Ganj Basoda News: गंज बसोदा हादसे में मुआवजे का ऐलान, पीड़ित परिजनों को मिलेंगे 5 लाख

Ganj Basoda Well Accident: विदिशा जिले के गंज बसोदा कुआं हादसे में राहत बचाव कार्य जारी है। मध्य प्रदेश सरकार की तरफ से मुआवजे का ऐलान किया गया है।

ganj basoda news, mp vidisha news, शिवराज सिंह चौहान हेल्पलाइन नंबर,ganjbasoda, vidisha news
विदिशा के गंज बसोदा में कुएं में गिरे लोग 

मुख्य बातें

  • विदिशा जिले के गंज बसोदा में कुएं में गिरे करीब 25 लोग
  • कुएं से 4 लोगों के शव निकाले गये
  • 12 वर्ष के बच्चे को बचाने के लिए करीब कुएं के पास पहुंचे 50 लोग, मेड़ दरकने से 25 लोग कुएं में जा गिरे

विदिशा के गंजबसोदा के पास लाल पठार गांव में गुरुवार देर रात तक सबकुछ ठीक था। लेकिन गांव में एकाएक हलचल मची। कुएं में गिरे 12 साल के लड़के को बचाने के लिए करीब 50 से 60 लोग मौके पर पहुंचे। लेकिन कुएं की कच्ची मेड़ दरकने की वजह से करीब 25 लोग और कुएं में जा गिरे। इस हादसे में अब तक 4 लोगों के शव को निकाला जा चुका है। स्थानीय पुलिस और प्रशासन के साथ एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की टीमें लगी हुई हैं। इस हादसे में पीड़ित परिजनों को मध्य प्रदेश सरकार ने पांच लाख के मुआवजे का ऐलान किया है। 

कुएं में पहले 12 साल का बच्चा गिरा
घटना में घायल एक शख्स का कहना है कि हादसा एक बच्चे के कुएं में डूबने से हुई। कुएं में गिरे लड़के के छोटे भाई ने जब शोर मचाया तो लोग जमा हो गए। कुआं काफी गहरा था लिहाजा बच्चे के बचने की संभावना कम थी। हालांकि एक तैराक युवक कुएं में उतरा। लेकिन उसे कामयाबी नहीं मिली। 

अब तक क्या हुआ 

  1. मध्य प्रदेश सरकार ने पांच लाख के मुआवजे का ऐलान किया। 
  2. विदिशा के गंज बसोदा में एक कुएं में करीब 12 साल का लड़का कुएं में गिरा
  3. बच्चे को बचाने के लिए करीब 50 लोग कुएं के पास पहुंचे।
  4. कुएं की मेड़ पहले से कमजोर थी, लोगों के वजन की वजह से मिट्टी दरक गई और 24 से 25 लोग कुएं में जा गिरे।

राहत बचाव जारी
मौके पर जिला प्रशासन के आलाधिकारी मौजूद हैं और प्रभारी मंत्री विश्वास सारंग की मौजूदगी में रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है। जिले के प्रभारी मंत्री का कहना है कि 19 लोगों को बचाया जा चुका है। कोशिश की जा रही है कि कुएं में जितने लोग फंसे हुए हैं उन्हें सकुशल निकाला लिया जाए। उन्होंने कहा कि इस इलाके में मिट्टी के धंसने की संभावना ज्यादा रहती है लिहाजा यह कह पाना मुश्किल है कि कैजुएल्टी कितनी होगी। इस बात की कोशिश की जा रही है कि जितना संभव हो सके पीड़ितों तक मदद पहुंचाई जाए। 

Bhopal News in Hindi (भोपाल समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) से अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर