वाह नेताजी, धन्य हैं आप! मुक्ति वाहनों के साथ किया फोटोशूट और फिर किया रवाना

भोपाल समाचार
भाषा
Updated Apr 19, 2021 | 21:55 IST

कोरोना वायरस की वजह से जहां एक तरफ देश में हाहाकार मचा हुआ है वहीं कुछ नेता ऐसे हैं जो अपनी ओछी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। ऐसा ही मामला भोपाल से सामने आया है।

BJP leader Alok sharma's photoshoot with Mukti Vahan in Bhopal
वाह नेताजी, धन्य हैं आप! मुक्ति वाहनों के साथ भी फोटोशूट 

मुख्य बातें

  • मध्य प्रदेश के BJP नेता ने आपदा में तलाश लिया अवसर
  • , ‘मुक्ति वाहनों' को समारोहपूर्वक फोटो खिंचवा कर किया रवाना
  • भाजपा के पूर्व महापौर आलोक शर्मा शव वाहनों के साथ फोटो बाजी करते हुए

भोपाल: कोविड-19 के प्रकोप के बीच मध्य प्रदेश में भाजपा के स्थानीय नेता भोपाल में कुछ नये ‘मुक्ति वाहनों’ को समारोहपूर्वक फोटो खिंचवा कर रवाना करते हुए नजर आये। इससे संबंधित वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। प्रदेश की मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने इसकी निंदा करते सत्तारूढ़ भाजपा पर तंज कसते हुए कहा कि 'फोटोबाजी' करके आपदा में भी अवसर तलाश जा रहा है। वहीं, भाजपा ने इसे कांग्रेस की तुच्छ राजनीति करार दिया है।

वायरल हुई तस्वीरें

सोशल मीडिया पर कुछ लोग यह भी आरोप लगा रहे हैं कि इनमें से शव ले जा रहे एक मुक्ति वाहन को रोककर फोटो खिंचवाए गये हैं। सोशल मीडिया पर डाले गये कुछ वीडियो में भाजपा नेता एवं पूर्व महापौर आलोक शर्मा छह नये शव वाहनों को शहर के विभिन्न अस्पतालों को सुपुर्द करते हुए फोटो खिंचवाते नजर आ रहे हैं। इस पर मध्य प्रदेश कांग्रेस के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने ट्वीट किया, ‘शर्म करो बेशर्मों... इंदौर में ऑक्सीजन के टैंकर को घंटो रोककर भाजपा नेताओं ने खूब फोटो बाजी की और अब भोपाल में भाजपा के पूर्व महापौर आलोक शर्मा शव वाहनों के साथ फोटो बाजी करते हुए। इंदौर में बन रहे कोविड केयर सेंटर पर भाजपा नेताओं का दौरा। आपदा में भी अवसर - फोटो बाजी।’

कांग्रेस का तंज
वहीं, कांग्रेस विधायक एवं प्रदेश के पूर्व मंत्री पी सी शर्मा ने इस मामले में भाजपा पर तंज कसते हुए ट्वीट किया, ‘महामारी का उत्सव मनाना कोई इन भाजपाइयों से बिलकुल भी न सीखे।’ जब भाजपा नेता आलोक शर्मा से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने इन आरोपों को निराधार बताया और कहा कि जब वह इन मुक्ति वाहनों को संबंधित अस्पतालों को सौंप रहे थे, तब वहां पर मीडिया के लोग भी थे।

आलोक शर्मा जवाब
आलोक शर्मा ने कहा, ‘जब मुझे खबर मिली कि शवों को ले जाने के लिए शव वाहनों की कमी है, तो मैंने इन वाहनों को खरीदा और संबंधित अस्पताल के प्रबंधन को सौंपा। सौंपते वक्त मीडिया भी वहां पर मौजूद थी।’ उन्होंने कहा, ‘‘इस मामले में विवाद पैदा करने के लिए कांग्रेस की यह गंदी राजनीति है। मुझे इन वाहनों की व्यवस्था करने के लिए बार-बार फोन आ रहे थे। मुक्ति वाहनों के अभाव में लोगों को शवों को ले जाने में इंतजार करना पड़ रहा था।’
 

Bhopal News in Hindi (भोपाल समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) से अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर