल में लिखित शिकायत दी गई थी कि 5 अप्रैल को एक मोबाइल नंबर से एक निजी बैंक क्रेडिट कार्ड कस्टमर केयर अधिकारी का फोन आया और क्रेडिट कार्ड के रिवार्ड पाइंट रिडीम करने के नाम पर फरियादी से क्रेडिट कार्ड की जानकारी लेकर 99,928/- रुपये की धोखाधड़ी की गई।

शिकायत आवेदन में आये तथ्यों एवं प्राप्त तकनीकी जानकारी के आधार पर बैंक खाता एवं धोखाधड़ी में उपयोग किये गये मोबाइल नंबरों के उपयोगकर्ताओं के विरुद्ध पुलिस ने मामला दर्ज किया था। इसके बाद कार्रवाई के लिए प्लान बनाया गया।

गुरुग्राम से होता था कॉल सेंटर का संचालन

भोपाल साइबर क्राइम पुलिस की टीम द्वारा मामला दर्ज करने के बाद पुलिस ने मामले की तहकीकात की तो तकनीकी एनालिसिस से प्राप्त साक्ष्यों के आधार पर गुरुग्राम से काॅल सेंटर संचालित करने वाले गिरोह के सरगना सहित कुल 05 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है एवं आरोपियों से अपराध में प्रयुक्त 17 मोबाइल फोन, 36 सिम कार्ड एवं 15 एटीएम कार्ड जब्त किये गये हैं।

इस प्रकार देते थे ठगी की घटना को अंजाम

मिली जानकारी के अनुसार आरोपी कमल सैनी लोगों को बैंक क्रेडिट कार्ड कस्टमर केयर अधिकारी बनकर काॅल करता था तथा फरियादी से काॅल पर प्राप्त कार्ड की जानकारी को वाॅलेट में ट्रांसफर करने हेतु सह आरोपी दिनेश मीना को प्रदान करता था, जो फरियादी के क्रेडिट कार्ड से रुपये फर्जी तरीके से तैयार किये गये वाॅलेट में ट्रांसफर कर लेता था। आरोपी वाॅलेट में प्राप्त रुपयों को तत्काल सह आरोपी धोरव के द्वारा उपयोग किये जाने वाले बैंक खातों में ट्रांसफर कर लेते थे। रुपये बैंक खाते में आने पर सह आरोपी धोरव तत्काल रुपयों को एटीएम से निकाल लेता था एवं शेष राशि सह आरोपी अविनाश कश्यप के बैंक खाते में ट्रांसफर कर देता था। सभी आरोपी दिल्ली के रहने वाले हैं।

Bhopal News in Hindi (भोपाल समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharatपर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) से अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर